Sunday , 24 June 2018
Home » Major Disease » Sugar » मधुमेह के रोगियों के लिए वरदान है एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice ) मात्र 15 दिन में रिजल्ट देखिये !!!

मधुमेह के रोगियों के लिए वरदान है एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice ) मात्र 15 दिन में रिजल्ट देखिये !!!

आयुर्वेदिक डायबिटीज की दवा, आयुर्वेदिक शूगर की दवा, एंटी डायबिटिक के फायदे

किसी भी चीज से परेहज ना करना, कुछ भी खा पी लेना और इसके इलावा खाने पिने की गलत आदतें होना एक प्रकार से शुगर के रोग को बुलावा देना ही है। डायबिटीज 2 तरह की होती है type 1 और type 2.

  1. टाइप 1: ये डायबिटीज अधिकतर छोटे बच्चों या फिर 20 साल से कम उम्र के लड़कों में होती है। मधुमेह टाइप 1 में शरीर में इंसुलिन नहीं बनता। एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice )
  2. टाइप 2: जो लोग शुगर से ग्रस्त होते है उनमें से अधिकतर टाइप 2 से ही प्रभावित होते है। इसमें बॉडी में इंसुलिन तो बनता है पर जो बनता है या तो वो ठीक से काम नहीं करता या  फिर शरीर की जरुरत के अनुसार नहीं बनता। एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice )

Anti Diabetic Juice , एंटी डायबिटिक रस, आयुर्वेदिक डायबिटीज की दवा, आयुर्वेदिक शूगर की दवा, एंटी डायबिटिक के फायदे, Ayurveda medicine for diabetes

शुगर होने के कारण: Causes of diabetes in hindi

  1. जो लोग जंक फ़ूड जादा खाते है उनमें शुगर होने की सम्भावना जादा होती है। इसका कारण ये है की खाने की ऐसी चीजों में fat अधिक होता है जिससे शरीर में जरुरत से जादा कैलोरी बढ़ जाती है और मोटापा बढ़ने लगता है, शरीर में प्रयाप्त मात्रा में इंसुलिन नहीं बन पाता और शुगर का लेवल बढ़ने लगता है।
  2. डायबिटीज एक अनुवांशिक (genetic) रोग भी है मतलब अगर परिवार में माता पिता को मधुमेह है तो उनके बच्चों को भी ये रोग होने की संभावना अधिक होती है। एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice )
  3. मोटापा और जरुरत से जादा वजन वाले लोगों को डायबिटीज होने का खतरा अधिक होता है। जाने मोटापा कम करने के उपाय
  4. शारीरिक श्रम ना करना भी diabetes reason में से एक है। कुछ लोगों की दिनचर्या ऐसी होती है की वे एक जगह बैठ कर काम करते है और ना ही व्यायाम के लिए समय निकालते है। एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice )
  5. हर समय तनाव में रहना या फिर डिप्रेशन से प्रभावित होना। एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice )
  6. धूम्रपान, तंबाकू या कोई दूसरा नशा करने से भी शुगर हो सकती है। एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice )
  7. Sugar ka karan दवाइयों का जादा सेवन करना भी हो सकता है। अक्सर कोई रोग होने पर हम बिना डॉक्टर की सलाह के दवा लेने लगते है। कोई भी अंग्रेजी दवा बिना सलाह के लंबे समय तक खाना भी नुकसान कर सकता है।
  8. जादा चाय, कोल्ड ड्रिंक्स, मीठा और चीनी का सेवन करना। एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice )

Anti Diabetic Juice , एंटी डायबिटिक रस, आयुर्वेदिक डायबिटीज की दवा, आयुर्वेदिक शूगर की दवा, एंटी डायबिटिक के फायदे, Ayurveda medicine for diabetes

शुगर (मधुमेह, डायबिटीज) के लक्षण – Diabetes Symptoms in Hindi

मधुमेह के दौरान आपका शरीर आमतौर पर निर्जलित हो जाता है। निर्जलीकरण में आपको बहुत प्यास लगती है।

रक्त में अतिरिक्त शुगर की उपस्थिति के कारण गुर्दे रक्त को साफ करने के लिए अधिक काम करने लगते हैं और मूत्र के द्वारा अतिरिक्त शुगर को शरीर से बाहर निकालते हैं। इस कारण बार बार पेशाब आता है। अत्यधिक प्यास लगना और बार बार पेशाब आना यह मधुमेह होने के प्रमुख लक्षण हैं। एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice )

कोशिकाओं में ग्लूकोज़ नही पहुंचने के कारण शरीर की ऊर्जा आपूर्ति पूरी तरह से नही हो पाती है और मधुमेह का रोगी हमेशा थकान महसूस करता है और उसे जल्दी भूख लगने लगती है।

मधुमेह से पीड़ित दोनों पुरुषों और महिलाओं को हाथ और पैर की उंगलियों के बीच, सेक्स अंगों के आसपास और स्तन के नीचे यीस्ट इनफ़ेक्शन हो सकता है। एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice )

