Wednesday , 18 July 2018
Home » आयुर्वेद » ayurvedic oil » लाल मिर्च का तेल – कोलेस्ट्रॉल कम करे हार्ट अटैक कैंसर से बचाए वजन कम करे दर्द में तुरंत आराम

लाल मिर्च का तेल – कोलेस्ट्रॉल कम करे हार्ट अटैक कैंसर से बचाए वजन कम करे दर्द में तुरंत आराम

Lal mirch ka tel, लाल मिर्च का तेल

लाल मिर्च का तेल बहुत उपयोगी है, लाल मिर्च के तेल को इंग्लिश में Chilli Oil कहते हैं, इसका उपयोग कोरियन और चाइना में बहुतायत से किया जाता है. यह तेल vitamin और मिनरल्स से भरपूर होता है. इसके उपयोग से आप सहज ही अनेक बिमारियों से छुटकारा पा सकते हैं, और ये उस स्थिति में भी काम करता है जब आस पास कोई ना हो, और मृत्यु सामने दिखने लगे. तो ऐसा क्या है इसमें और किन किन बिमारियों में है फायदेमंद ये मिर्च का तेल आइये जानते हैं लाल मिर्च के तेल के फायदे. और इसके अंत में आपको ये तेल बनाना भी बताएँगे.

Lal mirch ke tel ke fayde – लाल मिर्च के तेल के फायदे.

इम्युनिटी बढ़ाये Immunity Badhane ke liye

लाल मिर्च का तेल रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है. और आपके शरीर को रोगों और Germs से लड़ने की शक्ति देता है, इस तेल में vitamin और मिनरल्स भरपूर होने के कारण ये तेल शरीर को कई ज़रूरी पोषक तत्व प्राप्त करवा देता है.

कैंसर को रोके cancer ko rokta hai

लाल मिर्च का तेल कैंसर को बढ़ने से रोकता है. इसमें एक तत्व पाया जाता है जिसको Capsaicin कहते हैं, यह शरीर में गर्मी को बढ़ा देता है. यह शरीर में मौजूद कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकता है. ये कैंसर कारक को हमारी कोशिकाओं के DNA के साथ Mix नहीं होने देती, इसी कारण से ये इसको बढ़ने नहीं देती.

जुकाम बंद नाक Band Naak ko khole

जिन लोगों का नाक हमेशा बंद रहता है, ये तेल उनके लिए बहुत ही बढ़िया है, Capsaicin के कारण शरीर में गर्मी पैदा होती है, आप इस तेल का सेवन तब करें जब आपका नाक जुकाम के कारण बंद हो गया है. इसका सेवन करने के कुछ ही देर में बंद नाक को खुलने में मदद मिलेगी.

कोलेस्ट्रॉल – Blood cholesterol ko control kare

इसमें मिनरल्स बहुत होने के कारण ये शरीर में कोलेस्ट्रॉल को जमने से रोकता है जिस से आपको हृदय घात होने से बचने में मदद मिलती है. और ये अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने में मदद करता है, जिस से आपका हृदय सुरक्षित रहता है. और विदेश में एक डॉक्टर तो ऐसे भी हैं जो रोगी को हार्ट अटैक आने पर सिर्फ लाल मिर्च से बनायीं हुई दवा दे कर हार्ट सही कर देते हैं. वो आप यहाँ से पढ़ सकते हैं.

