Saturday , 7 December 2019

Recent Posts

उपदंश ,सुजाक ,पुयमेह रोगों के अनुभूत आयुर्वेदिक चिकित्सा- लाभ ले>

उपदंश ,सुजाक ,पुयमेह रोगों के अनुभूत आयुर्वेदिक चिकित्सा- लाभ ले> परिचय – इस प्रकार के रोग पहले नही हुआ करते थे क्योंकि पहले लोग संयमी हुआ करते थे आजकल लोग ज्यादा कामुक हो गये है 7 से 14 दिनों में इस रोग के लक्षण पैदा होते है सबसे पहले इंद्री पर मसूर के दाने के बराबर एक दाना निकलता है …

Read More »

नजला /झुखाम के अनुभूत नुस्खे जो बहुत कारगर हे लाभ ले .

नजला /झुखाम के अनुभूत नुस्खे जो बहुत कारगर हे लाभ ले . शरीर में रोग पैदा केसे होते है ; पहले वात ,पित और कफ विपरीत आहार -विहार के कारण बढकर शरीर में इकट्ठा होते है .ऐसी स्थिति को दोषों का अपचय या संचय कहा जाता है .उसके बाद दोषों का प्रकोप होता है .प्रकोप होने पर पुरे शरीर में …

Read More »

पांडू रोग (पीलिया )के लिए अनुभूत आयुर्वेदिक उपचार :जरुर लाभ ले.

पांडू रोग (पीलिया )के लिए अनुभूत आयुर्वेदिक उपचार :जरुर लाभ ले. आयुर्वेद के अनुसार रंजक पित का विनाश ही पांडू रोग है .रक्त रंजक व लाल कण की कमी ही पांडू रोग है जिस रोग में रोगी का मल-मूत्र पिला हो ,रोगी का रंग भेक के समान हो जाये उसे कामला कहते है . पांडू को बोलचाल की भाषा में …

Read More »

उल्टियां (वमन :जी मचलाना ) रोग के लिए अनुभूत रोगनाशक नुस्खे लाभ ले

उल्टियां (वमन :जी मचलाना ) रोग के लिए अनुभूत रोगनाशक नुस्खे लाभ ले उल्टियां कई कारण से होती है ,अम्लपित भी उसमे से एक कर्ण हो सकता है यदि अम्लपित के कारण उल्टियां हो तो अम्लपित को मिटाने की चिकित्सा साथ में करे . 1.- उल्टियां – दवा —- अविप्तिकर चूर्ण 2 ग्राम और मधुरक्षार 2 रती दिन में 3 …

Read More »

संग्रहणी रोग के लक्षण,कारण व अनुभूत आयुर्वेदिक ईलाज:

संग्रहणी रोग के लक्षण,कारण व अनुभूत आयुर्वेदिक ईलाज: संग्रहणी के लक्षण : खाना खाने के तुरंत बाद रोगी को दस्त के लिए जाना पड़ता है कभी दस्त पतला कभी बंधा हुआ आना,खट्टी डकार आना,उल्टी आना.थोड़ी भी भारी चीज खाते ही टट्टी की हाजत हो जाती है,रोगी को बराबर पतले दस्त आते है पेट में दर्द के साथ टट्टी पतली आती …

Read More »

खांसी (khansi) का ईलाज -15 सहज आयुर्वेद नुस्खे:

खांसी (khansi) का ईलाज -15 सहज आयुर्वेद नुस्खे: दिन हो या रात बदलते मौसम के साथ खांसी होना आम है। खांसी के कारण न सिर्फ़ दिन का चैन ख़त्म हो जाता है, बल्कि रातों की नींद भी ख़राब हो जाती है। हालांकि, लोग ठीक होने के लिए खांसी की दवा लेते हैं, लेकिन कुछ दिनों बाद खांसी वापस आ जाती …

Read More »

अतिसार (दस्त) प्रवाहिका के लिए अनुभव किये नुस्खे.आजमाकर लाभ ले:

अतिसार (दस्त) प्रवाहिका के लिए अनुभव किये नुस्खे.आजमाकर लाभ ले: 1.- दस्त – दवा —- हिंग्वाष्टक चूर्ण 1-2 ग्राम ,शंख भस्म 2 रती ये एक खुराख  की मात्रा है इसे सुबह शाम पानी के साथ ले दस्त बंध कर आने लगेंगे . 2.- दवा — शंख भस्म 2-3 रती की मात्रा में शहद संग लेते ही दस्त तुरंत बंद होते …

Read More »

