Friday , 23 June 2017
Home » Health » कब्ज » यह प्रयोग आपके पाचनतंत्र को सुधारकर कब्ज से हंमेशा के लिये छूटकारा दिला देगा.

यह प्रयोग आपके पाचनतंत्र को सुधारकर कब्ज से हंमेशा के लिये छूटकारा दिला देगा.

यह प्रयोग आपके पाचनतंत्र को सुधारकर कब्ज से हंमेशा के लिये छूटकारा दिला देगा.

आज कल कब्ज से हर दूसरा व्यक्ति परेशान है, और वो बेचारे इस कब्ज को दूर करने के लिए अनेक घरलू इलाज और दवाओं का इस्तेमाल  कर कर के थक चुकें है और कोई आराम नहीं मिला. तो आपके लिए Only Ayurved के बताये गए प्रयोग बेहद प्रभावशाली होंगे. आइये जाने ये प्रयोग.

इस प्रयोग को करने से पहले आप निमिन्लिखित बातों का ज़रूर ध्यान देवें.

सबसे पहले तो रोज सुबह दातुन ब्रश करके 2 ग्लास गुनगुनां पानी पीजिये.

रोज रात को सोने से 1 घंटे पहले दो ग्लास गुनगुनां पानी पीजिये.

शुद्ध घी का सेवन करे क्योंकि यह आपकी आंतो की चिकनांहट के लिये बेहद जरुरी है| रिफाइंड से बचें.

मिर्च  मसालेदार वाली चीजें, मैदा और मैदे से बनी चीजें, आलु, पाउभाजी, मटर, फास्टफूड, भारी भोजन, जंकफूड , बेकरी आइटम का सेवन कभी नां करे |

अभी जानिये कब्ज के लिए रामबाण इलाज. Kabj ka best gharelu ilaj.

यह प्रयोग आपके पाचनतंत्र को सुधारकर कब्ज से हंमेशा के लिये छूटकारा दिला देगा.

इसके लिए ज़रूरी सामग्री.

अरंड (अरंडी) तेल (Castor oil) – ज़रूरत अनुसार.

हरड – 250 ग्राम.

अजवायन का दरदरा चूर्ण – 20 ग्राम.

मेथी दाना का दरदरा चूर्ण – 20 ग्राम.

सौंठ का चूर्ण – 20 ग्राम.

कब्ज के लिए रामबाण चूर्ण बनाने की विधि

सबसे पहले हरड को अरंड के तेल में भून लें. इसके बाद भुनी हुयी हरड का चूरन बनांकर इसमे 20 ग्राम अजवाइन का चूरन + 20 ग्राम मेथी  दाना का चूरन + 20 ग्राम सौंठ का चूरन लेकर मिक्स करके किसी कांच के बर्तन में सुरक्षित रख लें.

कब्ज के चूर्ण के सेवन की विधि.

रोज रात को सोने से पहले इस मिश्रण का 1 चम्मच गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से आपको 2-3 दिन में ही रिजल्ट दिखना शुरू हो जायेगा. अगर 3-4 महीने तक इसका सेवन करेंगे तो आपका पाचनतंत्र बिलकुल सुधर जायेगा एवं आपकी आंतो मे जमा हूवा मल पुरी तरह साफ होकर आपको असंख्य रोगो से बचायेगा।

One comment

  1. Pravin kumar singh

    Please sire charm rog jaise Dinay ka ilaj batane ka kripa kare.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status