Thursday , 22 August 2019

Recent Posts

आधुनिक प्रयोगशालों को मात देते संस्कार – भोजन को अग्नि समर्पित करने का गूढ़ रहस्य

संस्कार

आधुनिक प्रयोगशालों को मात देते संस्कार – भोजन को अग्नि समर्पित करने का गूढ़ रहस्य आपने अपने जीवन काल में किसी यज्ञ इत्यादि में ज़रूर देखा होगा के भोजन बनने के बाद खाने से पहले इसे एक बार कुछ अंश अग्नि पर चढ़ाया जाता है, ऐसा क्यों? भारतीय वैदिक संस्कारों में बहुत गहन विज्ञान छिपा हुआ है, आज विज्ञान भी …

Read More »

ल्यूकोरिया का हर्बल उपचार

ल्यूकोरिया का हर्बल उपचार ….. ! श्वेत प्रदर को बीमारी न बनने दें – करें इसका घर पर इलाज … ! * आंवले का किसी न किसी रूप में सेवन करें – यह बैक्टीरिया को खत्म करता है * केला खाने की आदत डाल लें – रोजाना एक केला खाने से श्वेत प्रदर से मुक्ति मिलती है ! * अखरोट …

Read More »

खट्टी डक्‍कार

खट्टी डक्‍कार ! खाने के बाद अक्सर मुंह से निकलने वालीा डक्‍कार ( बर्प )पेट भरे होने का अहसास कराती है तो कभी पेट में गैस होने का … ! गैस के कारण आने वाली डक्‍कार खट्टी होती है – जिससे बदबू भी आती है ! समस्या उस वक्त ज्यादा गंभीर बन जाती है जब इसके कारण पेट में मरोड़ …

Read More »

अपामार्ग पत्ते के मिल्क शेक से सिर्फ एक महीने में घटाएं वज़न

अपामार्ग पत्ते के मिल्क शेक से सिर्फ एक महीने में घटाएं वज़न अक्सर लोग वज़न घटने में हो रही देरी की वजह से मायूस हो जाते हैं। वो चाहते हैं कि उनका वज़न जल्दी से जल्दी घट जाए। अगर आप भी उन्हीं लोगों में से हैं तो हम आपके लिए एक ऐसा नायाब तरीका लाए हैं जिसे अपनाकर आप सिर्फ …

Read More »

बच्चा बिस्तर पर पेशाब करे तो करे ये उपाय

बच्चा बिस्तर पर पेशाब  करे तो करे ये उपाय पचास ग्राम अजवायन का चूर्ण कर लें | प्रतिदिन एक ग्राम चूर्ण को रात को सोने से पूर्व बच्चे को खिलाएं | ऐसा कुछ दिनों तक नियमित रूप से करने से यह रोग ठीक हो जाता है | * दो मुनक्कों के बीज निकालकर उसमें १-१ काली मिर्च डालकर बच्चों को …

Read More »

एग्जिमा Eczema

एग्जिमा ५० ग्राम सरसो का तेल लेकर लोहे की कड़ाही में चढ़ाकर आग पर रख दे। जब तेल खूब उबलने लगे तब इसमें ५० ग्राम नीम की कोमल कोपले ( नई पत्तियां ) डाल दे। कोपलों के काले पड़ते ही कड़ाही को तुरंत नीचे उतार ले अन्यथा तेल में आग लगकर तेल जल सकता है। ठंडा होने पर तेल को …

Read More »

मालकंगनी (ज्योतिष्मति)…….जो मति अर्थात बुद्धि को चमका दे!!

मालकंगनी (ज्योतिष्मति)…….जो मति अर्थात बुद्धि को चमका दे!! आयुर्वेद मे अमृत………… सर्दी में ईश्वरीय वरदान आज बाजार मे मिलने वाले जितने भी टॉनिक (च्यवन प्राश, होर्लिक्स, बोर्नविटा, बूस्ट, बॉडी बिल्डिंग के सप्लीमेंट्स आदि ) हैं, यदि उन सब को भी बराबर मे रख दिया जाए तो हजारो रुपए के ये टॉनिक मालकंगनी के सामने कुछ नहीं। गरीब के लिए सोना-चांदी …

Read More »

अलसी और पनीर का ये ड्रिंक कैंसर के रोगियों के लिए बन रहा है अमृत संजीवनी

अलसी और पनीर, anti cancer drink, alsi aur paneer ka drink

अलसी और पनीर का ये ड्रिंक कैंसर के रोगियों के लिए बन रहा है अमृत संजीवनी नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बता रहें हैं कैंसर के लिए एक बेहतरीन अलसी और पनीर का ड्रिंक, जिसको आप अपनी नियमित खुराक का हिस्सा बनायेंगे तो कैंसर में बहुत जल्दी आपको परिणाम मिलेंगे. यह ड्रिंक कैंसर की हो रही ग्रोथ को रोकने के …

