Tuesday , 22 August 2017
Home » Major Disease » Kidney » किडनी और लीवर के लिए अमृत है शरबत ऐ बजूरी

किडनी और लीवर के लिए अमृत है शरबत ऐ बजूरी

For English version click here.

Sharbat ae bazoori ke fayde, sharbat ae bazoori kya hai, Proteinuria ka ilaj, Proteinuria treatment in hindi

शरबत ऐ बजूरी एक यूनानी दवा है. बजूरी का अर्थ होता है अनेक बीज. शरबत ऐ बजूरी में मुख्यत रूप से कासनी, कासनी की जड़, सौंफ, सौंफ की जड़, खरबूजे के बीज, खीरे के बीज, गोखरू के बीजों का प्रयोग किया जाता है. पुराने वैद्य और हकीम लोग इस शरबत का इस्तेमाल अक्सर गुर्दे अर्थात किडनी, मूत्र, लीवर, गाल ब्लैडर, पेट के रोगों के लिए विशेष रूप से इस्तेमाल करते थे. इसके सेवन के कुछ फायदे निमिन्लिखित है.

इस से पेशाब की तकलीफ दूर होती है. और पेशाब खुल कर आता है.

यह लीवर और किडनी की सभी समस्याओं के लिए बेहद महत्वपूर्ण है. हेपेटाइटिस ऐ, बी या सी और लीवर सिरोसिस, फैटी लीवर में बहुत अच्छे नतीजे हैं.

किडनी के रोग जैसे किडनी का दर्द, स्टोन, पेशाब ना बनाना, पेशाब ना निकालना, किडनी का सही फ़िल्टर ना करना, किडनी के फेल होने पर भी ये अत्यंत लाभकारी है.

यह किडनी और मूत्राशय की सफाई करता है. और उनको पुनः नवीनीकरण करता है.

पेशाब से प्रोटीन निकलने पर भी ये बेहद प्रभावशाली है.

किडनी मूत्राशय और गाल ब्लैडर की पथरी (स्टोन) निकालने में बेहद असरकारक है.

लीवर और किडनी की गर्मी को दूर करने में मदद करता है.

लीवर और किडनी के दर्द को दूर करने में मदद करता है.

बुखार को सही करता है.

यह शरीर से गर्मी को निकाल कर शरीर में ठंडक भरता है. यह हृदय की बढ़ रही धड़कन को भी शांत करता है.

गर्मियों में इसको शरबत के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है.

शरबत ऐ बजूरी को निमिन्लिखित रोगों के इलाज में दिया जाता है.

  • Jaundice
  • Elevated liver serum enzymes
  • Hyperacidity
  • Kidney diseases
  • Nephritis
  • Nephrotic Syndrome
  • Proteinuria
  • Hypoalbuminemia
  • Edema due to kidney and liver diseases
  • Urinary bladder infection residues
  • Burning sensation in urine
  • Syphilis
  • Urinary tract infections or pus in urine
  • Elevated liver serum enzymes
  • Loss of appetite due to liver dysfunction
  • Fever of unknown origin
  • Restlessness due to high fever
  • Cystitis

सेवन विधि.

बच्चों को 10 से 25 मिली और बड़ों को 25 से 50 मिली एक गिलास पानी में डालकर दीजिये. अथवा वैद्य या डॉक्टर के परामर्श के अनुसार. बाज़ार में बने बनाये शरबत में चीनी होती है इसलिए ये मधुमेह के रोगियों के लिए वर्जित है. अगर उनको इसका सेवन करना हो तो वो सीधे इसको घर पर बिना चीनी के उपरोक्त लिखी हुयी वस्तुओं से तैयार कर लें. और इसका सेवन करें.

इसको बनाने के लिए उपरोक्त सब सामान बराबर मात्रा में लेवें. और काढ़े की तरह बना लें. मधुमेह के रोगी इसमें चीनी मत मिलाएं, दुसरे रोगी इसमें चीनी मिला कर शरबत की तरह बना कर रख सकते हैं.

शरबत ऐ बजूरी एक यूनानी दवा है जो बाज़ार में किसी भी यूनानी दवाखाने में मिल जाएगी वैसे इसको हमदर्द कंपनी भी बनाती है.

For English version click here.

Nephritis treatment in hindi, Nephritis ka ilaj, kidney ka ilaj, kidney treatment in hindi, liver ka ilaj, liver treatment in hindi

3 comments

  1. VERY USEFULL ARTICLE…..THANKS.

  2. Kaise banegi KYA KYA hota hai

  3. very nice medicine

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status