Thursday , 23 November 2017
Home » HAIR-CARE » Hair » सिर में रूसी या सिकरी। Dandruff.

सिर में रूसी या सिकरी। Dandruff.

सिर में रूसी या सिकरी। Dandruff.

बालो का झड़ना, पकना, गिरना, टूटना या सफ़ेद होना ये सभी सिर की चमड़ी के खराब होने से ही शुरू होती हैं। अगर आप को इन सब समस्याओ से निजात पानी हैं तो पहले आपको इस समस्या से जिसका स्वरुप हमको रूसी या सिकरी के रुप में मिलता हैं, से छुटकारा पाना होगा।
बाजार में महंगे से महंगे केमिकल युक्त उत्पाद हमारी समस्या को कम करने की बजाये और बढ़ा देते हैं।
हम आपके लिए ले के आये ऐसा घरेलु नुस्खा जिस के पहले ही इस्तेमाल से आप को इस समस्या से मुक्ति मिलनी शुरू होती हैं।

आइये जाने ये घरेलु नुस्खे।

नारियल का तेल 100 ग्राम, कपूर 5 ग्राम दोनों को मिलाकर शीशी में रख ले। दिन में दो बार स्नान के बाद केश सूख जाने और रात में सोने से पहले सिर पर खूब मालिश करे। दुसरे ही दिन से लाभ मिलना शुरू होगा।

तोला एक कपूर ले, पाव नारियल तेल।
शीशी में रख लीजिये, कर के दोनों का मेल।
त्रिफला से सर धोय के, तेल लगाये जोय।
केश बढे अरु नर्म हो, सर में ठंडक होय।।
इस तेल के प्रयोग से बालो में जूं पैदा नहीं होती।

अन्य प्रयोग।

1. नीम्बू

बाल धोने से आधा घंटा पहले एक नीम्बू काटकर इस को बालो पर रगड़े। और फिर हलके गर्म पानी से धो ले। इस से सर से रूसी साफ़ हो जाती हैं और रूखे सूखे बाल चमकदार हो जाते हैं। या दो किलो पानी में दो नीम्बुओं का रस निचोड़ कर इस से एक सप्ताह प्रतिदिन सर की धुलाई करे। बाल रूसी मुक्त, चमकदार हो जाएंगे। जुएं भी नहीं रहेंगी।

2. नारियल तेल नीम्बू

नारियल के तेल में आधा नीम्बू का रस ज़रा सा कपूर मिला ले। रात में तेल बालो की जड़ो में लगाकर हलकी हलकी मालिश करे और प्रात: स्नान करे। रुसी और जुओं के लिए बहुत उपयोगी हैं।

3. रीठे का शैम्पू

रीठे का शैम्पू रूसी में उतना ही कारगर हैं जितना कोई महंगे से महंगा शैम्पू। बाल टूटने की समस्या हो तो बालो को साबुन और शैम्पू के बजाये रीठे से धुलाई करना चाहिए। बाल टूटते हो तो हर चौथे दिन सर धोये।

रीठे का शैम्पू बनाने की विधि।

रात में रीठे के छोटे छोटे छिलके कर के पानी में भिगो दे। (अनुपात – एक हिस्सा रीठा और चालीस हिस्सा पानी) सुबह उस पानी में रीठे मसल कर उबाल कर उस से सर धोना चाहिए। इस से बाल घने और लम्बे होते हैं। इसके लिए पहले बालो को हलके गुनगुने पानी से धुलाई करे। उसके बाद रीठे के पानी को सर में डालकर 5 मिनट तक मसाज करिये। अब इसको धो लीजिये। फिर आधा बचा हुआ पानी शैम्पू की तरह डाल कर मलिए, अच्छी तरह मलने के बाद धो डालिये।

बालो के सौंदर्य के लिए स्वदेशी शैम्पू।

1. मुल्तानी मिटटी का शैम्पू।

मुल्तानी मिटटी 100 ग्राम एक कटोरे में लेकर पानी में भिगो दे। जब दो घंटे में ये फूलकर लुगदी सी बन जाए तो हाथ से मसलकर गाढ़ा घोल बना ले, डलिया ना रहने पाये। इस गाढ़े घोल को सूखे बालो में ही डालकर मुलायम हाथो से धीरे धीरे रगड़े। पांच मिनट पश्चात सर्दियों में गुनगुना और गर्मियों में ठन्डे पानी से धो ले। यदि बाल अधिक मैले हैं तो दोबारा वैसा ही करे। इस प्रकार साबुन की जगह मुल्तानी मिटटी से बाल सप्ताह में दो बार धोने से उसमे अपूर्व निखार आता हैं और बाल रेशम के सामान मुलायम एवं लम्बे होते हैं। पहली बार बाल धोने के बाद ही सर में ऐसा हल्कापन और शीतलता का अनुभव होता हैं , जैसा किसी अन्य शैम्पू से नहीं मिलता।

2. बेसन का शैम्पू।

साबुन के स्थान पर सप्ताह में दो बार बेसन को पानी में भली प्रकार घोलकर बालो में लगाये और फिर एक घंटे बाद धो ले। ऐसा करने से बाल घने और काले होंगे। बालो की हर प्रकार की गंदगी साफ़ होकर वे चमकीले और मुलायम होंगे। सिर की खाज व् फुंसियां भी जल्दी ठीक होगी।

सफ़ेद बालो के लिए दूसरी पोस्ट यहाँ पढ़िए। 

3 comments

  1. अगर किसी के बाल गिर रहे हो तो क्या उपचार देना होगा

  2. Good information

  3. Ek baat btao ki ladies key 35 years key baad hormons change hotey h .jis say uski body par kya kya side effects padtey h

  4. Sir mere baal bahut jhad rahe hai konsa oil & shampoo istemaal (use) karoo

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status