Saturday , 23 September 2017
Home » Health » arthritis - joint pain » गठिया और जोड़ों के दर्द के लिए संजीवनी सूर्य तापित लाल तेल.

गठिया और जोड़ों के दर्द के लिए संजीवनी सूर्य तापित लाल तेल.

प्रिय मित्रों आज हम आपके लिए एक और बहुत अनमोल जानकारी ले कर आ रहें हैं जिसके प्रयोग से आप जोड़ों के दर्द और गठिया के दर्द से बहुत आसानी से मुक्ति पा सकते हैं. और इसका असर दो चार दिन में ही दिखने लगेगा और ये प्रयोग है भी बहुत ही आसान. तो आइये जानते हैं इसको.

गठिया और जोड़ों के दर्द के लिए संजीवनी सूर्य तापित लाल तेल.

Gathiya aur jodo ke dard ke liye surya tapit laal tel.

 

इस प्रयोग में हमको चाहिए बस सरसों का तेल और लाल रंग की कांच की बोतल.

आपको करना ये है के इस तरह की कोई भी लाल रंग की बोतल ले लीजिये जो कांच की बनी हो और जिसका ढक्कन बिलकुल टाइट हो, इसमें अभी आप सरसों का तेल डाल दीजिये, तेल डालकर इस बोतल को तेज़ धुप में रख दीजिये, सुबह से शाम तक, जैसे ही सूर्य अस्त हो तो इस बोतल को कमरे में रख दीजिये, इस प्रकार से अगले दिन भी यही बोतल को धुप में रखिये, कम से कम 6 से 8 घंटे धुप दिखानी है इस बोतल को वो भी 7 दिन तक.

अभी 7 दिन के बाद इस इस तेल से आपको मालिश करनी है, जहाँ जहाँ पर दर्द हो रहा हो वहां वहां ये तेल लगाइए, आप देखेंगे के कुछ ही दिनों के प्रयोग से आपका दर्द छू मंतर हो गया.

दरअसल ये पद्धति सूर्य किरण चिकित्सा के अन्दर आती है, जब कांच की बोतल से सूर्य की किरणे गुज़रती हैं तो ये जिस भी रंग से गुज़रती हैं तो उसका अपना प्रभाव उस बोतल के अन्दर रखी हुयी चीज में आ जाता है.

और हाँ अगर तेल पुराना हो जाए और कम असर करे तो इसको दोबारा एक दो दिन धुप दिखाने से दोबारा चार्ज हो जाता है.

आशा है के आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकारी अच्छी लगी होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status