Thursday , 24 August 2017
Home » हमारी संस्कृति (page 7)

हमारी संस्कृति

आभूषणो से स्वास्थय रक्षा।

Benefit and health benefit of Ornaments भारतीय समाज में स्त्री पुरुषो में आभूषण पहनने की परम्परा प्राचीनकाल से चली आ रही हैं। आभूषण धारण करने का अपना एक महत्त्व हैं जो शरीर और मन से जुड़ा हुआ हैं। बड़े बड़े अन्वेषक तथा विज्ञानवेत्ता भी हमारे प्राचीन ऋषि मुनियो ब्रह्मवेत्ताओं एवं पूर्वजो द्वारा प्रमाणित अनेक तथ्यों एवं रहस्यों को नहीं सुलझा …

Read More »

दिशाओ का वैज्ञानिक पहलु और स्वास्थ्य प्रभाव।

दिशाओ का वैज्ञानिक पहलु और स्वास्थ्य प्रभाव। ज्योतिष, वास्तु, तंत्र मंत्र इत्यादि विद्याओ में जितना महत्व दिशा ज्ञान को दिया हैं उस से भी कहीं अधिक इसका महत्व स्वास्थ्य के ऊपर परिलक्षित हैं। हमारे पूर्वज इस दिशा ज्ञान को भली भाँती जानते थे। उनकी समझ इतनी अधिक थी के वो रात के अँधेरे में बिना पगडंडियों के भी सिर्फ तारो की …

Read More »

जानिये सुबह क्यूँ उठना चाहिए जल्दी।

सुबह जल्दी उठने के स्वस्थ्य लाभ। भारतीय परंपरा में सुबह जल्दी उठने की महिमा गायी हुयी हैं। इसको अमृत वेला, ब्रह्म मुहूर्त जैसे नामो से इसको सुशोभित भी किया गया हैं। रात को जल्दी सोने और सुबह जल्दी उठने से स्वास्थय की रक्षा तो होती ही हैं इसके साथ मानसिक शान्ति और संतुलन भी बना रहता हैं। आइये जाने सुबह जल्दी उठने …

Read More »

यज्ञ की वैज्ञानिकता

वायु प्रदूषण रोकने व वर्षा के पानी को आकाश मे ही शुद्ध करने का एक ही उपाय है – यज्ञ हवन बदबू/दुर्गन्ध/प्रदूषण क्या है ? दुर्गन्ध या प्रदूषण और कुछ नहीं बल्कि परमाणुओं का एक संघटन (अणु) ही है उसी से दुर्गन्ध आती है. हमारे शरीर की दुर्गन्ध को दूर करने के लिये हम क्या करते है? पर्फ्यूम लगाते है! उसी प्रकार …

Read More »

पत्तल में खाने का महत्व

पत्तल में खाने का महत्व पत्तल में खाना खाना हमारी पुरानी संस्कृति का हिस्सा रहा हैं। ये कोई धकियानूसी बात नहीं थी बल्कि ये स्वस्थ्य के हिसाब से बहुत ही उंच था। आज भी आदिवासी लोग इनका उपयोग करते थे। आइये जानते हैं पत्तल में खाने का महत्व। ग्रामीण अंचलों में शादी-ब्याह में छेवले के पत्ते से बने दोना और …

Read More »

भारत में मुसलमानो के 800 वर्ष के शासन का झूठ

भारत में मुसलमानो के 800 वर्ष के शासन का झूठ क्या भारत में मुसलमानो ने 800 वर्षो तक शासन किया है। सुनने में यही आता है पर न कभी कोई आत्ममंथन करता है और न इतिहास का सही अवलोकन। आज हम चर्चा करेंगे कुछ पहलुओ पर, जिनको आप खुद अपने विवेक से समझे। प्रारम्भ करते है मुहम्मद बिन कासिम से। भारत …

Read More »
Share
DMCA.com Protection Status