OnlyAyuved_OutstreamVideo
Tuesday , 25 July 2017
Home » Kitchen » FOOD » ब्राउन राइस (Brown Rice) के स्वास्थ लाभ जानकर हैरान रह जायेंगे आप …जानिए क्या हैं फायदे !

ब्राउन राइस (Brown Rice) के स्वास्थ लाभ जानकर हैरान रह जायेंगे आप …जानिए क्या हैं फायदे !

ब्राउन राइस (Brown Rice) के स्वास्थ लाभ जानकर हैरान रह जायेंगे आप …जानिए क्या हैं फायदे !

ब्राउन राइस को छिलके वाले चावल के नाम से भी जाना जाता है। Brown Rice चावल का अपरिष्कृत / unrefined प्रकार है। चावल को सफ़ेद बनाने के लिए परिष्कृत / refining process में चावल में मौजूद अनेक जरुरी Vitamins. Protein और fiber इत्यादि घटक कम हो जाते है जिनसे उसकी पौष्टिकता कम हो जाती है। बाजार में Vitamins. Protein और fiber से समृद्ध सफ़ेद रंग के चावल भी बेचे जाते है पर भूरे Brown Rice के तुलना में उनकी पौष्टिकता कम ही होती है।
लोग सफ़ेद रंग के चावल खाना ज्यादा पसंद करते है क्योंकि सफ़ेद रंग के चावल दिखने में साफ़, पकाने में आसान और खाने में ज्यादा स्वादिष्ट होते है।
ब्राउन राइस एक पूर्ण खाद्य अनाज है जो कि विटामिन बी, फास्फोरस, सेलेनियम, मैंगनीज, पोटेशियम और मैग्नीशियम सहित कई जरूरी पोषक तत्व प्रदान करता है। यह डाइटरी फाइबर और फाईटोन्यूट्रीएंट्स का एक अच्छा स्त्रोत है जो कि वजन को मेन्टेन रखने जैसे कई सुरक्षात्मक स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है।

Brown Rice के फायदे  और औषधीय गुण  :

पेट के कैंसर की रोकथाम

ब्राउन राइस में सेलेनियम होता है जो कि पेट के कैंसर की सम्भावना को कम करता है। चावल में मौजूद फाइबर की अधिक मात्रा आँत के कैंसर को रोकने वाले केमिकल्स को प्रवाहित करती है इस प्रकार यह यह पेट के कैंसर को रोकने में मददगार है।

स्तन कैंसर के खतरे को कम करता है

ब्राउन राइस में मौजूद फाईटोन्यूट्रीएंट्स स्तन कैंसर और हार्ट की बिमारियों से लड़ने में मदद करता है। ज्यादा उम्र की महिलाओं पर किये गए अध्ययन से यह प्रमाणित हुआ कि ब्राउन राइस जैसे अनाज को खाने से इंट्रोलैक्टोन का स्तर बढ़ता है जिसका सम्बन्ध स्तन कैंसर के खतरे को कम करने से है।

कोलेस्ट्रॉल को कम करता है

पिसे हुए ब्राउन राइस में उपलब्ध तेल कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के लिए जाना जाता है। ब्राउन राइस में फाइबर होता है जो कि एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है।

फाईबर  से भरपूर

भूरे रंग के चावल में प्रचुर मात्रा में fiber होता है। Fiber अधिक मात्रा में होने कारण Brown Rice खाने वाले व्यक्ति को कभी कब्ज / Constipation की शिकायत नहीं होती है। Fiber शरीर के लिए नुकसानकारी LDL Cholesterol को भी काम करता है। शरीर में आँत / Intestine के cancer को निर्माण करने वाले घातक chemicals को बाहर निकालने का काम भी Brown Rice में मौजूद fiber करता है जिससे आँत के cancer होने का खतरा भी कम हो जाता है। एक अध्ययन अनुसार यह पता चला है की Fiber से भरपूर होने के कारण Brown Rice खाने वाली महिलाओ में पित्ताश्मरी / Gall Bladder stones होने का खतरा बहुत कम हो जाता है।

मैगनीज से भरपूर

एक कप Brown Rice में उपलब्ध Manganese हमारे शरीर की रोजाना Manganese की 80 % जरुरत को पूरी कर देता है। हमारे शरीर में तंत्रिका प्रणाली / Nervous System और प्रजनन प्रणाली / Reproductive organs के सुचारू काम करने के लिए Manganese की आवश्यकता होती है।