कब्ज (पेट साफ )के लिए अनुभव किये हुए नुस्खे -शीघ्र परिणाम वाले

कब्ज (पेट साफ )के लिए अनुभव किये हुए नुस्खे -शीघ्र परिणाम वाले कहते है की शरीर में रोग का आगमन पेट की खराबी से ही होता है अगर आपका पेट स्वस्थ रहेगा तो आपको बीमारी नही छु सकती ,लेकिन आजकल भागदोड़ भरी जिन्दंगी में हम अपने शरीर और पेट का ख्याल नही रखते है और खाने-पिने में गलत चीजों का …

Read More »

ढीले पेट या लटके हुए पेट को सही करने का उपाय ;आजमाएं

ढीले पेट या लटके हुए पेट को सही करने का उपाय ;आजमाएं क्या आपका पेट ढीला या लटका हुआ है .जब आप कोई काम करते हे तो आपका पेट ढीला या लटका हुआ                    दिखाई देता है जिससे आपको कभी -कभी शर्मिंदा होना पड़ता है .कई उपाय करने के बाद भी आपको …

Read More »

पेट की गेस के लिए अनुभव किये हुए चमत्कारी नुस्खे -अवश्य लाभ ले.

पेट की गेस के लिए अनुभव किये हुए चमत्कारी नुस्खे -अवश्य लाभ ले. हम जब शरीर के विरुद्ध आहार का सेवन करते है तो पेट में कई समस्या हो जाती है जिससे खाने का पाचन अच्छी तरह से नही होता है और अपच ,अजीर्ण व गेस बनने लगती है जिससे हमारे शरीर के कई हिस्सों में दर्द होना शुरु हो …

Read More »

गुर्दे और पित की थेली में पथरी के लिए कुछ अनुभवी ,सरल नुस्खे -जरुर आजमाएं

गुर्दे और पित की थेली में पथरी के लिए कुछ अनुभवी ,सरल नुस्खे -जरुर आजमाएं गुर्द में पथरी – जिस प्रकार जल से भरे घड़े में जल के साथ जो घुलने वाले पदार्थ नही होते वे उसके तले में बेठ जाते है ,उसी प्रकार व्रक्क भी जब मूत्र को छानने का काम करते है ,तो उस मूत्र में यूरिक एसिड …

Read More »

साइनोसाईटिस के लिए घरेलु उपाय

साइनोसाईटिस के लिए घरेलु उपाय ऐसा माना जाता है के साइनोसाईटिस बार बार रोगाणुओं से होने वाला संक्रमण तथा उसके बिगड़ जाने से होने वाला रोग है, सर्दी के समय होने वाले संक्रमण से नाक कि श्लेष्मिक झिल्ली में सूजन आ जाती है, इसके अतिरिक्त सर्दी के विषाणु मयूक्स से मुक्ति दिलाने के लिए निरंतर सक्रिय सीलिया तंतु को भी …

Read More »

सुबह खालीपेट खाएं 5 भीगे बादाम, होंगे ये 10 फायदे. जरुर आजमाएं

सुबह खालीपेट खाएं 5 भीगे बादाम, होंगे ये 10 फायदे. जरुर आजमाएं बादाम खाने में मीठा और तीखा दोनों तरह का होता है। आपको बता दें कि मीठा वाला बादाम खाने में इस्तेमाल किया जाता है और तीखा वाला बादाम तेल बनाने में इस्तेमाल किया जाता है। बादाम में अधिक मात्रा में न्यूट्रीशन और मिनरल्स पाए जाते हैं जैसे प्रोटीन, …

Read More »

त्वचा को निखारने के लिए मुल्तानी मिटी का लेप

त्वचा को निखारने के लिए मुल्तानी मिटी का लेप  पुराने समय से ही मुलताई मिट्टी का लेप सौंदर्य और बालों के लिए किया जा रहा है। पर आजकल इसका इस्तमाल पहले से बहुत कम हो गया है। कहि न कहि इसकी वजा लोगों में कम जागरूकता है। पर आज हम आपको इसके फायदे और प्रयोग विधि के बारे में बताने जा …

Read More »

कान को निरोग बनाए रखने के लिए

कान के रोगों से बचने के लिए आएं जाने एक ऐसी आसान सी विधि जो की आपके कान क लिए है बहोत ही फायदेमंद है, जिसके करने से  आप अपने कानो को स्वस्थ बनाए रख सकते है। सप्ताह में एक बार भी इसका प्रयोग करें तो आपके के कान में कभी तकलीफ नहीं होगी। विधि भोजन करने से पहले कान …

Read More »
DMCA.com Protection Status