Tuesday , 16 January 2018
Home » मसाले (page 6)

मसाले

नाम में छोटी, मगर गुणों में बहुत बड़ी है ये छोटी इलायची । Cardamom.

नाम में छोटी, मगर गुणों में बहुत बड़ी है ये छोटी इलायची। छोटी इलायची खून बढ़ाने, बदहज़मी, भूख बढ़ाने, एसिडिटी में, फेफड़ो के रोगो, हृदय रोगो, डी टॉक्सिफिकेशन, मुंह के रोगो, खांसी, हिचकी, सिरदर्द, पेशाब के रोगो और यहाँ तक के कैंसर के रोगो में भी अत्यंत लाभकारी हैं। इसलिए तो नाम में छोटी और गुणों में बहुत बड़ी हैं …

Read More »

बड़ी इलायची के बड़े बड़े फायदे । Health Benefit of Black Cardamom.

बड़ी इलायची के बड़े बड़े फायदे । Health Benefit of Black Cardamom. बड़ी इलायची किसी भी प्रकार के दर्द, घबराहट होने पर , पाचन शक्ति के लिए, लू लगने पर, त्वचा सम्बन्धी रोगो में, बालो के रोगो में, दाँतो के रोगो में, गुर्दे सम्बंधित रोगो में, बवासीर जैसे और  कैंसर जैसे कष्टसाध्य रोगो में बहुत उपयोगी हैं। आइये जाने कैसे …

Read More »

औषिधीय गुणों से भरपूर लौंग (clove benefit) .

लौंग (Clove Benefit) आज आपको बताएँगे भारतीय रसोई में पाये जाने वाले एक ऐसे मसाले के बारे में, जिसके अनेको औषिधियाँ गुण हैं। जिसको हम अक्सर अपने खान पान में इस्तेमाल करते हैं, मगर इसके आयुर्वेदिक गुणों के बारे में ज़्यादा परिचित नहीं हैं। तो आइये जाने इस मसाले के बारे में। परिचय भारतीय रसोई घर और मसाले तथा इनमे …

Read More »

अनेक बिमारियों की एक दवा हींग।

अनेक बिमारियों की एक दवा हींग। आयुर्वेदिक गुणों से भरपूर हींग। हींग भारतीय रसोई की शान हैं, ये एक ऐसा मसाला हैं जिसमे आयुर्वेद के अनेक गुण समाये हैं। हींग के गुणों के बारे में इतनी लोकप्रियता हैं के इसके बारे में एक लोक कहावत हैं के “हींग लगे ना फटकरी, रंग चोखा आये”। हींग कोई फल या फूल नहीं …

Read More »

दालचीनी के औषधीय प्रयोग

गठिया, दमा, पथरी, दाँत का दर्द, पेट रोग, थकान, गंजेपन, क्षयरोग(टी.बी.), सर्दी, खाँसी, जुकाम, मंदाग्नि, अजीर्ण, उदरशूल. कील-मुँहासे, दंतशूल व दंतकृमि, स्कीन बॉडी चमकदार, वृद्धावस्था, मोटापा, रक्तविकार एवं हृदयरोग, संधिशूल, वेदनायुक्त सूज तथा सिरदर्द, त्वचा विकार, मधुमेह का भी इलाज। भारत में दालचीनी के वृक्ष हिमालय तथा पश्चिमी तट पर पाये जाते हैं। इस वृक्ष की छाल, दालचीनी के नाम …

Read More »

हल्दी वाले दूध पीने के फायदे

हल्दी वाले दूध पीने के फायदे हल्दी को गर्मियों और सर्दियों हर मौसम में खाया जाता है. हल्दी में करक्यूमिन नामक तत्व पाया जाता हैं, और ये अपने आप में एक उच्च श्रेणी का एंटी ऑक्सीडेंट होता हैं। अगर दूध में आधा टी स्पून हल्दी डालकर पिया जाए तो छोटी मोटी  बीमारियो के अतिरिक्त अन्य बड़ी बड़ी बीमारिया भी पास …

Read More »

मुलेठी अति गुणकारी औषधि

मुलेठी मुलेठी बहुत गुणकारी औषधि है। मुलेठी के प्रयोग करने से न सिर्फ आमाशय के विकार बल्कि गैस्ट्रिक अल्सर के लिए फायदेमंद है। इसका पौधा 1 से 6 फुट तक होता है। यह मीठा होता है इसलिए इसे ज्येष्ठीमधु भी कहा जाता है। असली मुलेठी अंदर से पीली, रेशेदार एवं हल्की गंधवाली होती है। यह सूखने पर अम्ल जैसे स्वाद …

Read More »

औषिधय गुणों से भरपूर सौंफ।

औषिधय गुणों से भरपूर सौंफ।   सौंफ पेट साफ करने वाला, हृदय को शक्ति देने वाला, घाव, उल्टी, दस्त, खांसी, जुकाम, बुखार, अफारा, वायु विकार, रतौंधी, बवासीर (अर्श), पित्त, रक्तविकार, ज्वर, वमन (उल्टी), अनिंद्रा और अतिनिंद्रा, पेट के सभी रोग (अपच, कब्ज (अजीर्ण) दस्त, खाने के बाद तुरंत दस्त लग जाना, आंव आना, पेट का दर्द, खूनी बवासीर, पाचन, मासिक …

Read More »

अजवाइन – मसालों का राजा – एका यमानी शतमन्न पाचिका।

अजवाइन – मसालों का राजा। आयुर्वेद में कहा गया है-“एका यमानी शतमन्न पाचिका” अर्थात इसमें सौ प्रकार के अन्न पचाने की ताकत होती है। आयुर्वेदिक मतानुसार- अजवाइन पाचक, तीखी, रुचिकारक (इच्छा को बढ़ाने वाली), गर्म, कड़वी, शुक्राणुओं के दोषों को दूर करने वाली, वीर्यजनक (धातु को बढ़ाने वाला), हृदय के लिए हितकारी, कफ को हरने वाली, गर्भाशय को उत्तेजना देने …

Read More »

काली मिर्च के फायदे

काली मिर्च के फायदे काली मिर्च सलाद, कटे फल या दाल या सब्जी पर बुरक कर उपयोग में लाई जाती है। इसका उपयोग घरेलू इलाज में भी किया जा सकता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं काली मिर्च के कुछ ऐसे ही रामबाण प्रयोग। आधा चम्मच पिसी काली मिर्च थोड़े- से घी के साथ मिला कर रोजाना सुबह-शाम …

Read More »
Share
DMCA.com Protection Status