Monday , 23 October 2017
Home » Major Disease » CANCER » क्या कैंसर के मरीजो के लिए शुगर का सेवन जानलेवा है? आइये जाने .

क्या कैंसर के मरीजो के लिए शुगर का सेवन जानलेवा है? आइये जाने .

Why Sugar not soo Good For Cancer Patient ?

कैंसर के रोगियों को शुगर यानि मीठा और अन्य प्रकार के Carbohydrate का सेवन नहीं करना चाहिए इसका कारण है कि कैंसर की कोशिकाओं को जीवित रहने और विकास  करने के लिए ऊर्जा की जरूरत होते है, और कैंसर कोशिकाओ के लिए ऊर्जा का मूल स्त्रोत ग्लूकोस होता है. और Carbohydrate या शुगर मुख्य रूप से टूटने के बाद ग्लूकोस में बदल जाते है और यही ग्लूकोस कैंसर कोशिकाओ को जीवित रहने और विकास करने के लिए अवश्यक ऊर्जा प्रदान करता है.

How Normal Cells Survive in Low Sugar Condition in Cancer

वैसे तो सामान्य कोशिकाओ को भी ऊर्जा के लिए ग्लूकोस की जरुरत होती है लेकिन जब शरीर में ग्लूकोस की कमी होती है तो सामान्य कोशिकाए प्रोटीन, फैटी एसिड और कीटोन बॉडीज (वसा के मेटाबोलिज्म के बाद कटने बॉडीज बनती है ) के मेटाबोलिज्म से ऊर्जा प्राप्त कर लेते है.

अप्रैल 2000 में Nutrition Science News में प्रकाशित हुए एक लेख के अनुसार ये सिद्ध हुआ की कैंसर की कोशिकाओ के मेटाबोलिज्म की प्रकिया सामान्य कोशिकाओ से अलग होती है अधिकतर कैंसर कोशिकाओ में वसा और प्रोटीन के मेटाबोलिज्म के लिए जरुरी एंजाइम नहीं होते है. इसलिए कैंसर कोशिकाए जीवित रहने और विकास करने के लिए पूरी तरह ग्लूकोस पर निर्भर करती है क्योकि कैंसर कोशिका ग्लूकोस का मेटाबोलिज्म करके ऊर्जा बना सकती है. इसका सीधा मतलब ये है कि अगर हम Cancer रोगी की डाइट में Carbohydrate बंद करवा दे जोकि ग्लूकोस का मुख्य सोर्स है तो हम कैंसर की ऊर्जा उत्पादन को रोक सकते है जिससे कैंसर कोशिकाए विकास नहीं कर पायेगी और ऊर्जा नहीं मिलने के कारण कैंसर कोशिकाओ की धीरे धीरे मृत्यु होना शुरू हो जाएगी.

Ketogenic Diet for Cancer patient

इसी फैक्ट को ध्यान में रखते हुए Wurjburg Hospital jermany ने कई क्लिनिकल शोध से 2007 में एक विशेष डाइट तेयार की जिसे Ketogenic Diet कहा गया इस Diet में लगभग

80 से 90% फैट यानि वसा

15  से 20% प्रोटीन

5 से 10% कार्बोहाइड्रेट

इस डाइट में कार्बोहाइड्रेट सबसे कम रखा गया है क्योकि कैंसर कोशिका सिर्फ कार्बोहाइड्रेट (ग्लूकोस ) से ऊर्जा लेते है. जबकि सामान्य कोशिका फैट का मेटाबोलिज्म करके ketone बॉडीज बनाकर उनसे और प्रोटीन से ऊर्जा बना सकती है इस प्रकार की डाइट से कैंसर कोशिकाओ का विकास रूक जाता है , ये डाइट एपिलेप्सी (मिर्गी ) में भी बहुत उपयोगी होती है .

Source and Refrences

https://www.oncologynutrition.org/erfc/healthy-nutrition-now/sugar-and-cancer/

https://beatcancer.org/blog-posts/5-reasons-cancer-and-sugar-are-best-friends/

http://www.livestrong.com/article/538339-should-cancer-patients-avoid-sugar-milk/

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status