Friday , 24 November 2017
Home » Beauty » wart » क्या वाकई लहसुन से हाथ गर्दन और अन्य मस्सो को ख़त्म किया जा सकता है!!! masso ka ilaj

क्या वाकई लहसुन से हाथ गर्दन और अन्य मस्सो को ख़त्म किया जा सकता है!!! masso ka ilaj

masso ka ilaj, masse ka ilaj, massa kaise hataye

मस्‍सों का मूल कारण पैपीलोमा वायरस _ Papilloma Virus है। इसकी वजह से शरीर पर जगह-जगह छोटे-छोटे खुरदरे कठोर पिंड बन जाते हैं जिन्‍हें मस्‍सा (Warts) कहते हैं। यदि अनचाहे मस्से चेहरे पर हैं तो ख़ूबसूरती प्रभावित करते हैं। यदि आप मस्‍से से परेशान हैं जो बिल्‍कुल न घबरायें, घर में ही इनके दुश्‍मन मौजूद हैं जो मस्‍सों को जड़ से समाप्‍त कर देंगे।

मस्‍से अक्‍सर अपने-आप समाप्‍त हो जाते हैं, लेकिन कुछ मस्‍से इलाज के बाद जाते हैं। मस्‍से को काटने और फोड़ने के कारण मस्‍से का वायरस शरीर के अन्‍य हिस्‍सों में भी चला जाता है जिसके कारण मस्‍से हो जाते हैं। कभी कभी मस्‍से का वायरस एक आदमी से दूसरे आदमी की त्‍वचा पर आकर मस्‍सा बना देते हैं।

आज हम इसी विषय पर चर्चा करेंगे के क्या सिर्फ लहसुन से हम अपने मस्सों  का इलाज कर सकते हैं, अगर हाँ तो ऐसा क्या कारण है और ऐसे क्या गुण हैं इसमें के हम लहसुन से मस्सों का इलाज बड़ी आसानी से कर सकते हैं. आइये जाने.

लहसुन और मस्से – Lahsun se masso ka ilaj

लहसुन में एक कंपाउंड पाया जाता है जिसको कहा जाता है Allicin ये कंपाउंड बहुत शक्तिशाली है और इसमें anti-microbial गुण पाए जाते हैं, जो विभिन्न प्रकार के वायरस से लड़ने की क्षमता समेटे रहते हैं. मानव शरीर में मस्से मुख्यतः HPV (Human papilloma virus)  की वजह से होते हैं, और लहसुन के anti-microbial गुण के कारण ये इस वायरस को भी ख़त्म करने की क्षमता रखता है. और इसका सबसे बड़ा फायदा ये है के ये सिर्फ वायरस को ख़त्म करता है, जो मित्र बैक्टीरिया है उनको बिलकुल भी नुक्सान नहीं पहुंचाता, जिस कारण से ही लहसुन कैंसर से लड़ने के लिए बेहद काम की औषिधि बताई गयी है. लहसुन में ऐसे कुछ कंपाउंड भी पाए गए जो शरीर का Detoxification में बहुत काम आते हैं.

ऐसे बहुत सारे शोध हो चुके हैं, जिनमे ये पता लगाने का प्रयास किया गया के क्या वाकई लहसुन मस्सो को ख़त्म कर सकते हैं, इसी प्रकार की एक स्टडी हुयी जिसमे कुछ बच्चों को लिया गया जिनको मस्से हो रहे थे, लहसुन हर मस्से पर रगडा गया और फिर इनके ऊपर एक Bandage (पट्टी) बंद दी गयी, ये विधि 9 सप्ताह तक चली और इस दरमियान सभी बच्चों के मस्से ख़त्म हो गए. एक और स्टडी की गयी जिसमे लहसुन की जगह लहसुन का तेल इस्तेमाल किया गया, लहसुन का तेल भी उसी प्रकार से प्रभावशाली रहा जिस प्रकार से लहसुन. और ये तेल वाला प्रयोग और भी जल्दी असरकारक रहा.

Study Ref:- http://wartroltreatmentreviews.org/garlic-warts/

इसको लगाने की विधि –  masse hatane ka tarika

सर्वप्रथम मस्से वाली जगह को अच्छे से धुलाई कर लीजिये, इस पर अभी लहसुन को रगड़ें और रगड़ने के बाद इसी लहसुन की पेस्ट सी बना कर मस्से पर लगा दीजिये, और ऊपर से किसी पट्टी की सहायता से बाँध दीजिये. ये प्रयोग अगर आप रात में सोते समय करेंगे तो ज्यादा बेस्ट रहेगा. 12 घंटे के बाद आप ये पट्टी उतार लीजिये. और मस्सों को सिरके की मदद से धुलाई कर लीजिये. ऐसा तकरीबन 9 सप्ताह तक कीजिये.

लहसुन का तेल – Lahsun ka tel

दूसरा प्रयोग है लहसुन के तेल का. लहसुन का तेल बनाने के लिए आप 100 ग्राम लहसुन अच्छे से छील कर पीस लीजिये, पीसने के बाद में इनको 200 ग्राम तिल के तेल में डालकर धीमी आंच पर अच्छे से पकाएं, जब लहसुन काले हो जायेंगे तो समझ लीजिये के लहसुन का तेल बन गया. इस तेल में लहसुन अच्छे से मैश करके छान लीजिये, अभी ये तेल तैयार है. इसको आप सीधे सीधे मस्सों पर लगाएं. तेल को त्वचा में absorb होने दें. इस से ये और भी जल्दी असर करेगा, इसको आप सुबह और शाम दोनों समय कर सकते हैं.

लहसुन के प्रयोग में सावधानी

लहसुन को त्वचा पर लगाने से जलन होती है, अगर आपको त्वचा सम्बन्धी कोई रोग हो या आपकी त्वचा बहुत अधिक sensitive हो तो ये प्रयोग बहुत सोच समझ कर अपने विवेक से करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status