Sunday , 22 October 2017
Home » फल » खरबूजा » खरबूजा खाने के 20 फायदे और इसके सेवन कि सावधानियां

खरबूजा खाने के 20 फायदे और इसके सेवन कि सावधानियां

खरबूजा खाने के 20 फायदे और इसके सेवन कि सावधानियां kharbuje ke 20 fayde aur nuksan in hindi

खरबूजा गर्मियों के मौसम में बहुत अधिक मिलता हैं। कच्चे खरबूजे का रंग हरा होता हैं लेकिन पक जाने पर हल्के पीले-भूरे रंग का हो जाता हैं।खरबूजा गर्मियों में काफी पसंद किया जाता है, इसमें पर्याप्‍त मात्रा में पानी होता है जो आपको हाइड्रेट रखता है, इसके अलावा इसका बीज भी सुखाकर खाया जाता है।खरबूजे में शर्करा के अलावा प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, लोहा, कैलोरी और विटामिन ए, बी भी भरपूर मात्रा में होते हैं।

क्‍या आप खरबूजे के बीज के फायदों के बारे में जानते हैं ? अगर नही जानते तो कोई बात नही यहाँ क्लिक करके जानिये

आइये अब जानते है खरबूजे के फायदे 

खरबूजा विटामिन A और बीटा कैरोटीन से युक्त खरबूजा, आँखों की रौशनी को घटने से रोकता है, आँखों को स्वस्थ रखता है और मोतियाबिंद होने से रोकता है।

खरबूजे को डायबिटीज में भी फायदेमंद पाया गया है। यह रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित कर डायबिटीज के स्तर को सामान्य बनाता है।

खरबूजे का सेवन उन लोगों के लिए भी बेहतर होता हैं, जिन्हें कोलेस्ट्रॉल की समस्या होती है।

शरीर की रोग प्रति रोधक क्षमता को बढ़ाता है। खरबूजे में निहित विटामिन C शरीर की रोग-प्रति रोधक क्षमता को बढ़ा कर उसे रोगों और संक्रमणों से लड़ने के लिए मजूबती प्रदान करता है। साथ ही इससे सफ़ेद रक्त कणिकाओं का निर्माण भी होता है और सफ़ेद रक्त कणिकाएं शरीर को संक्रमण के प्रभाव से बचाती हैं। और तो और यह शरीर में कैंसर को पनपने से भी रोकता है।

खरबूजा अल्सर जैसी समस्याओं के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है।

कब्ज जैसी समस्या में भी खरबूजा फायदेमंद होता है। खरबूजे में पाये जाने वाले डाइटरी फाइबर्स रोगी को कब्ज की समस्या से निजात दिलाते हैं।

खरबूजा गुर्दे की पथरी समेत गुर्दे में होने वाली अनेकों समस्याओं में भी फायदेमंद होता है। खरबूजे के रस, जिसे ऑक्सीकिन कहा जाता है, को गुर्दों की समस्याओं और पथरी में फायदेमंद पाया गया है। यह किडनी की सफाई कर उससे विषैले पदार्थों को बाहर निकाल देता है।

खरबूजा गर्भवती महिलाओं के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। इसमें निहित फोलेट शरीर से अधिक मात्रा में सोडियम को बाहर जाने से रोकता है।

खरबूजा सोने में होने वाली परेशानी को भी दूर करता है। यह मस्तिष्क की मांशपेशियों को आराम देकर इंसोमेनिया जैसी समस्या को दूर करता है।

जो लोग धूम्रपान छोड़ना तो चाहते हैं, लेकिन चाह कर भी उन्हें इसमें कामयाबी नहीं मिल रही हैं, उनके लिए खरबूजा भी फायदेमंद हो सकता है। खरबूजा खाने से सिगरेट पीने की तलब बंद हो जाती है। इसके अलावा, खरबूजा फेंफड़ों को मजबूती देता हैं और उनसे निकोटिन को तेजी से बाहर निकालने में भी मदद करता है।

खरबूजा हृदय रोगियों के लिए भी एक अच्छ आहार है। खरबूजा रक्त को पतला कर हृदय में से रक्त के बहाव की गति को तेज करता है। इससे हृदय घात का खतरा खुद-ब-खुद ही कम हो जाता है। साथ ही खरबूजे में पाया जाने वाला पोटेशियम ब्लड प्रैशर को नियंत्रित करने में मदद करता है।

खरबूजा तनाव रोधी का भी कार्य करता है। खरबूजा खाने से शरीर में ऑक्सीजन का बहाव तेज होता हैं और इससे मस्तिष्क को कार्य करने और तनाव से लड़ने की भरपूर क्षमता मिलती है।

