Friday , 14 June 2024
Home » Search Results for: नारियल (page 6)

Search Results for: नारियल

आप के घर पास के इस पेड़ के है 50 आश्चर्यजनक फायदे जिन से आप अब तक है वंचित !!

31 Neem Tree Uses in Hindi नीम के फायदे Neem Leaves Oil नीम तेल के फायदे Neem नीम के पत्ते, फल, तना और नीम के तेल फायदे है 50 आश्चर्यजनक फायदे – आइये जाने इस में विटामिन, फैटी एसिड, ओलिक एसिड और लिनोलिक एसिड और  इस में  कैरोटीनॉड्स भी पाया जाता है मेंजो हमें अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडें प्रदान करता है   नीम में …

Read More »

6 लौंग 6 रात और परिणाम आप को हैरान कर देंगे !! दांत का दर्द, पाचन,घाव,सुजन,कब्ज,दमा,कमर दर्द आदि ..

लौंग ( Cloves ) में यूजेनॉल होता है जो साइनस और दांद दर्द जैसी हेल्थ प्रॉब्लम को ठीक करने में मदद करता है। लौंग ( Cloves ) की तासीर गर्म होती है। इसलिए सर्दी-जुकाम होने पर लौंग खाएं या इसकी चाय बनाकर पीना फायदेमंद है। अगर आप लौंग ( Cloves )  के तेल का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसे नारियल तेल के साथ …

Read More »

दिमाग की गड़बड़ी Alzheimer के कारण लक्षण और औषधियों द्वारा आयुर्वेदिक इलाज !!

Alzheimer’s रोग होने का मुख्य कारण अभी तक पता नहीं चला हैं और इस पर अभी भी शोध चल रहा हैं। कुछ विशेषज्ञों का मानना है की हमारे मस्तिष्क में दिमाग (Brain) के अंदर कुछ कोशिकाओ (Cells) की उम्र के साथ मृत्यु होने के कारण दिमाग में कुछ संदेश (signal) पहुचने में गड़बड़ी होने से Alzheimer’s होता हैं। अगर आपके परिवार में किसी को …

Read More »

Gastroesophageal Reflux Disease( GERD )- उर्ध्वगत पित्त कारण, परहेज और घरेलु इलाज

उर्ध्वगत पित्त ( GERD ) एसिडिटी या हृदय में जलन अथवा पेट में गॅस शरीर और मान में बेचैनी करने वाला रोग है. आयुर्वेद में इसे उर्ध्वगत पित्त के नाम से जाना जाता है. यह सूचक है कि इसमें पित्त और अम्ल ऊपर की ओर गतिमान होते हैं. आयुर्वेद के अनुसार ये पित्त जनक रोग है जिसमें पचाशय में अम्ल …

Read More »

सर्दियों में रूसी dandruff से छुटकारा पाने का आसन तरीका टमाटर – हिंदी And English

अगर आपको कभी भी रूसी या डैंड्रफ हुआ है तो आप समझ सकते हैं कि डैंड्रफ से परेशान व्यक्ति को दर्द से राहत पाने के लिए क्या-क्या नहीं करता। बालों में सफेद पपड़ी और कभी-कभी कंधे पर भी यह दिख जाते हैं और आपकी रातों की नींद उड़ सकती है। और इसके साथ, खुजली भी हो सकती है जो आपको …

Read More »

दांतों में खोखलापन या कीड़ा, दर्द, पीलापन, मुह में दुर्गन्ध होने के कारण प्राकृतिक उपचार !!

परिचय:- दांतों में कभी गर्म या ठंडे खाने वाले पदार्थ से चीस पैदा हो जाती है और बाद में यह दर्द बन जाती है, जो लगातार बनी रहती है। यदि समय रहते इसका उपचार नहीं किया जाए तो दांत निकलवाना पड़ सकता है। कभी-कभी तो दांत में सड़न होने के कारण वे अपने आप टूट जाते हैं और उनमें खोखलापन …

Read More »

Heart Failure से मरते हुए व्यक्ति को जीवन दान देगा ये पौधा – Only Ayurved

Digitalis in Heart Failure in hindi, Best remedy for heart failure, digitalis ke fayde, digitalis uses in hindi, digitalis in hindi CHF (CONGESTIVE HEART FAILURE) Heart Failure का मतलब ये नहीं है कि हृदय ने काम करना बंद कर दिया हैं। जबकि इसका मतलब है की हृदय का रक्त को पंप करने का तंत्र सामान्य से कमजोर हो गया हैं, …

Read More »

अस्थिसुषिरता Osteoporosis रोग और इसे से जुड़े आहार,परहेज और घरेलु इलाज !!

ऑस्टियोपोरोसिस  ( Osteoporosis ) – कमजोर हड्डियाँ: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज अस्थिसुषिरता या ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) हड्डी का एक रोग है जिससे फ़्रैक्चर का ख़तरा बढ़ जाता है। ऑस्टियोपोरोसिस   ( Osteoporosis ) में अस्थि खनिज घनत्व (BMD) कम हो जाता है, अस्थि सूक्ष्म-संरचना विघटित होती है और अस्थि में असंग्रहित प्रोटीन की राशि और विविधता परिवर्तित होती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस को DXA के मापन अनुसार अधिकतम अस्थि पिंड (औसत 20 वर्षीय …

Read More »

कमल – हर्दय, मष्तिष्क, कमजोरी, बुखार एवं बवासीर से लेकर सोंदर्य व स्त्रियों के रोगों में रामबाण औषधी

आयुर्वेद के अनुसार : कमल ( LOTUS ) शीतल और स्वाद में मीठा होता है। यह कफ, पित्त, खून की बीमारी, प्यास, जलन,फोड़ा व जहर  को खत्म करता है। हृदय के रोगों को दूर करने और त्वचा का रंग निखारने के लिए यह एक अच्छी औषधि है। जी मिचलना, दस्त, पेचिश, मूत्र रोग, त्वचा रोग, बुखार, कमजोरी, बवासीर, वमन, रक्तस्राव आदि में इसका प्रयोग लाभकारी होता है। विभिन्न भाषाओं में नाम : HERBAL USE OF LOTUS  संस्कृत-अम्बुज, पद्म, पुंडरीक। हिन्दी .कमल, सफेद कमल, लाल कमल, नीला …

Read More »

Home Remedies To Remove Chickenpox Scars – चिकनपॉक्स के दाग दूर करने के उपाय !!

किसी संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने, खान पान में लापरवाही बरतने, अत्यधिक ठंड या गर्मियों में गर्मी पड़ने के कारण चेचक ( Chickenpox ) बड़ी आसानी से एक से दूसरे व्यक्ति को हो जाता है। जिसे आम भाषा में चिकन पॉक्स ( Chickenpox ), छोटी माता या बड़ी माता के नाम से जाना जाता है। इस समस्या के होने पर त्वचा पर …

Read More »
DMCA.com Protection Status