Friday , 25 May 2018
Home » Health » arthritis - joint pain » सैक्रोइलिइटिस ( Sacroiliitis PAIN ) कारण लक्षण और निदान एवं लाभदायक योग !!

सैक्रोइलिइटिस ( Sacroiliitis PAIN ) कारण लक्षण और निदान एवं लाभदायक योग !!

सैक्रोइलिइटिस ( Sacroiliitis ) : प्रमुख जानकारी और निदान

सैक्रोइलिइटिस ( Sacroiliitis ) क्या है?

सेक्रोइलियक (एसआई) जोड़ रीढ़ की हड्डी को पेल्विस और शरीर के निचले (हड्डियों के) ढांचे को जोड़ते हैं। सेक्रोइलिटिस आपके एक या दोनों सेक्रोइलियक जोड़ों की सूजन को कहा जाता है। सेक्रोइलिटिस के कारण उत्पन्न दर्द लम्बे समय तक खड़े रहने पर या सीढ़ियाँ चढ़ने पर बढ़ जाता है। इसे सेक्रोइलियक जोड़ों की कार्यक्षमता में कमी के रूप में भी जाना जाता है। ( Sacroiliitis treatment in hindi, yoga for Sacroiliitis, Sacroiliitis ka ilaj )

सैक्रोइलिइटिस ( Sacroiliitis ) के लक्षण क्या हैं?

कमर में दर्द और जकड़न सबसे सामान्य प्रकटीकरण है जिसके परिणामस्वरूप गति करने के प्रकारों में कमी हो जाती है। दर्द, जो चलने के कारण बदतर होता है, क्योंकि आपके कूल्हों के हिलने-डुलने से आपके सेक्रोइलियक जोड़ों पर जोर पड़ता है और इस कारण चलने में लंगड़ापन होता है। विशेषकर बैठने पर दर्द बदतर होता है। इससे जुड़े कम पाए जाने वाले लक्षणों में, आपकी एक या दोनों आँखों में सूजन (युवेइटिस या इरिटिस) और सोरायसिस, त्वचा की सूजन वाली स्थिति आदि हैं।  ( Sacroiliitis treatment in hindi, yoga for Sacroiliitis, Sacroiliitis ka ilaj )

इस स्थिति में व्यक्ति को क्या करना चाहिए?

पर्याप्त आराम करें. प्रभावित क्षेत्र पर गर्म या बर्फ की सिंकाई का प्रयोग करें ताकि रक्तसंचार में वृद्धि हो और प्रभावित क्षेत्र को पोषक तत्व मिल सकें। अपने सोने की स्थिति में परिवर्तन करें ताकि आराम के दौरान अपने घुटनों के बीच तकिया रख सकें। आपके दर्द को बढ़ाने वाली गतिविधियाँ ना करें।  ( Sacroiliitis treatment in hindi, yoga for Sacroiliitis, Sacroiliitis ka ilaj )

व्यक्ति को किन गतिविधियों से बचना चाहिए?

व्यक्ति को एक पैर के मुकाबले दूसरे पर अधिक वजन नहीं डालना चाहिए या लम्बे समय तक नहीं खड़े रहना चाहिए। सीढ़ी चढ़ना, दौड़ना या लम्बे डग भरने से भी सेक्रोइलियक जोड़ पर दबाव पड़ता है।  ( Sacroiliitis treatment in hindi, yoga for Sacroiliitis, Sacroiliitis ka ilaj )

डॉक्टर से संपर्क कब करना चाहिए?

जब ऐसा दर्द हो जो लम्बे समय तक बैठने पर और बिस्तर में करवट बदलने पर बढ़ जाता हो। जब दर्द के साथ बुखार भी हो।

 ( Sacroiliitis treatment in hindi, yoga for Sacroiliitis, Sacroiliitis ka ilaj )

सैक्रोइलिइटिस:  घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज

योग और व्यायाम

स्ट्रेचिंग, मजबूती देने वाले व्यायाम और कम जोर डालने वाले एरोबिक व्यायाम आदि का नियमित शारीरिक प्रशिक्षण उपचार कार्यक्रम, आमतौर पर सेक्रोइलिटिस या सेक्रोइलियक जोड़ों की कार्यक्षमता में कमी के लिए दिए जाने वाले अधिकतर उपचारों का हिस्सा होता है।

 ( Sacroiliitis treatment in hindi, yoga for Sacroiliitis, Sacroiliitis ka ilaj )

दर्द कम करने वाले योगासनों में हैं:

  • पैरों को ऊपर करके दीवारनुमा आकृति।
  • लेटकर कूल्हों को घुमाने वाली स्ट्रेचिंग।
  • पैरों को उठाकर आराम से लेटे रहने वाली क्रिया।
  • भुजंगासन

घरेलू उपाय (उपचार)

  • अपने जोड़ों को आराम दें।
  • प्रभावित क्षेत्र पर गर्म या बर्फ की सिंकाई का प्रयोग करें ताकि रक्तसंचार में वृद्धि हो और प्रभावित क्षेत्र को पोषक तत्व मिल सकें।
  • अपने सोने की स्थिति में परिवर्तन करें, करवट के बल सोएँ और आराम के दौरान अपने घुटनों के बीच तकिया रखें।
  • मालिश करने से दर्द कम करने में सहायता होती है।
  • दर्द को बढ़ाने वाली गतिविधियाँ ना करें।  ( Sacroiliitis treatment in hindi, yoga for Sacroiliitis, Sacroiliitis ka ilaj )

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status