Read More »

मौत के मुंह में गए हुए कैंसर के रोगियों में जीवन की आस जगा रहा है Only Ayurved

only ayurved cancer ka ilaj

कैंसर का आयुर्वेदिक इलाज – मौत के मुंह से वापिस आना – कैंसर से बचाव – Only Ayurved Cancer ka ilaj नमस्कार दोस्तों, आज का विषय है कैंसर, कैंसर जिसका नाम सुनते ही व्यक्ति सिहर उठता है और अपने दिन गिनने शुरू कर देता है, ऐसे में महंगे महंगे इलाज और इस के मौजूदा इलाज के साइड इफ़ेक्ट जीवन को …

Read More »

एक्यूप्रेशर द्वारा मिरगी का उपचार

मिरगी के रोग को हमेशा के लिए दूर करने के लिए मस्तिष्क स्नायुस्थान, ह्रदय, जिगर, आमाशय तथा अंतड़ियों के प्रतिबिम्ब केन्द्रो पर प्रेशर देना चाहिए। इसके अतिरिक्त पेट के आठ केन्द्रो पर प्रेशर देने से यह रोग दूर करने में सहायता मिलती है। गर्दन, पीठ की रीड की हड्डी के दोनों तरफ प्रेशर देना भी इस रोग में बहुत लाभदायक …

Read More »

नेत्र-विकारों से बचाव के लिए

नेत्र-विकारों से बचाव के लिए अगर आप चाहते हो की आप नेत्र विकारों से बच्चे रहे तो कीजिये एक आसान सा निचे दिया गया प्रयोग और अगर आपकी दृष्टि कम है और आप चस्मा लगते हो तो भी इस प्रयोग को निरन्तर करते रहने से आप बिना चस्मे के देखने के लायक हो जायोगे। विधि  सुबह दांत साफ करके, मुंह …

Read More »

क्यों है जरूरी विटामिन बी-12

विटामिन बी काम्प्लेक्स में तीन प्रकार के विटामिन होते हैं थाइमिन राइबोफ्लेविन और निकोटिनिक एसिड। इसकी कमी का प्रभाव डॉक्टर जीभ देख कर बता देते हैं। शरीर के लिये जरूरी पोषक तत्वों में से एक है। शरीर को सुचारु रूप से चलाने में विटामिन्स और माइक्रोन्यूट्रीएंट्स बहुत जरूरी होते हैं, पर विटामिन बी एक ऐसा तत्व है, जो मस्तिष्क और तंत्रिका …

Read More »

पलाश के फूलों द्वारा उपचा

पलाश के फूलों द्वारा उपचारः 1.महिलाओं के मासिक धर्म में अथवा पेशाब में रूकावट हो तो फूलों को उबालकर पुल्टिस बना के पेड़ू पर बाँधें। अण्डकोषों की सूजन भी इस पुल्टिस से ठीक होती है। 2.मेह (मूत्र-संबंधी विकारों) में पलाश के फूलों का काढ़ा (50 मि.ली.) मिलाकर पिलायें। 3.रतौंधी की प्रारम्भिक अवस्था में फूलों का रस आँखों में डालने से …

Read More »

अनेक रोगों की एक दवा-जल चिकित्सा पध्दति – Water therapy

Water Therapy

अनेक रोगों की एक दवा-जल चिकित्सा पध्दति – Water therapy Water Therapy – जापान के ‘सिकनेस एसोसिएशन’ द्वारा प्रकाशित एक लेख में इस बात की पुष्टि की गई है की यदि ढंग से पानी का प्रयोग किया जाये तो कई पुराणी तथा नई बीमारियां दूर हो जाती है। जैसे सिरदर्द, उच्च रक्तचाप, मोटापा, मधुमेह, खून की कमी, जोड़ों के दर्द, …

Read More »

थायरायड के बचाव में आयुर्वेदिक, प्रणायाम और एक्यूप्रेशर संबन्धी उपाए।

थायरायड Thyroid के बचाव में आयुर्वेदिक, प्रणायाम और एक्यूप्रेशर संबन्धी उपाए। थायरायड ग्रंथि में विकार आने से और ठीक से काम न करने से थारायड की बीमारी होती है। थायरायड एक अंत: स्रावी ग्रंथि है और सभी मनुष्यों के गले के भीतर मध्यभाग में स्वसंलि के दोनों तरफ इसका एक-एक खंड स्थित रहता है। थायरायड ग्रंथि से थायरोकिसन नमक हार्मोन्स …

Read More »
DMCA.com Protection Status