Thursday , 23 November 2017
Home » दाले » चना » काले चने स्वास्थय का खज़ाना।

काले चने स्वास्थय का खज़ाना।

काले चने स्वास्थय का खज़ाना।

सुबह एक-दो मुट्ठी काले चने ज़रूर खाये।

चने ज्यादा महंगे भी नहीं होते और इसमें बीमारियों से लड़ने के गुण भी छिपे हुए हैं। एक सस्ता और आसान सा दिखने वाला चना हमारे सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। काले चने भिगोये हुए हो, भुने हुए हों, अंकुरित हों या इसकी सब्जी बनाई हो, यह हर तरीके से सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। इसमें भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन्स, फाइबर, कैल्शियम, आयरन और विटामिन्स पाए जाते हैं। काला चना शरीर की गंदगी को पूरी तरह से बाहर निकालता है। आइये जाने काले चनो का सेहत कनेक्शन।

कब्ज से राहत

चने में मौजूद फाइबर की मात्रा पाचन के लिए बहुत जरूरी होती है। रातभर भिगोए हुए चने से पानी अलग कर उसमें नमक, अदरक और जीरा मिक्स कर खाने से कब्ज जैसी समस्या से राहत मिलती है। साथ ही जिस पानी में चने को भिगोया गया था, उस पानी को पीने से भी राहत मिलती है। लेकिन कब्ज दूर करने के लिए चने को छिलके सहित ही खाएं।

चना एनर्जी बढ़ाता है

इंस्टेंट एनर्जी चाहिए, तो रातभर भिगोए हुए या अंकुरित चने में हल्का सा नमक, नींबू, अदरक के टुकड़े और काली मिर्च डालकर सुबह नाश्ते में खाएं, बहुत फायदेमंद होता है। आप चने का सत्तू भी खा सकते हैं। यह बहुत ही फायदेमंद होता है।गर्मियों में चने के सत्तू में नींबू और नमक मिलाकर पीने से शरीर को एनर्जी तो मिलती ही है, साथ ही भूख भी शांत होती है।

चना पथरी की प्रॉब्लम दूर करता है

दूषित पानी और खाने से आजकल किडनी और गॉल ब्लैडर में पथरी की समस्या आम हो गई है। हर दूसरे-तीसरे आदमी के साथ स्टोन की समस्या हो रही है। इसके लिए रातभर भिगोए हुए काले चने में थोड़ी सी शहद की मात्रा मिलाकर खाएं। रोजाना इसके सेवन से स्टोन के होने की संभावना काफी कम हो जाती है और अगर स्टोन है तो आसानी से निकल जाता है। इसके अलावा चने के सत्तू और आटे से मिलकर बनी रोटी भी इस समस्या से राहत दिलाती है।

जुकाम में आराम मिलता है

ज़ुकाम हो जाए और नाक में पानी बह रहा हो तो भूने चने बहुत आराम देते हैं। ये शरीर में व्याप्त एक्स्ट्रा वाटर को सोख लेते हैं। और ज़ुकाम में राहत दिलाते हैं।

डायबिटीज में फायदेमंद हैं चना

ताकतवर होने के साथ ही शरीर में एक्स्ट्रा ग्लूकोज की मात्रा को कम करता है जो डायबिटीज के मरीजों के लिए कारगर होता है। लेकिन इसका सेवन सुबह-सुबह खाली पेट करनाचाहिए। चने का सत्तू डायबिटीज़ से बचाता है। एक से दो मुट्ठी चने का सेवन ब्लड शुगर की मात्रा को भी नियंत्रित करने के साथ ही जल्द आराम पहुंचाता है।

खून की कमी यानी एनीमिया की समस्या दूर करता हैं चना।

शरीर में आयरन की कमी से होने वाली एनीमिया की समस्या को रोजाना चने खाकर दूर किया जा सकता है। चने में शहद मिलाकर खाना जल्द असरकारक होता है। आयरन से भरपूर चना एनीमिया की समस्या को काफी हद तक कम कर देता है। चने में 27 फीसदी फॉस्फोरस और 28 फीसदी आयरन होता है जो न केवल नए बल्ड सेल्स को बनाता है, बल्कि हीमोग्लोबिन को भी बढ़ाता है। भुने चने गुड के साथ खाने से विशेष लाभ होता हैं। जब भी चने खाए तो गुड साथ में ज़रूर खाए।

