Tuesday , 22 October 2019
Home » Uncategorized

Uncategorized

उपदंश रोग -के लिए सरल और अनुभूत नुस्खे अवश्य अजमाए

उपदंश रोग -के लिए सरल और अनुभूत नुस्खे अवश्य अजमाए यह बड़ा भयंकर रोग है ,दो प्रकार का होता है एक मनुष्य को जन्म से माता पिता के कारण मिला हो और दूसरा स्वंय अपने कुकर्मो से खरीद लिया हो .दोनों प्रकार के रोगियों के लिए निचे कुछ अनुभूत और सरल योग लिख रहे है 1.अनुभूत योग – यह योग …

Read More »

मूत्राशय तथा व्रक्क रोग के लिए अनुभूत और शीघ्र लाभकारी नुस्खे-अवश्य अजमाए |

मूत्राशय तथा व्रक्क रोग के लिए अनुभूत और शीघ्र लाभकारी नुस्खे-अवश्य अजमाए -व्रक्क पीड़ा –                                                                                            …

Read More »

ल्यूकोरिया का हर्बल उपचार

ल्यूकोरिया का हर्बल उपचार ….. ! श्वेत प्रदर को बीमारी न बनने दें – करें इसका घर पर इलाज … ! * आंवले का किसी न किसी रूप में सेवन करें – यह बैक्टीरिया को खत्म करता है * केला खाने की आदत डाल लें – रोजाना एक केला खाने से श्वेत प्रदर से मुक्ति मिलती है ! * अखरोट …

Read More »

खट्टी डक्‍कार

खट्टी डक्‍कार ! खाने के बाद अक्सर मुंह से निकलने वालीा डक्‍कार ( बर्प )पेट भरे होने का अहसास कराती है तो कभी पेट में गैस होने का … ! गैस के कारण आने वाली डक्‍कार खट्टी होती है – जिससे बदबू भी आती है ! समस्या उस वक्त ज्यादा गंभीर बन जाती है जब इसके कारण पेट में मरोड़ …

Read More »

बच्चा बिस्तर पर पेशाब करे तो करे ये उपाय

बच्चा बिस्तर पर पेशाब  करे तो करे ये उपाय पचास ग्राम अजवायन का चूर्ण कर लें | प्रतिदिन एक ग्राम चूर्ण को रात को सोने से पूर्व बच्चे को खिलाएं | ऐसा कुछ दिनों तक नियमित रूप से करने से यह रोग ठीक हो जाता है | * दो मुनक्कों के बीज निकालकर उसमें १-१ काली मिर्च डालकर बच्चों को …

Read More »

एग्जिमा Eczema

एग्जिमा ५० ग्राम सरसो का तेल लेकर लोहे की कड़ाही में चढ़ाकर आग पर रख दे। जब तेल खूब उबलने लगे तब इसमें ५० ग्राम नीम की कोमल कोपले ( नई पत्तियां ) डाल दे। कोपलों के काले पड़ते ही कड़ाही को तुरंत नीचे उतार ले अन्यथा तेल में आग लगकर तेल जल सकता है। ठंडा होने पर तेल को …

Read More »

एक्यूप्रेशर द्वारा मिरगी का उपचार

मिरगी के रोग को हमेशा के लिए दूर करने के लिए मस्तिष्क स्नायुस्थान, ह्रदय, जिगर, आमाशय तथा अंतड़ियों के प्रतिबिम्ब केन्द्रो पर प्रेशर देना चाहिए। इसके अतिरिक्त पेट के आठ केन्द्रो पर प्रेशर देने से यह रोग दूर करने में सहायता मिलती है। गर्दन, पीठ की रीड की हड्डी के दोनों तरफ प्रेशर देना भी इस रोग में बहुत लाभदायक …

Read More »

नेत्र-विकारों से बचाव के लिए

नेत्र-विकारों से बचाव के लिए अगर आप चाहते हो की आप नेत्र विकारों से बच्चे रहे तो कीजिये एक आसान सा निचे दिया गया प्रयोग और अगर आपकी दृष्टि कम है और आप चस्मा लगते हो तो भी इस प्रयोग को निरन्तर करते रहने से आप बिना चस्मे के देखने के लायक हो जायोगे। विधि  सुबह दांत साफ करके, मुंह …

Read More »

क्यों है जरूरी विटामिन बी-12

विटामिन बी काम्प्लेक्स में तीन प्रकार के विटामिन होते हैं थाइमिन राइबोफ्लेविन और निकोटिनिक एसिड। इसकी कमी का प्रभाव डॉक्टर जीभ देख कर बता देते हैं। शरीर के लिये जरूरी पोषक तत्वों में से एक है। शरीर को सुचारु रूप से चलाने में विटामिन्स और माइक्रोन्यूट्रीएंट्स बहुत जरूरी होते हैं, पर विटामिन बी एक ऐसा तत्व है, जो मस्तिष्क और तंत्रिका …

Read More »
DMCA.com Protection Status