Tuesday , 21 November 2017
Home » Health » arthritis - joint pain » back pain » पीठ दर्द, टांगो के दर्द और रीड की हड्डी के दर्द को कहें अलविदा हमेशा के लिए..!!!

पीठ दर्द, टांगो के दर्द और रीड की हड्डी के दर्द को कहें अलविदा हमेशा के लिए..!!!

पीठ दर्द, टांगो के  दर्द और रीड की हड्डी के  दर्द को कहें अलविदा हमेशा के लिए..!!!

क्या आपको पीठ दर्द, टांगो में दर्द या फिर रीड की हड्डी में दर्द की समस्या है?

ये समस्या बहुत ज़यादा शरीरिक काम या देर तक बैठने से होता है |लेकिन खुशकिस्मती से चिंता करने की कोई बात नही है कियोंकि इस लेख में हम आपको 100% प्राक्रतिक और असरदार तरीका बताएँगे जिस के इस्तेमाल से आप इन समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं|इसके इस्तेमाल के कुछ के दिन बाद आपको सकारात्मक नतीजे नजर आने शुरू हो जायेंगे और 2 महीने से कम समय में आप पूरी तरह से ठीक हो जायेंगे |

तो इस प्राक्रतिक नुस्खे को अजमाने में जरा भी संकोच न करें और इस असहनीय दर्द से छुटकारा पायें| ये एक बहुत हे आसान औषधि है इसे रात को सोने से पहले खाए |

 सामग्री :

  • 5 सूखे अलुबुखरे
  • 1 सुखी खुबानी
  • 1 सुखी अंजीर

इन सबको एक साथ आप सीधे ही चबा चबा कर खाएं जैसे कोई फल खातें हैं. या जैसे भी आपको सही लगे वैसे इनको एक साथ सेवन करें. इसे इस्तेमाल करना बेहद आसान है 2 महीने तक सिर्फ सोने से पहले इन को  खाए और आपका दर्द प्राक्रतिक तरीके से ख़तम हो जाएगा |

हर फल के अपने अपने सवास्थ्य लाभ होते हैं:

सुखी अंजीर : इस में फाइबर होता है जो हमारे पाचन तन्त्र को मज़बूत करता है और दिल को सेहतमंद  रखने में मदद करता है |फाइबर से कब्ज़ भी ठीक होती  है| ये फल कई खनिज पदार्थो से भरपूर होता है जैसे के magnesium, iron, calcium, और  potassium. ये खनिज हडिओं की मजबूती के लिए ज़रूरी होते हैं साथ ही  प्रतिरोधक क्षमता और चमडी के लिए भी फायदेमंद होता है|अंजीर शरीर से हानिकारक  estrogen को कुर्द्र्ती निकालने में मदद करता है| शरीर में  estrogens के ज़यादा मत्रा कई समस्याओं को उत्पन करती है जैसे के सर दर्द, uterine और  breast cancer भी हो सकता है|

सुखी खुबानी: ये फल antioxidants, potassium, non-heme iron, और dietary fiber का बहुत हे अच्छा स्रोत है| खुबानी में  पाए जाने वाले anti oxidants हमारे शरीर में  प्रतिरोधक क्षमता , सेल की वृद्धि और आँखों के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं| Non-heme iron शरीर में iron की कमी को पूरा करता है , जो के संसार में सबसे आम पाई जाने वाली समस्या है |

सुखा आलूबुखारा : सूखे आलूबुखारा में पाए जाने वाले जैविक सक्रिय पदार्थ रेडियोथेरेपी या अन्य विकिरण आवरण से होने वाले अस्थि क्षति को रोकने में प्रभावी होते हैं सूखा आलूबुखारा विकिरण से हडिडयों की रक्षा करता है | फाइबर से भरपूर होने के कारन ये कब्ज से छुटकारा दिलाता  है और पाचन शक्ति बढ़ता है |

88 comments

  1. Good medician home bases
    100% releife no side efecets

  2. Anjeer I can understand but other two things are not known to me. Provide photos of ingredients also.

  3. Jatinder bhardwaj

    Please tell English name of khubani. ..And How to eat.Grind it….Every night how much quantity. Thanks. 0016044019240

  4. Sir ise khana kese hai plz bta denge , mujhr peeth par bohat dard rehta hai , niche ko juka bhi nahi jata…

  5. i want all home treatment ideal

  6. Good and helpful

  7. Where from these dry fruits shall be available. .

  8. I.m so happy ye gharelu nuske pakar taajjub hua ji hamein pata bhi na the many many thank i.m untrested ayueved healrh mein

  9. Very good ayurved medicine i thing so much i like

  10. RAMDAS.BALE.RAMJAISWAL

    POIR..GHUTNA.ka.DARDAUR.GAS.BANRHA.HAI.