हिचकी में राहत दिलाए

हिचकी की समस्या से ज्यादा परेशान हैं, तो चने के पौधे के सूखे पत्तों का धूम्रपान करने से हिचकी आनी बंद हो जाती है।

आंतो के रोगो में फायदेमंद।

जिनको मल बंध कर नहीं आता उनके लिए बहुत फायदेमंद हैं इसके सेवन से मिलने वाले फाइबर से मल बंध कर आता हैं। चना आंतों, इंटेस्टाइन की बीमारियों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है।

बुखार में पसीना आने पर

बुखार में ज्यादा पसीना आने पर भुने हुए चने को पीसकर, उसमें अजवायन मिलाएं। फिर इससे मालिश करें। ऐसा करने से पसीने की समस्या खत्म हो जाती है।

मूत्र संबंधित रोग में आराम

भुने हुए चने का सेवन करने से बार-बार पेशाब जाने की बीमारी दूर होती है। साथ ही गुड़ व चना खाने से यूरीन से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या में राहत मिलती है। रोजाना भुने हुए चनों के सेवन से बवासीर ठीक हो जाती है।

पुरुषों के लिए फायदेमंद

चीनी-मिट्टी के बर्तन में रातभर भिगोए हुए चने को चबा-चबाकर खाना पुरुषों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। पुरुषों की कई प्रकार की कमजोरी की समस्या खत्म होती है। जल्द असर के लिए भीगे हुए चने के साथ दूध भी पिएं। भीगे हुए चने के पानी में शहद मिलाकर पीने से पौरुषत्व बढ़ता है। चनो के बारे में कहावत हैं के “खाए चना रहे बना”, यहाँ बना का अर्थ जवानी से हैं।

त्वचा की रंगत निखारता है

चना केवल हेल्थ के लिए ही नहीं, स्किन के लिए भी बहुत फायदेमंद है। चना खाकर चेहरे की रंगत को बढ़ाया जा सकता है। वैसे चने की फॉर्म बेसन को हल्दी के साथ मिलाकर चेहरे पर लगा

अंकुरित काले चने गुणों की खान।

अंकुरित काले चने गुणों की खान हैं, चनो का सर्वोत्तम सेवन इनको अंकुरतीत कर के खाने में ही हैं। क्योंकि अंकुरित चने क्लोरोफिल, विटामिन ए, बी, सी, डी और के, फॉस्फोरस, पोटैशियम, मैग्नीशियमऔर मिनरल्स का अच्छा स्रोत होते हैं। साथ ही इसे खाने के लिए किसी प्रकार की कोई खास तैयारी नहीं करती पड़ती। रातभर भिगोकर सुबह नाश्ते में थोड़ा शहद डालकर खाने से शीघ्र ही शरीर का रंग रूप ओज तेज़ बढ़ता हैं और अनेक बीमारियो से मुक्ति मिलेगी।

सावधानी।

जिन लोगो को अलसर की शिकायत हो उनको चनो का सेवन बहुत कम करना चाहिए।

 

8 comments

  1. Dilbag singh happy age 40

    Slip disc k bare mei jankari de

  2. Very good informatic site. Fully, proffitable heath tips. Continue the posts reularly. In the post of ” KALA CHANA ”
    YOU have not intimated about ” ANKURIT ” ( SPROUT ). There are tremendous beniffit to the health in all age.
    Hope, you will keep a note of it.
    For SUGAR & DIABITIES, your post is insuffient information.
    Any, how, I like the post. I have passed on the informations to my friend circle, if, you don’t have the objection.

  3. Chanay ko bhunna kaise h fir kis time khana h

  4. 1 month ki Pregnancy ke doran spot h isko door krne ke upaye btaye ,

  5. Mughe sighra patan ki bimari hai kya iske liye yah chana kitna labhkari hai

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status