OnlyAyuved_OutstreamVideo
Thursday , 27 July 2017
Home » Diabetes » मधुमेह शुगर के रोगियों के लिए विशेष डाईट टिप्स onlyayurved

मधुमेह शुगर के रोगियों के लिए विशेष डाईट टिप्स onlyayurved

Special Diet tips for Diabetic Sugar Patients

शरीर में Pancreas Gland से इन्सुलिन न बनने के कारण मधुमेह रोग उत्पन्न होता है। यह हार्मोन शरीर में सेवन की गई चीनी का पाचन कर उसे ऊर्जा में परिवर्तित करता है और रक्त में ग्लूकोज की मात्रा एक निश्चित स्तर से अधिक नहीं बढ़ने देता। बाकि बची हुई फालतू शुगर की मात्रा इंसुलिन द्वारा ही ग्लाइकोजन में परिवर्तित करके पेट और मांसपेशियों में एकत्रित कर दी जाती है। आमतौर पर खाली पेट में रक्त की शुगर का स्तर 80 से 120 मिली ग्राम प्रति 100 सी.सी. के बीच होता है और खाना खाने के बाद यह स्तर 100 से 140 मिलीग्राम हो जाता है। अकसर यह रोग महिलाओं की अपेक्षा पुरुषों में, गरीबों की अपेक्षा अमीरों में तथा 35 से 60 वर्ष की आयु वालों में अधिक होता है। वैसे वंशानुगत (Hereditary Disease) की श्रेणी में आने कारण से यह रोग किसी भी आयु में हो सकता है। यानि जिनके माता-पिता या दादा-दादी को मधुमेह रोग रहा हो तो उन्हें तो बचपन से ही इस रोग के प्रति जागरूक हो जाना चाहिए और समय-समय पर अपनी जाँच करवाते रहना चाहिए।

हम आपको बता रहे है एक आदर्श Diabetic Diet Plan जिसमे यह बताया गया है की मधुमेह से पीड़ित रोगी क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए। साथ ही साथ इससे उन लोगो को भी लाभ मिलेगा जो इस बीमारी से बचना चाहते है, क्योंकि “क्या न खाए” भाग में जिन चीजो को रखा गया है उनकी मात्रा आज ही अपनी थाली से कम करे , क्योंकि एक सही डायबिटीज डाइट इस रोग को काबू करने में काफी मदद करती है। वैसे भी रोगों से बचाव ही सबसे अच्छा उपचार होता है।

मधुमेह रोगियों के लिये 16 डायट टिप्‍स

1) एक चम्मच मेथी को पूरी रात 100 मिलीलीटर पानी में भिगो दे और फिर सुबह खाली पेट इस पानी को पिए इससे डायबिटीज कंट्रोल रहती है।(2) हर सुबह खाली पेट टमाटर के रस में नमक और काली मिर्च मिलकर पिए।(3) रोज़ 6 बादाम (रात भर पानी में भिगो कर) का सेवन भी मधुमेह पर नियंत्रण रखने में सहायक है।(4) भोजन की सूची जिसे आप घर या बहार भोजन करते वक्त ध्यान में रख सकते है,साबुत अनाज, जई, चना आटा, बाजरा और अन्य उच्च फाइबर खाद्य पदार्थ भोजन में शामिल किये जाने चाहिए। अगर आपको पास्ता या नूडल्स खाने का मन है तो इसे हमेश हरी सब्जी या अंकुरित सब्जी के साथ ही खाए।(5) गाय का दूध में कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन अच्छी मात्रा में पाए जाते है, और यह ब्लड शुगर को भी कंट्रोल करता है। इस लिए रोज़ दो गिलास गाय का दूध जरुर पिए।(6) उच्च फाइबर सब्जियाँ जैसे मटर, सेम, ब्रोकोली, पालक और पत्तेदार सब्जियां आपने आहार में शामिल करे। इसी तरह दाल और स्प्राउट्स भी एक स्वस्थ विकल्प है।(7) दाल आपके आहार के लिए बहुत जरुरी है क्यों की यह ब्लड ग्लूकोज लेवल पर काम असर डालता है, अन्य कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थों की तुलना में। इसी प्रकार ब्लड शुगर लेवल को कम रखने में फाइबर बहुत मदद करता है इस लिए फाइबर युक्त सब्जियों को आपने भोजन में शामिल करे और स्वस्थ रहे है।(8) ओमेगा -3 और मोनोसाचूरेटेड जैसे फैट्स का सेवन किया जाना चाहिए क्योंकी यह स्वास्थ के लिए अच्छा होता है। इन के लिए प्राकृतिक स्रोतों का तेल जैसे सन बीज का तेल, वसायुक्त मछली और बादाम के तेल का प्रयोग करना चाहिए। इन तेलों में कम कोलेस्ट्रॉल होता है और ट्रांस फैट भी नहीं होता है।(9) पपीता, सेब, संतरा, नाशपाती और अमरूद जैसे फलों का सेवन करना चाहिए क्यों की इनमें अच्छी मात्रा में फाइबर पाया जाता है। और आम, केले, और अंगूर जैसे फलों का कम सेवन करना चाहिए क्यों की इनमें चीनी की मात्रा ज्यादा पाई जाती है।(10)एक बार में ज्यादा खाना खा लेने से शरीर में ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। इस लिए छोटे-छोटे अंतराल में भोजन करे जिससे ना आपका एक दम से हाई ब्लड शुगर लेवल हो और न लो। इसके लिए पूरे दिन थोड़ा-थोड़ा आहार लेते रहे जैसे ढोकला, फल, हाई फाइबर कुकीज़, मक्खन दूध, दही, उपमा, पोहा आदि।(11) मधुमेह के रोगी को लो कार्बोहाइड्रेट, हाई फाइबर और जिन में प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स हो ऐसा आहार खाना चाहिए और वसायुक्त खाद्य पदार्थों और मिठाई से बचना चाहिए। इसे साथ उन्हें दिन में 5 बार थोड़ा-थोड़ा भोजन करना चाहिए।(12) आर्टफिशल स्वीट मधुमेह के लोगों के लिए केक और मिठाई में इस्तेमाल किया जा सकता है।(13) खूब पानी पिए।(14) शराब का सेवन कम करें।(15) मांसाहारी आहार में सी-फ़ूड और चिकन खाना चाहिए और लाल मांस(रेड मीट) से बचना चाहिए क्यों की इसमें उच्च मात्रा में सैचरैटड फैट पाया जाता है। इसके अलावा, हाई कोलेस्ट्रॉल के रोगियों को एग योक और लाल मांस से बचना चाहिए।(16) भारतीयों में मधुमेह के रोगियों के आहार में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और वसा शामिल होना चाहिए। जिससे एक संतुलित और पौष्टिक आहार का सेवन करने से आपका स्वास्थ भी अच्छा रहेगा। व भोजन में विकल्प ज्यादा मिल सकते हैं।

