Friday , 15 December 2017
Home » आयुर्वेद (page 13)

आयुर्वेद

पिप्पल्यादि लौह की जानकारी और उपयोग।

पिप्पल्यादि लौह की जानकारी और उपयोग। पिप्पल्यादि लौह एक आयुर्वेदिक लौह कल्प है। लौह कल्प में मुख्य घटक लोहा होता है। इस दवा को भैषज्य रत्नावली के हिक्का श्वासरोगाधिकार से लिया गया है। इसका प्रयोग खांसी, कफ, अस्थमा, हिचकी/हिक्का रोग, वमन, आदि को दूर करने के लिए होता है। यह छाती में जमा कफ को यह निकालने में मदद करती …

Read More »

शिलाजित्वादि लौह

शिलाजित्वादि लौह शिलाजित्वादि लौह एक आयुर्वेदिक दवा है। यह एक लौह कल्प है जिसमें मुख्य घटक लौह भस्म है। इसके अतिरिक्त इसमें शुद्ध शिलाजीत, माक्षिक भस्म, त्रिकटू और मुलेठी है। इस दवाई को भैषज्य रत्नावली के राजयक्ष्मा रोगधिकार से लिया गया है। राजयक्ष्मा, आयुर्वेद में ट्युबरकोलोसिस या टी.बी. को कहते है। इसके सेवन से खून की कमी, सभी प्रकार के …

Read More »

जानिये अमेरिकन गाय का दूध क्यों नहीं पीना चाहिए।

अमेरिकन गाय का दूध किसी भी कीमत पर नहीं पीना चाहिए, और उसको गाय कहना भी नहीं चाहिए, ये गाय जैसी दिखती तो ज़रूर हैं, मगर हैं जंगली सुवर। ब्राज़ील जैसा देश भारतीय गायों का संरक्षण कर रहा हैं, उसने भारतीय गायों के दूध पर अनेक शोध किये और पाया के भारतीय गाय का दूध अमृत हैं। और इस का मांस विष …

Read More »

मोटापा घटाने और सौंदर्य बढ़ाने के लिए अदभुत भाप स्नान।

मोटापा घटाने और सौंदर्य बढ़ाने के लिए अदभुत भाप स्नान। भाप स्नान प्राकृतिक चिकित्सा की एक ऐसी पद्धत्ति हैं जिसके द्वारा शरीर की गंदगी दूर हो शरीर का मोटापा दूर होता हैं और शारीरिक सौंदर्य निखरता हैं। आइये जाने इसकी सही विधि। भाप स्नान की प्रक्रिया भाप स्नान एक ऐसी प्रक्रिया हैं जिसमे पूरे शरीर को एक लकड़ी से बने हुए …

Read More »

आयुर्वेद में प्रयुक्त तेल और इनसे होने वाले लाभ।

आयुर्वेद में विभिन्न प्रकार के तेलों का विवरण हैं, हर तेल का अपना महत्त्व हैं, आज आपको ऐसे तेलों के बारे में जानकारी दे रहे हैं। आइये जाने आयुर्वेद में प्रयुक्त तेल और इनसे होने वाले लाभ। शंखपुष्पी तेल :- शंखपुष्पी तेल की मालिश से बच्चों के समस्त रोग दूर हो जाते हैं व यह कांति, मेधा, धृति व पुष्ठि …

Read More »

बकरी के दूध के फायदे।

बकरी के दूध के फायदे। बकरी के दूध में ऐसे गुण विद्यमान हैं के कभी कभी ये हज़ार रुपैये लीटर भी बिकता हैं। और जो काम बड़ी बड़ी दवाये नहीं कर पाती वो बकरी का दूध चुटकी बजाते ही कर देता हैं। बकरी का दूध मन को प्रसन्न रखता है। मुंह में खांसी के साथ आने वाले खून के लिए बहुत ही …

Read More »

देसी गाय का दूध अमृत।

देसी गाय का दूध क्यों हैं अमृत समान। गाय का दूध पृथ्वी पर सर्वोत्तम आहार है। उसे मृत्युलोक का अमृत कहा गया है। मनुष्य की शक्ति एवं बल को बढ़ाने वाला गाय का दूध जैसा दूसरा कोई श्रेष्ठ पदार्थ इस त्रिलोकी में नहीं है। पंचामृत बनाने में इसका उपयोग होता है। गाय का दूध पीला होता है और सोने जैसे गुणों …

Read More »

रोगो से बचने के लिए दिनचर्या।

रोगो से बचने के लिए दिनचर्या। अगर आप हमेशा स्वस्थ रहना चाहते हैं तो आपको अपनी दिनचर्या में थोड़ा सा बदलाव करना होगा। भारतीय संस्कृति के अनुरूप अपने पूर्वजो के दिए हुए ज्ञान को जीवन में आत्मसात करे और आरोग्य की प्राप्ति करे। सुबह की सैर। सुबह सूर्य निकलने से पहले पार्क या हरियाली वाली जगह पर सैर करना सम्पूर्ण …

Read More »

आयल पुलिंग रोगो से मुक्ति पाने की अनूठी विधि।

आयल पुलिंग Oil Pulling रोगो से मुक्ति पाने की अनूठी विधि। मामूली से खर्च में हमेशा स्वस्थ और ऊर्जावान रहने की विधि हैं आयल पुलिंग। मुख के अंदर तेल भरकर कुछ समय तक रखने या चूसने मात्र से अनेकानेक रोगो से छुटकारा मिल सकता हैं। ये बहुत पुरानी आयुर्वेद की चिकित्सा हैं जिसको आज सिर्फ कुछ गिने चुने लोग ही जानते हैं। आज …

Read More »

सर्दियों के लिए विशेष तुलसी की चाय।

सर्दियों के लिए विशेष तुलसी की चाय। ये चाय विशेष रूप से सर्दी के सिरदर्द, नाक में सर्दी, जुकाम, पीनस, श्वांस नली में सूजन एवं दर्द, (ब्रोंकाइटिस ), साधारण बुखार, मलेरिया, बदहज़मी आदि रोग दूर होते हैं। बच्चो के लिए इसकी आधी मात्रा देनी चाहिए। आइये जाने इसको बनाने की विधि। तुलसी की चाय के लिए आवश्यक सामग्री। तुलसी की …

Read More »
Share
DMCA.com Protection Status