Friday , 15 December 2017
Home » Health » क्या !! लाल मिर्च 1 मिनट में रोक सकती है हार्ट अटैक !

क्या !! लाल मिर्च 1 मिनट में रोक सकती है हार्ट अटैक !

क्या !! लाल मिर्च 1 मिनट में रोक सकती है हार्ट अटैक !

एक प्रसिद्ध हर्बल उपायों से चिकित्सा करने वाले डॉक्टर ने माना है उनके 35 साल के लंबे करियर में उनके पास आए सभी हार्ट अटैक मरीजों की जान बचाई जा सकी। जिसमें लाल मिर्च के इस्तेमाल से बना एक घोल सबसे ज्यादा कारगर साबित हुआ। लाल मिर्च के खास गुण इसमें पाए जाने वाले Capsaicin की वजह से होते हैं। Capsaicin Chemical एंटी ऑक्सीडेंट है, ये Bad Cholesterol के Oxidation को रोक कर Bad Cholesterol को रक्तवाहिनियों में जमा नहीं होने देता और खून की Circulation को बढ़ाये रखता है. जिस कारण से हृदय को तुरंत खून पहुँचता है. ये Arteries में होने वाली सूजन को कम करता है और Clotting को भी पिघला देता है. तो आइये जाने इसके बारे में पूरी विधि.

अगर आप किसी को भी हार्ट अटैक आते देखते हैं तो एक चम्मच लाल मिर्च एक ग्लास पानी में घोलकर मरीज को दे दीजिए। एक मिनट के भीतर मरीज की हालत में सुधार आ जाएगा। इस घोल का असर सिर्फ एक अवस्था में होता है जिसमें मरीज का होश में होना आवश्यक है।
ऐसे हालात जिनमें मरीज बेहोशी की हालत में हो दूसरे उपाय को अपनाया जाना बेहद जरूरी है। लाल मिर्च का ज्यूस बनाकर इसकी कुछ बूंदें मरीज की जीभ के नीचे डाल देने से उसकी हालत में तेजी से सुधार आता है।
लाल मिर्च में एक शक्तिशाली उत्तेजक पाया जाता है। जिसकी वजह से इसके उपयोग से ह्रदय गति बढ़ जाती है। इसके अलावा रक्त का प्रवाह शरीर के हर हिस्से में होने लगता है। इसमें हेमोस्टेटिक (hemostatic) प्रभाव होता है जिससे खून निकलना तुरंत बंद हो जाता है। लाल मिर्च के इस प्रभाव के कारण हार्ट अटैक के दौरान मरीज़ को ठीक होने में मदद मिलती है।

हार्ट अटैक से बचाव के लिए तुंरत उपयोग करने हेतु एक बेहद कारगर घोल बनाकर रखा जा सकता है। लाल मिर्च पाउडर, ताज़ी लाल मिर्च और वोदका (50 % अल्कोहल के लिए) के इस्तेमाल से यह घोल तैयार किया जाता है।

कांच की बोतल में एक चौथाई हिस्सा लाल मिर्च से भर दीजिए। इस पाउडर के डूबने जितनी वोदका इसमें मिला दीजिए। अब मिक्सर में ताजी लाल मिर्च को अल्कोहल के साथ में सॉस जैसा घोल तैयार कर लीजिए। इस घोल को कांच की बोतल में बाकी बचे तीन चौथाई हिस्से में भर दीजिए। अब आपकी बोतल पूरी तरह से भर चुकी है। कांच की बोतल को कई बार हिलाइए। इस मिश्रण को एक अंधेरी जगह में दो हफ्तों के लिए छोड दीजिए। दो हफ्तों बाद इस मिश्रण को छान लीजिए। अगर आप ज्यादा असरकारक मिश्रण चाहते हैं तो इस घोल के तीन माह के लिए अंधेरी जगह पर छोड़ दीजिए।

हार्ट अटैक आने के बाद होश में बने रहने वाले मरीज़ को इस मिश्रण की 5 से 10 बूंदें दी जानी चाहिए। 5 मिनट के अंतराल के बाद फिर से उतनी मात्रा में यह घोल मरीज को दिया जाना चाहिए। 5 मिनिट के अंतराल के साथ मरीज की हालत में सुधार आने तक यह प्रक्रिया दोहराई जा सकती है। अगर मरीज बेहोश है तो उसकी जीभ के नीचे इस मिश्रण की 1 से 3 बूंदे डाल दी जानी चाहिए। इस प्रक्रिया को तब तक दोहराया जाना चाहिए जब तक मरीज की हालात में सुधार न आ जाए।
वैज्ञानिक शोधों से साबित हो चुका है लाल मिर्च में 26 अलग प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं। कैल्शियम, ज़िंक, सेलेनियम और मैग्निशियम जैसे शक्तिशाली तत्वों से भरपूर लाल मिर्च में कई मिनरल के अलावा विटामिन सी और विटामिन ए की भी भरपूर मात्रा होती है। हर भारतीय घर में मसाले का अभिन्न हिस्सा लाल मिर्च में ह्रदय को स्वस्थ रखने के कुछ बेहद खास और विस्मयकारी गुण पाए जाते हैं। किसी भी तरह की ह्रदय संबंधी समस्या से बचने में लाल मिर्च बहुत कारगर है।
चेतावनी : यह आलेख वैज्ञानिक शोध के आधार पर तैयार किया गया है। इस संबंध में अभी अन्य शोध जारी है। यह महज एक तात्कालिक उपाय हो सकता है स्थायी उपचार नहीं। गंभीर स्थिति में चिकित्सक की सलाह अवश्य लें। हमारा  प्रयास है नवीन जानकारी उपलब्ध कराना ना कि भ्रम फैलाना। अत: स्वविवेक से निर्णय लें।

2 comments

  1. Sir ji kya arjunka ghol lene se stent loose to nahi hoga please request me

    • अरे नहीं भाई… अगर आपने स्टंट डलवा लिए हैं तो आपके लिए तो ये अभी बहुत बहुत ज़रूरी है…

  2. Sir ji mere do nali 80percent or 1nali 100percent block Hai Dr. ne stent ke liye kaha Hai. Kya muje ayurved ke nuske se blockege khul jayega? Or Kaun sa prayog mere liye accha Hai? Pls reply me

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status