Friday , 15 December 2017
Home » Major Disease » Sugar » मधुमेह के मरीजों के लिए वरदान है ये हरी पत्तियाँ, आजमा कर देख लीजिए।

मधुमेह के मरीजों के लिए वरदान है ये हरी पत्तियाँ, आजमा कर देख लीजिए।

Diabetes Home Remedies in hindi

डिल (सुवा भाजी) की पत्तियों से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने में मदद मिलती है।डायबिटीज के मरीजों को ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल रखने और इंसुलिन का उत्पादन बढ़ाने के लिए अपने खानपान का खास ध्यान रखना पड़ता है। ऐसी कई जड़ी बूटियां और मसाले हैं, जो डायबिटीज के उपचार में सहायक हैं।

इन्ही में से एक डिल की पत्तियां (dill leaves) हैं। सौंफ के पौधे जैसे दिखने वाले इस पौधे को शेपु या सुवा भाजी के नाम से भी जाना जाता है। परंपरागत रूप से इसका इस्तेमाल मछली, अंडे और मशरूम बनाने के लिए एक मसाले के रूप में किया जाता है। अमेरिकी बोटनिस्ट डॉक्टर जेम्स ड्यूक के अनुसार, डिल में 70 तरह के केमिकल होते हैं, जिस वजह से ये डायबिटीज के इलाज के लिए प्रभावी जड़ी बूटी है।

डिल (सुवा भाजी) ही क्यों?

अध्ययनों के अनुसार, डिल की पत्तियों के रस में कई चिकित्सकीय गुण होते हैं, जिस वजह से ये टाइप 2 डायबिटीज के इलाज में सहायक है। जब अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के इलाज और शरीर में हानिकारक सूजन को कम करने के लिए ग्लुकोकोर्टीकोइड (glucocorticoid) थेरेपी का उपयोग किया जाता है, तो ये लंबे समय तक हाइपरग्लाइसेमिया (hyperglycemia) का नेतृत्व कर सकते हैं। ये एक ऐसी स्थिति है, जब टाइप 2 डायबिटीज मरीजों में ग्लूकोज की अतिरिक्त मात्रा हो जाती है। हालांकि डिल के पत्तों का रस पीने से इंसुलिन के स्तर में उतार-चढ़ाव को कम करने और ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने में मदद मिलती है। इसके अलावा इसके पत्तों का रस थायराइड कंट्रोल करने और इम्युनिटी सिस्टम मज़बूत करने में भी मददगार है।

इसका इस्तेमाल ऐसे करें –

  • भारत में डिल के पत्तों का इस्तेमाल प्याज, लहसुन, अदरक, जीरा, हरी मिर्च और सरसों तेल के साथ मिलाकर सब्जी के रूप में किया जाता है। आप इसके पत्तों का जूस बनाकर भी पी सकते हैं। जूस में नींबू और थोड़ा काला नमक मिलाकर सुबह और शाम को पीने से लाभ होगा।
  • आप डिल के पत्तों को आटे के साथ मिलाकर पराठे भी बना सकते हैं। इसके अलावा इसके पत्तों को सूप, सलाद, अचार और गार्निश के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • डिल के पत्तों को आप कच्चा भी चबा सकते हैं या इसके बीजों का छोंक लगाने में इस्तेमाल कर सकते हैं। आप इसके बीजों का पाउडर बनाकर दाल और सब्जी में मसाले के रूप में उपयोग कर सकते हैं।
  • अगर आप टाइप 2 डायबिटीज के मरीज़ नहीं हैं, तो भी डिल खाने से आपको ब्लड शुगर लेवल कम करने और इंसुलिन प्रबंधन करने में मदद मिल सकती है। इसलिए इन हरी पत्तियों को अपनी डायट में ज़रूर शामिल करें।

One comment

  1. yatindra मिश्रा

    ये बहुत ही उपयोगी नुस्खे आप बताते है जो की बहुत ही कारगर नुस्खे है , भगवन आप सभी को खुश रखे और आप इसी तरीके से सब कारगर नुस्खे भेजते रहे.

  2. DIL KI PATIYAN YANISUVA BHAJI KA HINDI NAAM KYA HAI OR YAI KAHAN SE MILEGI

  3. राम शंकर

    ये सुआभाजी को लखनऊ में किस नाम से जाना जाता है?

  4. please arrange Dill leaves

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status