  11. Mere left pair me nasty me kan kana hat hai koi bol ta hai shaitika hai mai jab sidra ho ta hu to upar se niche nasty kan kana hat ho ta hai

  12. gulshan singh yadav

    Dear sir
    Mere jodo me dard rahta hai
    All joind
    Aur peeth me dard rahta hai 4 yearse

    Plz tell me
    Treatment sir

  13. jaibhagwan singh

    i am very happy
    but
    am not strong

  14. NARENDRA CHOUDHARY

    pls send me mail like this forever

  15. Peeth Dard legs pain ke Jo upai btai ha Vo samagri raat Ko sone ce phle khani kaise ha bnni kaise ha

  16. मनीष चौधरी

    सूखे आलूबुखारे, खुबानी और अंजीर किराना की दुकान पर मिल जाएंगे या नहीं ?

  17. Pls isko bnane ka treeka bhi bta do or isko kitni matra me kitne deeno tak khaa sakte h

  18. Meri mother ke heal me pain hota h plz koi upay btao

  19. how to prepare and eat?

    Diabetes Patient can use it?

  20. ये तीनों चीजें खानी कैसे हैं चूर्ण बनाकर या ऐसे ही पानी में भिगो कर?

  21. Ye Anjir kon sa fal hai OR kaha milta hai

  22. Ye Anjir kaha milta hai kon sa fal hai ye

  23. could you please tell how to use it and what is subani?. My husband has Piriformis muscle pain

  24. Medicine chahiye

  25. My name is Parveen Tomer

  26. CHANDRAKANT G PANDYA

    From where these three items will available?

  27. 3-फलों को कैसे खाने हैं पिस कर या पानी में उबाल कर ओर किस मात्रा में।

  28. Lower spinal cord pain

  29. goutam Bhattacharya

    LOWER SPINAL CORD PROBLEM.UNABLE TO WALK

  30. Give me salutation of ligament tears after seven year old

  31. bai isko bnane ka upaye b bta de

    ye to mill jayegi

    but is samgri ko aise khana ha ya peece kar khana hai

  32. I have slip disc cervical spondilysis n hv done ACL repair in the legs
    No relief since 5 yrs
    Pl adviseThnx

  33. Jo upay apne btaya hai use kaise banana hai nd kitne quantity Khani hai ??

  34. लाजवाब अतिउप्योगि जानकारी के लिए धन्यवाद

  35. Please tell me the address where I can get this ready made dwa for joint pains & back pains available.will appreciate ur urgent reply on my phone message 9814306310 what’s app or SMS. Or thr email [email protected]

