Tuesday , 21 November 2017
Home » honey » शहद किसी भी कम्पनी का हो प्रयोग करते समय ज़रूर रखे ये सावधानिया।

शहद किसी भी कम्पनी का हो प्रयोग करते समय ज़रूर रखे ये सावधानिया।

शहद का प्रयोग करते समय ज़रूर रखे ये सावधानिया।

प्राचीन काल से ही शहद को औषिधि और खाद्य के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा हैं। ये एक बेहतरीन दवा और खाद्य पदार्थ हैं। मगर आज कल लालच और अधूरे ज्ञान की वजह से इसकी सही जानकारी ना होने की वजह से इसका सेवन कई बार फायदे की जगह नुक्सान दे जाता हैं। शहद को प्रयोग में लाते समय कुछ बातो का सदैव ध्यान रखना चाहिए अन्यथा लाभ के स्थान पर हानि की भी सम्भावना होती हैं। आज हम उन्ही कुछ बातो पर आपका ध्यान खिंचवाएंगे।

आइये जाने शहद की ये सावधानिया।

1. हमेशा शहद शुद्ध व् पका हुआ ही प्रयोग करना चाहिए।
2. अधिक गर्म जल, कमल बीज, मूली और मांस आदि के साथ शहद का सेवन नुकसानदेह हैं।
3. आग पर गर्म किये गए या प्रक्रियागत शहद का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
4. किण्वित या उफने हुए शहद का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
5. एक प्रकार के शहद को दूसरे प्रकार के शहद में मिलाकर प्रयोग नहीं करना चाहिए।
6. शहद को प्रयोग करने से पूर्व देख लेना चाहिए के उसके स्वाद, रंग एवं गंध में कोई अंतर ना हो।
7. शहद पारदर्शी होना चाहिए। उसमे किसी प्रकार की अशुद्धि अथवा मिलावट ना हो।
8. शहद को अधिक गर्म वस्तु या उबलते पेय पदार्थ में मिलाकर प्रयोग नहीं करना चाहिए।
9. एक ही बार में अत्यधिक मात्रा में शहद न खाकर आवश्यकतानुसार धीरे धीरे खाना चाहिए।
10. घी एवं शहद को समान मात्रा में मिलाकर कभी भी प्रयोग नहीं करना चाहिए। तेल, चर्बी आदि के साथ शहद बराबर मात्रा में मिलाकर खाने से विष सा प्रभाव करता हैं। दोनों को मिलाते समय ध्यान रहे के इनकी मात्रा अलग अलग हैं।
11. शहद में किसी प्रकार का परिवर्तन लाये बिना ही उसको प्रयोग में लाना चाहिए।
12. कई बार शहद के प्रयोग से कई लोगो को पेट में दर्द या अन्य कष्ट होने लगते हैं। उन्हें शहद का सेवन नहीं करना चाहिए।
13. शहद मिले हुए पेय को एकदम से पीने की बजाय एक एक घूँट करके धीरे धीरे पीना चाहिए।
14. यह ध्यान रखना चाहिए के अलग अलग मौसम में एकत्रित किये गए शहद में अलग अलग चिकित्स्कीय गुण होते हैं। इसलिए उसके अनुरूप ही उसका प्रयोग करना चाहिए।
15. सर्दी में शहद का सेवन दूध के साथ करना लाभकारी हैं। वर्षा ऋतू में इसे कालीमिर्च का चूर्ण व् अदरक के रस के साथ मिलाकर उपयोग ले सकते हैं।
16. गुड, खजूर, खांड आदि के साथ शहद का सेवन नहीं करना चाहिए।
17. शहद का सेवन अकेला नहीं करे। ध्यान रहे जब आप दूध या पानी में शहद का इस्तेमाल करते हो तो दूसरे पदार्थ की मात्रा अधिक रहे और शहद की मात्रा कम हो।
18. चाय व् कॉफ़ी के साथ शहद का प्रयोग ना करे।

शहद प्रयोग की सामान्य विधिया।

  1. प्रात : काल आधा चम्मच तुलसी के रस में एक चम्मच शहद मिलाकर सेवन करना प्रत्येक रोग की महा औषिधि हैं।
  2. गाय के ताज़े दूध में दो चम्मच शहद मिलाकर सेवन करने से शक्ति एवं स्फूर्ति प्राप्त होती हैं।
  3. गर्मी के दिनों में घड़े के एक गिलास ठंडे पानी में तथा सर्दी के मौसम में और वर्षा ऋतू में एक गिलास गुनगुने पानी में २ चम्मच शहद डालकर पीना बहुत फायदेमंद हैं।
  4. अंकुरित चने, मूंग, तथा मोठ आदि को मिलाकर तैयार किये गए अमृताहार में दो चम्मच शहद मिलाकर खाने से यह अत्यंत पौष्टिक एवं बलवर्धक हो जाता हैं। यह प्रात : काल के लिए उत्तम नाश्ता हैं। अपनी आयु के अनुरूप मात्रा में बच्चे भी इसका सेवन कर सकते हैं।
  5. चोकर सहित मोटे आटे की रोटी को शहद के साथ खाना अत्यंत स्वादवर्धक आम क्षुधावर्धक होता हैं।
  6. फलो के रस में चिकित्सक के परामर्श से शहद मिलाकर उसका सेवन करने से तत्काल शक्ति प्राप्त होती हैं।

[Click here to Read. असली शहद को पहचानने के 12 आसान तरीके। ]

 

 

2 comments

  1. How can we know that honey is pure or not
    And plz tell about liver tonics

  2. What is the test check for pure honey???

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status