[यहाँ क्लिक कर के पढ़ें एक मिनट में रोक सकती है हार्ट अटैक को लाल मिर्च]

वजन कम – weight kam karne ke liye

मिर्च के तेल के सेवन से चयापचय काफी स्ट्रोंग होता है, ऐसे में अगर आप वजन कम करने के लिए कुछ भी कर रहें हैं, चाहे वो डाइटिंग हो, चाहे वो एक्सरसाइज हो, कुछ भी हो, इसके साथ में अगर आप मिर्च के तेल को इस्तेमाल करेंगे तो आप दूसरों के बजाये बहुत जल्दी ही अपना वजन कम कर लेंगे. क्यूंकि इसमें जो हीट पैदा करने की क्षमता है उस से आपके शरीर में एक्स्ट्रा फैट को जमा नहीं होने देगी ये. और जमी हुयी फैट को भी कम करेगी.

metabolism ko badhaye

लाल मिर्च के तेल का निरंतर सेवन करने  से आपका metabolism बढ़ता है, लाल मिर्च की प्रकृति appetizer और Carminative है, इस से आपको भूख अच्छी लगेगी और भोजन भी जल्दी पचेगा.

दर्द dard me turant aaram

ये दर्द की Perception को ब्लाक कर देती है, रीढ़ की हड्डी से दर्द की सूचना जो हमारे दिमाग को जाती है, उस को ये तुरंत ब्लाक कर देती है, इसके लिए इसको आप दर्द वाले स्थान पर अच्छे से मालिश कर दें. दर्द के लिए आप हमारी ये नीचे दी गयी पोस्ट पढ़ सकते हैं.

[यहाँ क्लिक कर के ये भी पढ़ें – दर्द का चुटकी में आराम – लाल मिर्च से]

बैक्टीरिया मारे Harmful bacterial ko mare

लाल मिर्च भोजन के द्वारा शरीर में जाने वाले हानिकारक बैक्टीरिया को ख़त्म करता है, इसका कारण इसकी Anti Bacterial Activity का होना है.

उलटी दस्त हैजे (विशुचिका) का रामबाण – haije ka ilaj

जब भी उलटी दस्त हो तो इसके बाद एक चम्मच लाल मिर्च का तेल सेवन कर लें, 2 से ३ बार में ही हैजे की उल्टियाँ बंद हो कर आराम आ जायेगा. हैजे में इसको अनेक वैद्याचार्यों ने पूर्ण सफलता के साथ इस्तेमाल किया है.

उपरोक्त फायदे अभी बहुत थोड़े हैं, जैसे जैसे हम इस पर और अध्ययन करेंगे तो आपको इसके बारे में और भी बताते जायेंगे, अभी हम आपको बताते हैं के कैसे बनाना है ये तेल.

लाल मिर्च का तेल Lal mirch ka tel

अच्छी सूखी लाल मिर्च लीजिये, इसको अच्छे से छांट लीजिये, कोई काली या सड़ी हुई हो तो उसको निकाल बाहर करें, 125 ग्राम लाल मिर्च लेकर 450 ग्राम तिल के तेल में धीमी आंच पर गर्म कीजिये, ध्यान रहे के बर्तन लोहे का हो या कलाई दार बर्तन हो, इसको धीमी आंच पर तब तक पकाएं, जब तक मिर्च काली हो जाए तब तक इसको पकने दें, जब मिर्चें अच्छे से काली हो जाएँ तो समझ लीजिये के तेल तैयार हो गया. अभी इस तेल को किसी कांच की बोतल में निकाल कर रख लीजिये. और ज़रूरत होने पर इसका सेवन करें.

सेवन की मात्रा.

इसका एक चम्मच अर्थात 5 ml आप भोजन में डालकर या अपने रोग के अनुसार सीधे ही इसको ले सकते हैं. मगर ध्यान रहे के इसको खाली पेट नहीं लेना.

सावधानी

लाल मिर्च का तेल एसिडिक है, इसलिए इसको खाली पेट ना लें, और गर्भावस्था में भी इसका सेवन ना करे, और अधिक छोटे बच्चों को भी इसका सेवन ना करवाएं, बच्चों के अलावा जिनको बहुत अधिक एसिडिटी हो वो भी इसका सेवन ना करे. सिर्फ बाहरी उपयोग करवा सकते हैं, मगर बच्चों को वो भी नहीं करवाएं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status