Thursday , 24 August 2017
Home » आयुर्वेद (page 3)

आयुर्वेद

स्तम्भन – वाजीकरण – शुक्रल और रसायन का ज्ञान

Meaning of stambhon,vajikaran,shukrl,rasayan etc. आयुर्वेद में कुछ शब्दों का इस्तेमाल किया जाता है जैसे स्तम्भन, वाजीकरण, शुक्रल, रसायन इत्यादि. इन सबका क्या अर्थ है, आइये आज हम आपको बताते हैं इनके अर्थ. स्तम्भन क्या है ? Stambhan kya hai स्तम्भन – जो पदार्थ रूखा, शीतल, कसैला और लघुपाकी होने के कारण, वायु को उल्टा करने वाला होता है, यानी नीचे …

Read More »

पानी में डूब कर मरे हुए व्यक्ति को जिंदा करने के उपाय

Pani me doob kar mare huye vyakti ko zinda karne ke upay. अगर कोई व्यक्ति पानी में डूब जाए तो उसको तुरंत मृत नहीं समझना चाहिए, उसको निकालने के बाद अगर उसमें ये निम्न चिन्ह मिले तो ही मृत समझों अन्यथा उसके लिए दो उपचार बता रहा हूँ. वो ज़रूर करें, ऐसा व्यक्ति दोबारा जिंदा हो सकता है. डूबने से मरने …

Read More »

काढ़ा बनाने की सही विधि और इसके नियम

काढ़ा बनाने की सही विधि आयुर्वेद में अनेक रोग काढ़ा देकर सही कर दिए जाते हैं परन्तु अगर काढ़ा बनाने की सही विधि ना मालुम हो तो ये फायदे की जगह नुकसान दे सकता है जैसे काढ़ा अगर शीतल हो जाए और फिर इसको औटा लिया जाए तो ये विष के समान हो जाता है. ऐसे ही कुछ नियम है …

Read More »

सात प्रकार के काढ़े अर्थात क्वाथ और इनके फायदे.

काढ़े अर्थात क्वाथ और इनके फायदे. काढ़े को क्वाथ भी कहा जाता है. अक्सर आयुर्वेद में अनेक बिमारियों को सही करने के लिए काढ़े का विवरण दिया जाता है. मगर अज्ञान वश हमको उन काढों से मिलने वाले फायदे से नुकसान हो जाता हैं क्यूंकि हमको पता नहीं होता के ये काढ़ा किस प्रकार से बनाना है. क्यूंकि आयुर्वेद के …

Read More »

अपराजिता (Butterfly Pea) – पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

अपराजिता (Butterfly Pea) – हम आज आपको अपराजिता (Butterfly Pea) के बारे में विस्तार से बताने जा रहें हैं. आइये जाने इसकी पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग की विधि.  अपराजिता (Butterfly Pea) का वानस्पतिक नाम: Clitoria Ternatea Linn. Syn- Clitoria Bracteata Poir. कुल – Fabaceae  English Name – Winged-leaved clitoria संस्कृत – गोकर्णी, (Gokarni), गिरिकर्ण, योनिपुष्पा (Yonipushpa), विष्णुक्रान्ता (Vishnukranta), अपराजिता …

Read More »

अनार (Pomegranate) – पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

हम आज आपको अनार (Pomegranate) के बारे में विस्तार से बताने जा रहें हैं. आइये जाने इसकी पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग की विधि.  अनार (Pomegranate) का वानस्पतिक नाम:Punica Granatum Linn. Syn- Punica Nana Linn., Punica Spicaceae Lam. कुल – Punicaceae English Name – Pomegranate संस्कृत – दाड़िम (dadim), करक (Karak), रक्तपुष्प (Raktpushp), लोहितपुष्प (Lohitapushp), दलन (Dalan) हिंदी – अनार …

Read More »

अनानास (Pineapple) – पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

हम आज आपको अनानास (Pineapple) के बारे में विस्तार से बताने जा रहें हैं. आइये जाने इसकी पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग की विधि.  अनानास (Pineapple) का वानस्पतिक नाम: Ananas Cosmosus (Linn.) Merr. Syn- Ananas Stivus Schult. & Schult.f.. कुल – Bromeliaceae English Name – Pineapple संस्कृत – बहुनेत्रफाला  (Bahunetrafala), अनन्नास (Anannas ), हिंदी – अनानास(Ananas), अनन्नास (Anannas) उड़िया- सपुरी (Sapuri), …

Read More »

अध: पुष्पी (Indian Borage) – पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

आज हम आपको अध: पुष्पी (Indian Borage) के बारे में विस्तार से बताने जा रहें हैं. आइये जाने इसकी पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग की विधि.  अध: पुष्पी (Indian Borage) का वानस्पतिक नाम: Richodesma Indicum (Linn.) Lehm. Syn- Borago indica Linn. कुल – Boraginaceae English Name – Indian Borage संस्कृत – अध: पुष्पी, अन्ध्पुष्पी, अवकपुष्पी, अधोमुखा (adhomukha), द्राविका (Dravika), गोलोमी (Golomi) हिंदी – अन्धाहुली (andhahuli), छोटा …

Read More »

अतीस (Aconite) – पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

आज हम आपको अतीस (Aconite) के बारे में विस्तार से बताने जा रहें हैं. आइये जाने इसकी पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग की विधि. अतीस (Aconite) का वानस्पतिक नाम: Aconitum heterophyllum Wall. ex Royle Syn- Aconitum cordatum Royle कुल – Ranunculaceae  English Name – Indian Aconite संस्कृत – शृङ्गक, अतिविषा, उपविषा, भृङ्गी, श्वेतकन्दा, श्यामकन्दा, संविषा, विरूप, गरल, विषा, घुणवल्लभा,  प्रतिविषा, उग्र, वत्सनाभ हिंदी – अतीस (Atish), अतिविख (Ativikh),  उर्दू- अतीस  (Atis), कन्नड़- अतिविषा (Ativisha), अतिबजे (Atibaje), …

Read More »

अलसी (Flax) – पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

आज हम आपको अलसी  के बारे में विस्तार से बताने जा रहें हैं. आइये जाने इसकी पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग की विधि. अलसी का वानस्पतिक नाम: Linum usitatissimum Linn. Syn- Linum Humile Mill कुल – Linaceae English Name – Common Flax संस्कृत – अलसी, नील्पुष्पी, नीलपुष्पिका, उमा, क्षुमा, मसरीना, पार्वती, क्षोमी,  हिंदी – अलसी , तीसी, उर्दू-  अलसी  (Alsi),  कन्नड़- अगसीबीज (Agasibeej), …

Read More »
Share
DMCA.com Protection Status