Thursday , 23 November 2017
Home » Beauty » Fire burn treatment at home in hindi – आग से जलने पर उपचार

Fire burn treatment at home in hindi – आग से जलने पर उपचार

Fire burn treatment at home in hindi –

आग का इस्तेमाल आप किसी न किसी तरह से करते रहते हो। चाहे वह खाना बनाते समय हो या फिर अन्य काम करते वक्त। कई बार आग की चपेट में आकर हाथ आथवा पैर जल जाते हैं। एैसे में जले हुई जगह पर बेहद दर्द और परेशानी होती है। एैसे में तुंरत राहत देने के लिए आयुर्वेद में कई घरेलू नुस्खे दिए गएं हैं। जिन्हें ओनली आयुर्वेद आप तक पहुंचा रहा है।

आग से जलने पर घरेलू उपचार

शरीर के किसी भी हिस्से के जलने पर असहनीय पीड़ा होती है। ऐसे में घबराहट और जानकारी के अभाव में कई बार यह परेशानी ज्यादा बढ़ जाती है, जबकि थोड़ी सी सावधानी और घरेलू उपचार इस्तेमाल करने से जलने वाली जगह पर कम घाव बन सकते हैं। जलने वाली जगह पर निशान पड़ने से ज्यादा परेशानी होती है, उस अंग पर दर्द होने से। आज हम इस लेख के जरिये आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे घरेलू उपचार जिनके प्रयोग से जलने वाले अंग पर कम दर्द होगा और निशान भी हल्का पड़ेगा।

1. सूखे आटे में दबाएं

यदि आपके शरीर का कोई हिस्सा अचानक जल गया है तो बेहतर होगा कि आप तुरंत अपने उस अंग को सूखे आटे में दबा लें। संभव हो सकें तो आटे में उस अंग को दबाकर ही डॉक्टर के यहां तक चले जाए। इस तरह आपको जलने पर पीड़ा भी कम होगी और जलने पर बनने वाले छाले भी अपेक्षाकृत छोटे बनेंगे।

2. गोले के तेल का प्रयोग

जलने वाले स्थान पर गोले का तेल लगाने से काफी राहत मिलती है। गोले के तेल में यदि कपूर मिला हो तो यह और भी ज्यादा फायदेमंद साबित होगा। जलने वाली जगह पर गोले का तेल और कपूर का मिश्रण लगाने से जलन में आराम मिलता है। साथ ही छालों में भी दर्द कम होता है।
3. आलू का छिलका

आलू का छिलका भी जले हुए अंग के उपचार में रामबाण का काम करता है। इसका एन्टी-बैक्टिरीयल गुण घाव को न सिर्फ जल्दी भरने में मदद करता है बल्कि नमी भी प्रदान करता है। यदि आपके शरीर का अंग कम जला हुआ हो तो यह उपचार बहुत असरकारक होता है।
4. तुलसी के पत्ते

यदि जले हुए अंग का घाव पुराना हो गया है और वह सही नहीं हो रहा तो तुलसी के पत्तों का पेस्ट आपको फायदे देगा। तुलसी के पत्तों को सिल पर पीसकर उसमें हल्दी मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को जले हुए हिस्से पर नियमित लगाने से घाव एक हफ्ते में सूख जाएगा।
5. जौ, हल्दी और दही

जौ, हल्दी और दही को मिलाकर लगाने से भी जले हुए अंग को काफी राहत देता है। इस मिश्रण को त्वचा पर लगाने से दाग को निकालने और घाव को भरने में मदद मिलती है। इस मिश्रण को बनाने के लिए जौ, हल्दी और दही को एकसमान मात्रा में ले और पीसकर उनका पेस्ट बना लें। जलने वाली जगह पर इस पेस्ट को लगाने से दर्द से राहत मिलता ही है साथ ही घाव भी जल्द भरता है।
6. मेथी दाना

मेथी दाना जलने वाले अंग को बहुत तेजी से फायदा पहुंचाता है। साथ ही यह दाग को भी कम करती है। जले हुए अंग पर मेथी लगाने के लिए जरूरत के हिसाब से मेथी रात को पानी में भिंगोकर रख दें। अगले दिन सुबह इसको पीसकर पेस्ट बना लें। यह जल्दी न सूखे इसके लिए इसमें नारियल का तेल मिला लें। अब इस मिश्रण को दाग की जगह लगाकर सूखने के लिए छोड़ दें। पेस्ट के सूखने के बाद पानी से धो लें। नियमित रूप से इसका इस्तेमाल करें।
7. नींबू और टमाटर का जूस

नींबू और टमाटर त्वचा की मृत कोशिकाओं को निकालने और त्वचा को ताजगी प्रदान करने में मददगार है। नींबू क्षारीय गुणों वाला होता है जो त्वचा पर बनने वाले दाग और निशान को तेजी से दूर करने में मदद करता है। ताजा टमाटर का रस प्राकृतिक ब्लीचिंग एजेन्ट का काम करता है जो दाग को कम करने में बहुत मदद करता है। जले हुए अंग पर सुबह-शाम नींबू और टमाटर के जूस की मालिश करें।
8. गाय का गोबर

यदि आपका कोई अंग ज्यादा जल गया है तो उस जगह गाय का गोबर लगाने से तुरंत आराम मिलना शुरू हो जाता है। गाय का गोबर लगाने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे जलने वाली जगह पर निशान न के बराबर बनता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status