वजन कम करता है

जो लोग बढे हुए वजन और मोटापे से परेशान है उनके लिए Brown Rice वरदान है। Brown Rice में अधिक मात्रा में fiber होने के कारन इसे खाने से अधिक calories नहीं मिलती है और पेट भी काफी समय तक भरा हुआ महसूस होता है और इस प्रकार आवश्यकता से अधिक खाने / overeating से बचा जा सकता है। Brown Rice खाने वाले लोगो की पाचन संस्था / Digestive system भी अच्छी रहती है।

हड्डियों को मजबूत करता है

ब्राउन राइस मैग्नीशियम का एक अच्छा स्त्रोत है जो कि हड्डियों को स्वास्थयप्रद बनाये रखने के लिए महत्वपूर्ण है। एक कप ब्राउन राइस शरीर को रोजाना आवश्यक 21% मैग्नीशियम प्रदान करता है। मैग्नीशियम कैल्शियम के अवशोषण के लिए भी जरूरी है जो हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक पोषक तत्व है।

ब्लड शुगर नियंत्रण में करता है

Brown Rice में मौजूद fiber रक्त की शर्करा / Blood sugar को नियंत्रण करता है और इसलिए Brown Rice मधुमेह से पीड़ित रोगियों के लिए एक श्रेष्ट आहार पदार्थ है। एक शोध अनुसार यह पता चला है की रोजाना आधी कटोरी Brown Rice खाने वाले लोगो में मधुमेह / Diabetes  होने की आशंका 60% से कम हो जाती है। इसके विपरीत जो लोग आहार में सफ़ेद चावल ज्यादा लेते है उन लोगो में मधुमेह होने की आशंका 70% बढ़ जाती है।

अस्थमा के लक्षणों को कम करता है

चूँकि ब्राउन राइस में मैग्नीशियम की अधिकता होती है इसलिए यह अस्थमा के लक्षणों को कम करने में मदद करता है। कई अध्ययनों से पता चला है कि ब्राउन राइस में उपलब्ध मैग्नीशियम से अस्थमा ग्रस्त मरीजों में अस्थमा के लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है। ब्राउन राइस में उपलब्ध सेलेनियम भी अस्थमा के खिलाफ लाभकारी है।

पित्ताशय की पथरी के खतरे को कम करता है

अमेरिकन जर्नल ऑफ़ गैस्ट्रोएंटरोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, ब्राउन राइस जैसे अधिक फाइबर वाले आहार को खाने से महिलाओं में पित्ताशय की पथरी के खतरे को कम करने में मदद मिलती है।

तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ बनाये रखने में मददगार

ब्राउन राइस में मैंगनीज की अधिकता होती है जो कि एक स्वस्थ तंत्रिका तंत्र के लिए आवश्यक है। पोषक तत्व फैटी एसिड्स के उत्पादन को बढाकर और कोलेस्ट्रॉल पैदा करके सेक्स हारमोंस के उत्पादन को भी बढ़ाते हैं।

भूरे रंग के चावल / Brown Rice के स्वास्थ्य संबंधी फायदे जान लेने के बाद मुझे विश्वास है की आप इसे अपने आहार में जरूर शामिल करेंगे।

भूरे चावल के दानों की संरचना के कारण सफेद चावल के पकने में 15-20 मिनिट की तुलना में भूरे चावल को पकने में 45 मिनिट समय लगता है।चावल के प्रक्रमणित तरीके के कारण यह अंतर आता है। कटाई के बाद बीजों को राइस हलर में मिलिंग के लिए डाला जाता है ताकि अनाज का भूसा निकल जाए। इस प्रक्रिया को करने से उकड़े-चावल का जीवाणु और भूसा वैसा ही रहता है और चावल चमकदार नहीं हो पाता है।भूरे चावल के जीवाणु और भूसे पकने के समय को बढ़ा देते हैं पॉलिश चावल के तुलना में, इसमें जीवाणु और भूसा नहीं रहता है।भूरे चावल में ज़्यादा पौष्टिकता रहती है, जैसे-विटामिन इ, थियामिन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, विटामिन बी6, फोलासिन, पोटाशियम, मैग्निशियम, आयरन और दर्जनों पौष्टिकता के तत्व रहते हैं।

इसके अलावा भूरे चावल में डाएटरी फाइबर रहता है जो सफेद-चावल से एक-चौथाई ज़्यादा रहता है। भूरा चावल खाने से मधुमेह, दिल की बिमारी और कैंसर की संभावना कम होती है और वज़न की देख-रेख भी होती है।

No comments

  1. Very true n good knowledge given by your side

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status