Monday , 24 September 2018
Home » Health » साइनस और पीनस » साइनस का घरेलू उपचार – HOME REMEDIES FOR SINUS
साइनस

साइनस का घरेलू उपचार – HOME REMEDIES FOR SINUS

आज भारत में 15 करोड़ से भी अधिक साइनस / Sinusitis के मरीज हैं। ऐसे कई मरीज है जो साइनस की जानकारी के आभाव में सालभर साइनोसाइटिस की पीड़ा से पीड़ित रहते हैं। आधुनिक उपचार या आयुर्वेदिक नुस्खों की सहायता से आसानी से इस बीमारी का उपचार किया जा सकता है और बार-बार इसे होने से रोका भी जा सकता हैं।

हमारे चेहरे पर नाक के आसपास कुछ छिद्र होते हैं-जिन्हें Sinus -साइनस कहा जाता है इनमें संक्रमण को साइनोसाइटिस या साइनस(Sinus ) ही कह दिया जाता है जब साइनस का संक्रमण होता है तो इसके लक्षण आंखों पर और माथे पर महसूस होते हैं सिरदर्द आगे झुकने व लेटने से बढ़ जाता है|

साइनस नाक का एक रोग है- आयुर्वेद में इसे प्रतिश्याय नाम से जाना जाता है- सर्दी के मौसम में नाक बंद होना, सिर में दर्द होना, आधे सिर में बहुत तेज दर्द होना, नाक से पानी गिरना इस रोग के लक्षण हैं- इसमें रोगी को हल्का बुखार, आंखों में पलकों के ऊपर या दोनों किनारों पर दर्द रहता है|

तनाव, निराशा के साथ ही चेहरे पर सूजन आ जाती है इसके मरीज की नाक और गले में कफ जमता रहता है इस रोग से ग्रसित व्यक्ति धूल और धुवां बर्दाश्त नहीं कर सकता है  साइनस(Sinus ) ही आगे चलकर अस्थमा, दमा जैसी गंभीर बीमारियों में भी बदल सकता है इससे गंभीर संक्रमण हो सकता है|

साइनस आज एक आम समस्या हो गई है. इसका सबसे बड़ा नुकसान है कि इसके होने से सिर बहुत दर्द करता है. साथ ही नजर भी कमजोर होने लगती है और बाल भी जल्दी सफेद हो जाते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं आप साइनस का घर में भी इलाज कर सकते हैं?

Sinus Home Remedies in hindi

  • सुबह शाम दूध में हल्दी या गुडूची सत्व मिलाकर पिए। इससे रोगप्रतिकार शक्ति बढ़ती हैं।
  • अदरक का पाउडर और गुड़ को मिलकर ५ से १० ग्राम की छोटी टेबलेट बनाये और इसे सुबह शाम खाये।
  • रोज सुबह हर्बल या अदरक और तुलसी के पत्तों से बनी चाय पिए।
  • छोटा प्याज औरलहसुन को साथ में कूट कर पानी में उबाले और बाफ ले। इससे नाक और साइनस जल्द खुल जाता हैं।
  • हल्का गर्ममहानारायण या तिल तेल से साइनस स्थान पर दिन में 2 से 3 बार मालिश करने से साइनस में लाभ होता हैं।
  • सूखे अदरक पाउडर, पिसी लौंग के एक चमच्च में तुलसी के पत्तों को पीसकरमिलाले और माथे पर या साइनस के स्थान पर लगाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status