  36. If all ingredients are to be put in water so it becomes chewable and be taken with milk pl guide

  37. Muhammad iftekhar

    पीठ दरद और टांगो के दरद आम ब बात है ज्यादा जानकारी दे

    • राम जी निगम
      गठिया:कारण और निवारण के घरेलू उपचार…….
      गठिया रोग :
      सरल उपचार ……
      आमवात जिसे गठिया भी कहा जाता है अत्यंत
      पीडादायक बीमारी है।अपक्व आहार रस याने “आम” वात के साथ संयोग करके गठिया रोग को उत्पन्न करता है।
      अत: इसे आमवात भी कहा जाता है।
      लक्छण- जोडों में दर्द होता है, शरीर मे यूरिक एसीड की मात्रा बढ जाती है। छोटे -बडे जोडों में सूजन का प्रकोप होता रहता है। यूरिक एसीड के कण(क्रिस्टल्स)घुटनों व अन्य जोडों में जमा हो जाते हैं।जोडों में दर्द के मारे रोगी का बुरा हाल रहता है।गठिया के पीछे यूरिक एसीड की जबर्दस्त भूमिका रहती है। इस रोग की सबसे बडी पहचान ये है कि रात को जोडों का दर्द बढता है और सुबह अकडन मेहसूस होती है। यदि शीघ्र ही उपचार कर नियंत्रण नहीं किया गया तो जोडों को स्थायी नुकसान हो सकता है।
      अत: गठिया के ईलाज में हमारा उद्धेश्य शरीर से यूरिक एसीड बाहर निकालने का प्रयास होना चाहिये। यह यूरिक एसीड प्यूरीन के चयापचय के दौरान हमारे शरीर में निर्माण होता है। प्यूरिन तत्व मांस में सर्वाधिक होता है।
      इसलिये गठिया रोगी के लिये मांसाहार जहर के
      समान है। वैसे तो हमारे गुर्दे यूरिक एसीड को पेशाब के
      जरिये बाहर निकालते रहते हैं। लेकिन कई अन्य
      कारणों की मौजूदगी से गुर्दे यूरिक एसीड
      की पूरी मात्रा पेशाब के जरिये निकालने में असमर्थ
      हो जाते हैं। इसलिये इस रोग से मुक्ति के लिये जिन भोजन पदार्थो में पुरीन ज्यादा होता है,उनका उपयोग कतई न करें। याद रहे,मांसाहार शरीर में अन्य कई रोग पैदा करने के लिये भी उत्तरदायी है। वैसे तो पतागोभी,मशरूम,हरे चने,वालोर की फ़ली में भी प्युरिन ज्यादा होता है लेकिन इनसे हमारे शरीर के यूरिक एसीड लेविल पर कोई ज्यादा विपरीत असर नहीं होता है। अत: इनके इस्तेमाल पर रोक नहीं है। जितने भी सोफ़्ट ड्रिन्क्स हैं सभी परोक्छ रूप से शरीर में यूरिक एसीड का स्तर बढाते हैं,इसलिये सावधान रहने की जरूरत है।
      १) सबसे जरूरी और सबसे महत्वपूर्ण यह है कि मौसम के मुताबिक ३ से ६ लिटर पानी पीने की आदत डालें।
      ज्यादा पेशाब होगा और अधिक से अधिक विजातीय पदार्थ और यूरिक एसीड बाहर निकलते रहेंगे।
      २) आलू का रस १०० मिलि भोजन के पूर्व लेना हितकर है।
      ३) संतरे के रस में १५ मिलि काड लिवर आईल मिलाकर शयन से पूर्व लेने से गठिया में आश्चर्यजनक लाभ होता है।
      ४) लहसुन,गिलोय,देवदारू,सौंठ,अरंड की जड ये पांचों पदार्थ ५०-५० ग्राम लें।इनको कूट-खांड कर शीशी में भर लें। २ चम्मच की मात्रा में एक गिलास पानी में डालकर ऊबालें ,जब आधा रह जाए तो उतारकर छान लें और ठंडा होने पर पीलें। ऐसा सुबह=शाम करने से गठिया में अवश्य लाभ होगा।
      ५) लहसुन की कलियां ५० ग्राम लें। सैंधा नमक,जीरा,हींग,पीपल,काली मिर्च व सौंठ २-२ ग्राम लेकर लहसुन की कलियों के साथ भली प्रकार पीस कर मिलालें। यह मिश्रण अरंड के तेल में भून कर शीशी में भर लें। आधा या एक चम्मच दवा पानी के साथ दिन में दो बार लेने से गठिया में आशातीत लाभ होता है।
      ६) हर सिंगार के ताजे पती ४-५ नग लें। पानी के साथ पीसले या पानी के साथ मिक्सर में चलालें। यह नुस्खा सुबह-शाम लें ३-४ सप्ताह में गठिया और वात रोग नियंत्रित होंगे। जरूर आजमाएं।
      आयुर्वेदिक चिकित्सा भी कई मामलों मे फ़लप्रद
      सिद्ध हो चुकी है।
      (७) पंचामृत लोह गुगल,रसोनादि गुगल,रास्नाशल्ल
      की वटी,तीनों एक-एक गोली सुबह और रात को सोते
      वक्त दूध के साथ २-३ माह तक लेने से गठिया में बहुत फ़ायदा होता है।
      ८) उक्त नुस्खे के साथ अश्वगंधारिष्ट ,महारास्नादि काढा और दशमूलारिष्टा २-२ चम्मच मिलाकर दोनों वक्त भोजन के बाद लेना हितकर है।
      १०) चिकित्सा वैग्यानिकों का मत है कि गठिया रोग में हरी साग सब्जी का प्रचुरता से इस्तेमाल करना बेहद फ़ायदेमंद रहता है। पत्तेदार सब्जियो का रस भी अति उपयोगी रहता है।
      11) भाप से स्नान करने और जेतुन के तैल से मालिश करने से गठिया में अपेक्षित लाभ होता है।
      १२) गठिया रोगी को कब्ज होने पर लक्षण उग्र हो जाते हैं। इसके लिये गुन गुने जल का एनिमा देकर पेट साफ़ रखना आवश्यक है।
      १३) अरण्डी के तैल से मालिश करने से
      भी गठिया का दर्द और सूजन कम होती है।
      १४) सूखे अदरक (सौंठ) का पावडर १० से ३० ग्राम
      की मात्रा में नित्य सेवन करना गठिया में परम
      हितकारी है।
      १५) चिकित्सा वैग्यानिकों का मत है
      कि गठिया रोगी को जिन्क,केल्शियम और
      विटामिन सी के सप्लीमेंट्स नियमित रूप से लेते
      रहना लाभकारी है।
      १६) गठिया रोगी के लिये अधिक परिश्रम
      करना या अधिक बैठे रहना दोनों ही नुकसान कारक होते हैं। अधिक परिश्रम से अस्थिबंधनो को क्षति होती है जबकि अधिक गतिहीनता से जोडों में अकडन पैदा होती है।
      गठिया का दर्द दूर करने का आसान उपाय-
      ९) एक लिटर पानी तपेली या भगोनी में आंच पर रखें। इस पर तार वाली जाली रख दें। एक कपडे की चा

