Thursday , 30 June 2022
Home » Uncategorized (page 4)

Uncategorized

श्वास संस्थान के रोगों से बचाव

श्वास संस्थान के रोगों से बचाव प्राणायाम से श्वास संस्थान व्याधियों से देह मुक्त रहता है। नित्य प्रणयमशील प्राणी नजला-जुकाम, पिंस, दमा, स्वास आदि रोगों से बचा रहता है। प्राणायाम फेफड़ों के दूरवर्ती कोषों में संचित मलों को दूर करता है और फेफड़ों के सभी खण्डों में प्राणवायु प्रदान कर रोगाणुओं को नष्ट कर देता है। विशेष आयर्वेद के अनुसार …

Read More »

अब शराबी व्यक्ति की शराब छुडवाने का सरल आयुर्वेदिक तरीका

अब शराबी व्यक्ति की शराब छुडवाने का सरल आयुर्वेदिक तरीका परिचय – आजकल 70-80 प्रतिशत लोग शराब पिने के आदि हो गये है जिससे उनके परिवार वाले और रिश्तेदार बहुत परेशान होते है .शराबी की शराब पिने की आदत ऐसे आसानी से नही छुटती है ,पहले तो स्वयं शराबी को निश्चय करना होता है ,और कुछ आयुर्वेदिक उपाय से भी …

Read More »

कान की बीमारियों से हमेशा के लिए पाए छुटकारा -अपनाये आयुर्वेदिक उपचार|

कान की बीमारियों से हमेशा के लिए पाए छुटकारा -अपनाये आयुर्वेदिक उपचार| परिचय – कान में बीमारी का होना आम बात हे लेकिन बीमारी जब अधिक बढ़ जाती है तो ये कान में अनेक बीमारियों को आमन्त्रित करती है जिससे व्यक्ति के कान में कान का बहना ,कम सुनाई देना ,कान में कीड़े होना ,कान में दर्द होना आदि बीमारीया …

Read More »

साइनोसाईटिस के लिए घरेलु उपाय

साइनोसाईटिस के लिए घरेलु उपाय ऐसा माना जाता है के साइनोसाईटिस बार बार रोगाणुओं से होने वाला संक्रमण तथा उसके बिगड़ जाने से होने वाला रोग है, सर्दी के समय होने वाले संक्रमण से नाक कि श्लेष्मिक झिल्ली में सूजन आ जाती है, इसके अतिरिक्त सर्दी के विषाणु मयूक्स से मुक्ति दिलाने के लिए निरंतर सक्रिय सीलिया तंतु को भी …

Read More »

त्वचा को निखारने के लिए मुल्तानी मिटी का लेप

त्वचा को निखारने के लिए मुल्तानी मिटी का लेप  पुराने समय से ही मुलताई मिट्टी का लेप सौंदर्य और बालों के लिए किया जा रहा है। पर आजकल इसका इस्तमाल पहले से बहुत कम हो गया है। कहि न कहि इसकी वजा लोगों में कम जागरूकता है। पर आज हम आपको इसके फायदे और प्रयोग विधि के बारे में बताने जा …

Read More »

कान को निरोग बनाए रखने के लिए

कान के रोगों से बचने के लिए आएं जाने एक ऐसी आसान सी विधि जो की आपके कान क लिए है बहोत ही फायदेमंद है, जिसके करने से  आप अपने कानो को स्वस्थ बनाए रख सकते है। सप्ताह में एक बार भी इसका प्रयोग करें तो आपके के कान में कभी तकलीफ नहीं होगी। विधि भोजन करने से पहले कान …

Read More »

मस्तिषिक शक्तिवर्षक प्रयोग

मस्तिषिक शक्तिवर्षक प्रयोग To Increase Brain Power  यह बात तो हम सब लोग जानते है, की आज की पीढ़ी के लोगो की दिमागी ताकत काफी कम है, पहले के लोगो के मुकाबले जैसा के यादाश्त कम होना, जल्दी ही मानसिक थकावट महसूस करना आदि। इसलिए आज हम आपके लिए आयुर्वेदिक घरेलू और आसान सा नुस्खा ले के आएं है, जिसके …

Read More »

शिशुओं को निरोग बनाने वाला ‘हरड़ का घासा’

शिशुओं को निरोग बनाने वाला ‘हरड़ का घासा’ ये तो हम लोग बली भांति जानते ही है के शिशु कमजोर और जल्दी ही किसी बी बीमारी शिकार हो जाने वाले होते हैं। इसी खतरे से बचाये रखने के लिए आज हम आपको एक घरेलू आयुर्वेदिक उपचार बताने जा रहे है, जो की हरड के घसे के बारे में  है, जिसके …

Read More »

शितपित्ती के लिए अनुभवी और सरल आयुर्वेदिक नुस्खे -अवश्य आजमाइए .

शितपित्ती के लिए अनुभवी और सरल आयुर्वेदिक नुस्खे -अवश्य आजमाइए . शरीर पर लाल -लाल चकते उभर आते है .यह कई बार पुरे शरीर में हो जाती है .इसमें खूब खारिस होती है . रोगी चाहता है की खुजलाते रहे .शरीर पर ऐसे चकते उभर आते है ,जेसे मधुमख्खी या ततेया ने काटा हो . 1.- शीत -पित्ती – विधि …

Read More »

असगंध या अश्वगंधा ….!

असगंध या अश्वगंधा ….! अश्वगंधा आयुर्वेद में प्रयोग की जाने वाली एक महत्वपूर्ण जड़ी बूटी हैं। आयुर्वेद में अनेक रोगो में इसका उपयोग किया जाता हैं। अश्वगंधा एक बलवर्धक जड़ी है इसका पौधा झाड़ीदार होता है। जिसकी ऊंचाई आमतौर पर 3−4 फुट होती है। औषधि के रूप में मुख्यतः इसकी जड़ों का प्रयोग किया जाता है। कहीं−कहीं इसकी पत्तियों का प्रयोग भी किया …

Read More »
DMCA.com Protection Status