मधुमेह से पीड़ित रोगियों को क्या नहीं खाना चाहिए

Diabetic Diet प्लान में से घी और नारियल का तेल आदि चिकनाई युक्त चीजो को निकाल देना चाहिए। पूरी, कचौड़ी, समोसा, पकौड़े आदि खाने से भी बचना चाहिए।गुड़, शक्कर, चीनी, शर्बत, मुरब्बा, शहद, पिज़्ज़ा ,बर्गर आइसक्रीम तथा ठंडे पेय पदार्थ इस्तेमाल नहीं करने चाहिए।Diabetes नियंत्रण करने वाली औषधियों के प्रयोग के दौरान Diabetic Patient को भोजन नहीं छोड़ना चाहिए।चिकन Leg piece को खाने से बचें ।चावल और आलू का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए।मैदे से बनी सफ़ेद रोटी (नान, तंदूरी रोटी ), नूडल्स, नाश्ते में अनाज, मीठे बिस्कुट, केक, परांठे, मैदे से बनी सफेद डबलरोटी एवं पेस्ट्री, कचौरी, चाट भी न खाएं।चाशनी में डिब्बाबंद फल न खाएं।शराब, बियर आदि मादक पदार्थो का सेवन न करे।मकई का आटा, सूजी, ज्यादा वसायुक्त पनीर , sauce, cheese  ,अचार, मुरब्बा , सीताफल , पेठा जैसे भोजन का सेवन न करें।सुनहरी चाशनी, च्यूइंगम, मीठे पेय, डब्बा बंद जूस, सोडा , मिठाइयाँ,  Energy drinks कोला एवं चीनी से बने जैम का सेवन न करें।रक्त परीक्षण (Blood Test) और मूत्र परीक्षण (Urinal Test) हर दूसरे-तीसरे महीने करवाते रहना चाहिए। इससे आपको Blood Sugar level की जानकारी रहेगी तथा आप सजग और सतर्क रहेंगे ।मित्रो यह पोस्ट आपको कैसी लगी हमें कमेंट के द्वारा जरुर बताइए।इसके अलावा शुगर का बेहतरीन इलाज जानने के लिए  आप निचे बताई गई सम्बंधित पोस्ट पढ़ कर मधुमेह का इलाज खुद कर सकते हैं।मित्रो इस जानकारी को शेयर जरुर  करें क्युकी   आज के इस युग में हमारे देश में इस बीमारी के मरीज बहुत ज्यादा हैं और इलाज के नाम पर डॉक्टर उनसे हजारो रूपए लुट रहे हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status