Friday , 21 June 2019
Home » Baljeet Singh

Baljeet Singh

एक्यूप्रेशर द्वारा मिरगी का उपचार

मिरगी के रोग को हमेशा के लिए दूर करने के लिए मस्तिष्क स्नायुस्थान, ह्रदय, जिगर, आमाशय तथा अंतड़ियों के प्रतिबिम्ब केन्द्रो पर प्रेशर देना चाहिए। इसके अतिरिक्त पेट के आठ केन्द्रो पर प्रेशर देने से यह रोग दूर करने में सहायता मिलती है। गर्दन, पीठ की रीड की हड्डी के दोनों तरफ प्रेशर देना भी इस रोग में बहुत लाभदायक …

Read More »

नेत्र-विकारों से बचाव के लिए

नेत्र-विकारों से बचाव के लिए अगर आप चाहते हो की आप नेत्र विकारों से बच्चे रहे तो कीजिये एक आसान सा निचे दिया गया प्रयोग और अगर आपकी दृष्टि कम है और आप चस्मा लगते हो तो भी इस प्रयोग को निरन्तर करते रहने से आप बिना चस्मे के देखने के लायक हो जायोगे। विधि  सुबह दांत साफ करके, मुंह …

Read More »

अनेक रोगों की एक दवा-जल चिकित्सा पध्दति – Water therapy

Water Therapy

अनेक रोगों की एक दवा-जल चिकित्सा पध्दति – Water therapy Water Therapy – जापान के ‘सिकनेस एसोसिएशन’ द्वारा प्रकाशित एक लेख में इस बात की पुष्टि की गई है की यदि ढंग से पानी का प्रयोग किया जाये तो कई पुराणी तथा नई बीमारियां दूर हो जाती है। जैसे सिरदर्द, उच्च रक्तचाप, मोटापा, मधुमेह, खून की कमी, जोड़ों के दर्द, …

Read More »

थायरायड के बचाव में आयुर्वेदिक, प्रणायाम और एक्यूप्रेशर संबन्धी उपाए।

थायरायड Thyroid के बचाव में आयुर्वेदिक, प्रणायाम और एक्यूप्रेशर संबन्धी उपाए। थायरायड ग्रंथि में विकार आने से और ठीक से काम न करने से थारायड की बीमारी होती है। थायरायड एक अंत: स्रावी ग्रंथि है और सभी मनुष्यों के गले के भीतर मध्यभाग में स्वसंलि के दोनों तरफ इसका एक-एक खंड स्थित रहता है। थायरायड ग्रंथि से थायरोकिसन नमक हार्मोन्स …

Read More »

हल्दी के फायदे और गुण

हल्दी(Turmeric ) के फायदे और गुण हल्दी को आयुर्वेद में प्राचीन काल से ही एक चमत्कारिक द्रव्य के रूप में मान्यता प्राप्त है। औषधि ग्रंथों में इसे हल्दी के अतिरिक्त हरिद्रा, कुरकुमा लौंगा, वरवर्णिनी, गौरी, क्रिमिघ्ना योशितप्रीया, हट्टविलासनी, हरदल, कुमकुम, टर्मरिक नाम दिए गए हैं। आयुर्वेद में हल्‍दी को एक महत्‍वपूर्ण औषधि‍ कहा गया है। भारतीय रसोई में इसका महत्वपूर्ण …

Read More »

केले के अनजाने उपयोग

केले के अनजाने उपयोग केले के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ के बारे में हम सभी जानते हैं, लेकिन केले के बहुत सारे ऐसे फायदे भी हैं जिनसे हम अनजान हैं। केला न केवल हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा होता है बल्कि इससे आप अपनी त्‍वचा, बालों और बहुत सारे घरेलू कामों में भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। आइए इस स्‍लाइड शो के …

Read More »

ह्रदय रोगों में हितकारी Heart beneficial and harmful foods

ह्रदय रोगों में हितकारी बेदना अनार, आंवला या आंवला का मुरब्बा, सेव या सेव का मुरब्बा, अंगूर, निम्बू का रस, थोड़ा उष्ण गाय का दूध, जौ का पानी, कच्चे नारियल या दभ का पानी, गाजर, पालक, लहसुन, कच्चा प्याज, छोटी हरड़, सोंफ, मैथीदाना, किशमिश, मुनक्का। गाय के दही से बिलोया शुद्ध घी का सिमित प्रयोग, गेंहू का दलिया चोकर, मोटा …

Read More »

यकृत एवं पित्ताशय की पथरी का उपाए

यकृत एवं पित्ताशय की पथरी पित्ताशय एक छोटा सा अंग होता है जो लीवर (यकृत) के ठीक पीछे होता है। पित्ताशय यकृत द्वारा उत्पन्न पित्त को संग्रहित करता है। इसका कार्य पित्त को संग्रहित करना तथा भोजन के बाद पित्त नली के माध्यम से छोटी आंत में पित्त का स्त्राव करना है।पित्त रस वसा के अवशोषण में मदद करता है। …

Read More »

आमाशय( पेट ) की बीमारियो का रामबाण

आमाशय( पेट ) की बीमारियो का रामबाण  आमाशय ( पेट ) ग्रास नली और ग्रहणी के बीच स्थित होता है ( छोटी आंत का प्रथम भाग ), यह उदर गुहा के बाएं ऊपरी भाग में मौजूद होता है। पेट पोषण नली का फैला हुआ भाग है जो पाचन नली के प्रमुख अंग के रूप में कार्य करता है। आमाशय प्रोटीज़ …

Read More »

कभी नही होंगे फोड़े-फुंसियां, एक सरल उपाए

कभी नही होंगे फोड़े-फुंसियां( Skin Problems) एक सरल उपाए  क्या आप भी हैं फोड़ों और फुंसियां जैसी चमड़ी के रोगों से परेशान तो कजिये अपनी परेशानी को दूर और जानिए इसके उपाए और बनाये अपनी त्वचा को निरोग और सुन्दर। फोड़े-फुंसियों या दाद-खाज खुजली जैसी चमड़ी की बीमारियों के पीछे प्रमुख रूप से रक्त का दूषित होना होता है। जब शरीर …

Read More »
DMCA.com Protection Status