Monday , 23 April 2018
Home » आयुर्वेद

आयुर्वेद

अनेको रोगों से मुक्त होने का अचूक चमत्कारिक चूर्ण !!

अनेको रोगों से मुक्त होने के लिए चमत्कारिक चूर्ण: इस चूर्ण को नित्य लेने से शरीर के कोने -कोने में जमा पड़ी सभी गंदगी (कचरा )मल और पेशाब द्वारा निकलजाता है ,फ़ालतू चर्बी गल जाती है ,चमड़ी की झुर्रियां अपने आप दूर हो जाती है ,और शरीर तेजस्वी और फुर्तीला होजाता है । आइये जाने इसको बनाने की और सेवन विधि। आवश्यक …

Read More »

बिच्छू घास (Nettle) से कमजोरी,पित्त दोष,गठिया, मोच, जकड़न और मलेरिया जैसी कई बीमारी का इलाज !!

बिच्छू घास को अंग्रेजी में नेटल (Nettle ) कहा जाता है. इसका बॉटनिकल नाम अर्टिका डाइओका ( Urtica dioica) है. कुमाऊंनी में इसे सिसूण कहते हैं. वह विशुद्ध कुमाऊंनी शब्द है. बिच्छू घास उत्तराखंड और मध्य हिमालय क्षेत्र में होती है. यह घास मैदानी इलाकों में नहीं होती. बिच्छू घास में पतले कांटे होते हैं. यदि किसी को छू जाये …

Read More »

3 ग्राम गोंद से कमर दर्द, मधुमेह, गुप्त रोग और इसको सिर्फ चूसने से खांसी, पीने से बवासीर होती है सही.

गोंद के फायदे, बबूल की गोंद, बबूल की गोंद के फायदे, BABOOL KI GOND, GOND, BABUL KI GOND KE FAYDE नार्मल भाषा अर्थात बोलचाल की भाषा में गोंद बबूल की गोंद को कहते हैं और पलाश के गोंद को कमरकस भी कहा जाता है, इसी तरह से नीम का गोंद भी इस्तेमाल में आता है. गुग्गुल, लोबान इत्यादि गोंद भी …

Read More »

सफेद दाग के शुरुआती लक्षण – क्यों और कैसे होता है ??

सफ़ेद दाग क्यों और कैसे होता है – कुष्ठ रोग, leucoderma जिसे हिंदी में सफ़ेद दाग के नाम से जाना जाता है, यह रोग अब के वक्त में काफी फैलता जा रहा है. अक्सर रोगी शुरुआत में इसपर ज्यादा ध्यान नहीं देता व इसी तरह धीरे-धीरे सफ़ेद दाग शरीर में फैलने लगता हैं जिससे शरीर पर कई जगहों पर सफ़ेद दाग …

Read More »

सुबह की पहली लार इन 4 गंभीर रोगों को ठीक करती है, ऐसे करे इस्तेमाल !!

वागभट्ट जी ने कहा है कि सुबह की लार बहुत महत्वपूर्ण होती है. राजीव भाई ने इस बात को ध्यान में रखते हुए कुछ मरीजों पर इसका परिक्षण किया. उनके पास बहुत सारे मरीज ऐसे थे जो डाईबिटिज से पीड़ित थे और डाईबिटिज की कंडीशन में आगर कोई घाव हो जाये तो जल्दी भरता नही है.  ऐसे ही 8-10 डाईबिटिज …

Read More »

विटामिन की कमी मृत्यु का कारण बन जाती है !! जानिए सम्पूर्ण जानकारी ..

परिचय- शरीर को स्वास्थ्य प्रदान करने के लिए विटामिनों के महत्वपूर्ण योगदान से इन्कार नहीं किया जा सकता है। शरीर के समुचित पोषण के लिए विटामिन अति आवश्यक सहायक तत्व हैं। आधुनिक काल में विटामिनों की खोज के बाद इनका प्रचलन तेजी से जोर पकड़ चुका है। सभी विटामिन जो अब तक चिकित्सा विज्ञानियों ने खोज निकाले हैं वे सब …

Read More »

जाने किस रोग में कोन सी औषधी है फायदेमंद – हर रोग के लिए औषधी और प्रयोग !!

पौधे का कोई भी हिस्सा जैसे फल, बीज, स्टेम, छाल, फूल, पत्ती, स्टिग्मा या जड़ हर्ब या जड़ीबूटी कहलाता है। हर्ब अपनी सुगंध, स्वाद, औषधीय गुण या अन्य ऐसेट के लिए मूल्यवान हैं। दुनिया के लगभग हर हिस्से और कई अलग-अलग संस्कृतियों में प्राचीन काल से ही इन जड़ी बूटियों का भोजन और औषधीयों में प्रयोग किया जा रहा हैं। …

Read More »

बड़े से बड़े रोग का इलाज है आयुर्वेद की पंचकर्म चिकित्सा ? सम्पूर्ण जानकारी !!

क्या है आयुर्वेद की पंचकर्म चिकित्सा ?  ( PANCHKRAM, PANCHKRMA, पंचक्रम ) आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति का विकास हजारो वर्षो के अभ्यास से हुआ हैं। आचार्य चरक, सुश्रुत, वाग्भट जैसे कई बड़े आयुर्वेद तज्ञ ने हजारो वर्षों तक आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति से कई लोगो का उपचार किया हैं और करोडो लोगो पर किये गए उपचार के अनुभव पर आयुर्वेद चिकित्सा शास्त्र …

Read More »

औषधि – द्रोणपुष्पी Leucas aspera साँप के जहर को भी निश्चित रूप से कर दे बेअसर !!

द्रोणपुष्पी ( गुम्मा ) Leucas aspera साँप के काटने पर जहर को बेअसर करने का एक असरदार औषधि है । द्रोणपुष्पी ( Leucas aspera ) जिसे हम गुम्मा के नाम से भी जानते है ।यह पुरे भारत में पाया जाता है । यह विशेष कर ईंख के खेतो में मिल जाता है ।हिमालय के पहाड़ो पर बहुतायत मात्रा में मिलता है …

Read More »

घर पे ही बनाये ये चमत्कारिक दावा और पुरे 80 रोग आप को छु भी नहीं पायेंगे – 100% आयुर्वेदिक !!

घर में आयुर्वेदिक दवा बनाएं, 80 रोगों को दूर भगाएं ले ही आपको यकीन न हो, लेकिन सिर्फ एक दवा का प्रयोग कर आप 80 प्रकार के वात रोगों से बच सकते हैं। जी हां, इस दवा का सेवन करने से आप कठिन से कठिन बीमारियों से पूरी तरह से निजात पा सकते हैं। अगर आपको भी होते हैं वात …

Read More »
Share
DMCA.com Protection Status