Thursday , 16 August 2018
Home » Major Disease » heart attack ka ilaj » heart attack » ह्रदयशूल ( Angina Pectoris ) छाती में दर्द के कारण,लक्षण और उपाय !!

ह्रदयशूल ( Angina Pectoris ) छाती में दर्द के कारण,लक्षण और उपाय !!

एनजाइना पेक्टोरिस ( Angina Pectoris ) इस बात का संकेत है कि हृदय संकट में है। एनजाइना पेक्टोरिस ( Angina Pectoris ) की गंभीर स्थिति रिफ्रेक्टिव एनजाइना पेक्टोरिस ( Angina Pectoris ) है, जिसमें मरीजों के अधिक समय तक जीवित रहने की संभावना बहुत कम होती है; क्योंकि ऐसे मरीजों को हृदयपेशीय रक्ताल्पता (मायोकार्डियल इस्कीमिया) हो जाती है, जिसमें दिल की नसों में खून का प्रवाह नहीं होता और दिल को ऑक्सीजन नहीं मिल पाती, जिससे मरीज को तेज दर्द और घबराहट होती है।

एनजाइना पेक्टोरिस ( Angina Pectoris ) कारण

जब  हृदय को उस की आवश्यकता के अनुरूप रक्त  की सप्लाई नहीं हो पाती जिस से  हृदयकी मांसपेशियों में ओक्सीजन और पोषक तत्वों की कमी आ जाती है जिसे से  हृदय के ऊपर अतिरिक्त दबाव पड़ता है और यही दबाव  एनजाइना पेक्टोरिस ( Angina Pectoris ) का कारण बनता है. ( angina pectoris, angina pectoris treatment, angina pectoris symptom, angina pectoris ka ilaj )

क्यूंकि इस परिस्तिथि में  हृदय को उस की डिमांड के अनुसार ओक्सीजन की सप्लाई नहीं हो पाती है अर्थात डिमांड बढ़ जाती है और सप्लाई कम हो जाती है जिस का कारण है की हृदय को रक्त सप्लाई करने वाली कोरोनरी धमनी में किसी  प्रकार की रूकावट आजाना यह रुकावट क्लोटिंग के कारण हो सकती है या cholesterol की अत्याथिक मात्र  कोरोनरी धमनी जमा होनें से Plaque बनने के कारण हो सकती है . ( angina pectoris, angina pectoris treatment, angina pectoris symptom, angina pectoris ka ilaj )

एनजाइना पेक्टोरिस ( Angina Pectoris ) में परहेज

  1. सोडियम (नमक) की उच्च मात्रा वाले खाद्य पदार्थों से बचें।
  2. उन खाद्य पदार्थों से बचें, जिनमें संतृप्त वसा, और आंशिक रूप से हाइड्रोजनीकृत या पूरी तरह से हाइड्रोजनीकृत वसा होता है।
  3. तला हुआ भोजन न खाएं।
  4. पनीर, क्रीम या अंडे युक्त खाद्य पदार्थ कम खाएं।

एनजाइना पेक्टोरिस ( Angina Pectoris ) घरेलू उपाय

  • व्यायाम नियमित करें।
  • अपने मदिरापान पर ध्यान दें और अपने चिकित्सक से संपर्क करें।
  • यदि आपका वजन अधिक है, तो उचित तरीकों से उसे कम करें।

Heart Re Booster – हृदय के लिए वरदान – आपके Heart की सम्पूर्ण सुरक्षा

  • एनजाइना रोधी दवाओं को बताए अनुसार लें और अपने डॉक्टर के निर्देशों का पालन करें।
  • उन रोगों अथवा स्थितियों का इलाज करें जो आपके एनजाइना के खतरे को बढ़ाती हैं जैसे मधुमेह, उच्च रक्त चाप, और रक्त में कोलेस्ट्रॉल की उच्च मात्रा। ( angina pectoris, angina pectoris treatment, angina pectoris symptom, angina pectoris ka ilaj )
  • स्वस्थ और पोषक आहार लें, जिसमें सीमित मात्रा में संतृप्त वसा, अधिक मात्रा में साबुत अनाज, और कई तरह के फल और सब्जियाँ हों। ( angina pectoris, angina pectoris treatment, angina pectoris symptom, angina pectoris ka ilaj )

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status