खरबूजा त्वचा से जुड़ी समस्याओं में भी फायदेमंद होता है। जहाँ इसका सेवन त्वचा सम्बन्धी समस्याओं को अंदरूनी तौर पर ठीक करता है, वहीं इसके लेप से त्वचा पर होने वाली जलन में भी राहत मिलती है। साथ ही इसकी एंटी एजिंग प्रॉपर्टी बढ़ती उम्र के प्रभावों को भी त्वचा से कम करती है।

खरबूजे के कुछ टुकड़ों को पानी के साथ उबालकर उससे कुल्ला करने से दांतों के दर्द में राहत मिलती है।

खरबूजा, एसीडिटी से पीड़ित लोगों के लिए भी फायदेमंद होता है। खरबूजे का स्थिर पीएच स्तर शरीर में एसिड की मात्रा को नियंत्रित करता है और उसे सामान्य स्तर पर लेकर आता है।

खरबूजा, यूटीआई में भी फायदेमंद होता है। यहाँ तक कि यूरिनरी ट्रैक्ट जैसी समस्या में, इसे खाने की सलाह भी दी जाती है। यूरिनरी इंफेकशन के अलावा, यह ब्लैडर इंफेकशन (मूत्राशय संक्रमण) में भी फायदेमंद होता है।

प्रोटीन की अधिकता के कारण यह हड्डियों, बालों और नाखूनों के लिए भी फायदेमंद होता है।

आँतों के कीड़ों से छुटकारा दिलाता है। अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि खरबूजे के बीजों के प्रयोग से आँतों से कीड़े बाहर निकल जाते हैं।

शरीर में पानी कि कमी होने से बचाता है और हाड्रेट रखता है। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें पानी बहुतायत में होता है, और यही पानी शरीर को अधिक गर्मी से राहत देकर उसे ठंडक और ताजगी प्रदान करता है।

छाती में जमे बलगम को निकालने में, खरबूजे के बीज बहुत फायदेमंद होते हैं। खरबूजे के बीज बलगम को शरीर से बाहर निकालकने में मदद करते हैं।

इसका सेवन आप जैसे चाहे वैसे कर सकते हैं। जैसे कि आप इसका सलाद भी बना कर खा सकते है,आप इसका जूस बना कर भी पि सकते हैं,इसके अलावा आप इसका पना बना कर भी खा सकते है।पना बनाने के लिए आप पहले खरबुजे कि उपरी सतह यानि छिलका निकाल कर इसको छोटे-छोटे टुकड़ो में काट करके,थोडा मिश्री वाला पानी बनाकर इसमें इन टुकड़ो को डालकर ठण्डा करके खा सकते हैं। 

आइये अब आपको बता दे है खरबूजे के सेवन के पहले और बाद क्या क्या सावधानियां रखनी चाहिए

 

कुछ लोगों को खरबूजे के सेवन से एलर्जी हो सकती है। इसलिए अगर आपको इस फल से एलर्जी होती है तो आपको इसके सेवन से बचना चाहिए।

खरबूजा खाने के तुरंत बाद पानी नहीं पीना चाहिए। पानी पीने से हैजा होने की आशंका रहती है।

सुबह खाली पेट खरबूजे का सेवन नहीं करना चाहिए। खाली पेट खरबूजा खाने से पेट में पित्त विकारों की उत्पत्ति हो सकती है।

गर्म प्रकृति वालो को खरबूजे के अधिक सेवन से सूजन हो सकती है।

अधिक खांसी और जुकाम से पीड़ित रहने वालों को खरबूजे का सेवन कम मात्रा में करना चाहिए।

मित्रो आज आपको एक और खुशी कि बात बताना चाहेंगे कि onlyayurved.com ने अपना मोबाइल app भी बना लिया है। जिसका इस्तेमाल करके अब आप हमारी कोई भी किसी भी बीमारी से सम्बंधित पोस्ट बिना बराउजर और facebook के कभी भी कहीं भी अपने मोबाइल पर फ्री में पढ़ सकते है। इसके लिए आप  “यहा पर”  क्लिक करके इसे अपने मोबाइल में डाउनलोड कर सकते हैं। 

आपने यह पोस्ट पूरी पढ़ी इसके लिए आपका धन्यवाद,इसी प्रकार कि जानकारी को रोज पढ़ने के लिए आप हमारी इस वेबसाइट को रोज जरुर विजिट करें और अपने मित्रो को भी इस साईट को विजिट करने के लिए कहें …धन्यवाद 

मित्रो इस जानकारी को अपने मित्रो को बताने के लिए कृपया facebook पर शेयर जरुर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status