  38. Earn money without money. 09897545055. It a good combination

  39. Kamar dard ghutno ka dard hota ya pet me cabjeeyat rahta ha

  40. harendra kumar sharma

    Upay bachaun ko jenius bnane ke

  41. Jarur Try karke dekege ham

  42. Useless post . Neither the quantity nor the method of its use has been provided .

  43. Shriniwas kalantri.

    Khubani ?pls give other name sir

  44. Sir mere papa ko bhi aisa hi Dard ho raha Hai homeopathic wale Bata Rahe Hai ki saitika ho gaya Hai.

  45. Kitni quantity me lene h daily

  46. Plz let us know ise khane ka tareeqa kitni martaba khana hai or kitna khana hai.

  47. Pith me kamer me hamesa dard rahta hai 5sal se

  48. Sir y kurak kse leni hai dudh k sath ya pani me kut kr ya sabut

  49. Pith dard &tango ke dard ka nuskha . How to take its quantity . Explain fully

  50. Nilambar Srivastava

    how do i have to have it?? grind it ?? have it with water , milk???

  51. Can u please explain how to make it & how much quantity is needed.

  52. Sir grm doodh ke sath khana hai? Ya iske kitni der baad doodh pi sakte hain?

  53. Anjeer I can understand but other two things are not known to me. Provide photos and some hindi synonym ingredients also.

    • fig. plum, and apricot… go to google and type these names.. but you need these in dry condition. Pansari should have these in dry condition.

  54. Procedure how much quantity requires everyday. How it mix with three three materials.
    Describe with details….

  55. (सुखी खुबानी)kiya he ye kaha mile gi

  56. Plz tell how to use / eat this combination. No instructions Are gives or suggested.
    givers

  57. What is the English name of All. Kindly let me know. And how to take. Should it be grind

  58. Is dawai ko khane ka tarika kiya h batane ka kast kijiye pls pls pls pls pls pls

  59. I want the medicine, please can you tell me the price.

  60. Rajender Chahal lic of India jind

    Meri wife ke pith me naso me dard hai dard tango me bhi jata hai sarvaecal bhi hai kya yeh dava uske liye bhi hai ya koi or dava ho to batay pl pl ham but tang hai 23 sal se

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status