यदि रक्तधारा में रक्त शर्करा का स्तर ठीक से संतुलित नहीं होता है, तब यह तंत्रिका या किसी भी अंग की क्षति का कारण बन सकता है जिससे आपके शरीर के घावों को ठीक होने में मुश्किल होती है। एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice )

वज़न में कमी, मतली और उल्टी, बाल गिरना, धुँधली दृष्टि, त्वचा का सूखापन या खुजली होना मधुमेह के कुछ अन्य लक्षण हैं। अगर इसका समय से इलाज़ ना किया जाए तो गुर्दे की विफलता, दिल का दौरा या स्ट्रोक, अंधापन, तंत्रिका क्षति आदि के रूप में गंभीर जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है। एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice )

यह एक सामान्य धारणा है कि चीनी मधुमेह का कारण है, लेकिन मधुमेह के पीछे का असली कारण स्टार्च है। पाचन के दौरान, स्टार्च ग्लूकोज़ में टूट जाता है जो चीनी का एक प्रकार है। इसलिए मधुमेह के रोगी चीनी खा सकते हैं पर उचित मात्रा में। अपने आहार में अपने कार्बोहाइड्रेट को नियंत्रित कर अपने मधुमेह को नियंत्रित करें। एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice )

मधुमेह की बढती समस्या को देखते हुए  Only ayurved आप के लिए लाया है एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice ) यह मधुमेह के रोगियों Diabetic के लिए है वरदान मात्र १ महीने में चोकने वाले रिजल्ट मिल सकते है .

Anti Diabetic Juice , एंटी डायबिटिक रस, आयुर्वेदिक डायबिटीज की दवा, आयुर्वेदिक शूगर की दवा, एंटी डायबिटिक के फायदे, Ayurveda medicine for diabetes

एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice ) जामुन, करेला, नीम, आंवला, हरड, बहेड़ा, गुडमार, एलोवेरा, अश्वगंधा जैसी बेहतरीन उच्च गुणवत्ता वाले जडीबुटियों का बेजोड़ मिश्रण Only ayurved आप के लिए लाया है.

यह डायबिटिक रोगियों के लिए बोहोत ही कारगर रसायन है जो डायबटीज को नियंत्रण करके सम्पूर्ण शारीर को शक्तिवान रखता है .

एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice ) को भोजन के आधे घंटे पहले 30 M.l. एक कप पानी में डालकर सेवन करे कुछ ही दिनों में आप खुद इस का रिजल्ट देख सकेंगे .

परहेज

  • आप को चाय चाहे वह मीठी हो या फीकी बिलकुल नहीं पीनी है, ग्रीन टी ले सकते है .
  • मधुमेह को कंट्रोल करने के लिए अपने आहार को मॅनेज करना सबसे अच्छा तरीका है। आप अपने आहार में करेला, जौ, गेहूं, हल्दी, काली मिर्च, लहसुन, सन बीज, ब्लू बेरी और जामुन आदि शामिल करें।
  • सामान्य चावल के बजाए पके हुए चावल खाएं और कफ बढ़ाने वाले आहार (घी, दही, चावल, आलू आदि) से बचें। हर सुबह ग्रीन टी या तुलसी की चाय का सेवन करें।
  • खाली पेट ब्लूबेरी के पत्ते खाना शरीर में रक्त शर्करा के स्तर को कम करने के लिए पारंपरिक आयुर्वेदिक उपाय है।
  • पर्याप्त और गहरी नींद ले .
  • धुम्रपान और शराब का सेवन न करें.
  • तनाव से बचे .

इस की कीमत मात्र 320 रूपए है, और अब तक हजारो लोग एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice ) का इस्तेमाल कर रहे है और को जिस ने भी एंटी डायबिटिक रस  ( Anti Diabetic Juice ) लिए है उसे फायदा हुआ है जिस के हम जल्द ही Testimonial पेश करेंगे .

एंटी डायबिटिक जूस कहाँ से मिलेगा

आपके नजदीकी Only Ayurved Dealer list और उनकी Location

बिहार

पटना – 7677551854, 7480099296

मुजफ्फरपुर – 7634950644

छत्तीसगढ़

बिलासपुर – 9584891808, 9926758959, 9300333438

रायपुर – 9644133772

दुर्ग भिलाई – Dr. साहू-  9691305217

असम

सिलचर – 9954000321

महाराष्ट्र

मालेगांव (नासिक) – डॉ. फरीद शेख 9860785490

धुले – 9860704470

नासिक – 9270928077

पुणे – 9209211786

अकोला – 7020579564

वर्धा – 9579997503

कल्याण – 8454050864

टिटवाला – 9821315415

मलाड – 9967293444

घाटकोपर – 07738350032

बोरीवली – 9004316923

भंडारा – 9422174853

श्रीरामपुर (खंडाला) – 8888283393

औरंगाबाद – 8208266068

विरार – 9892967369

अमरावती – 9765332255

कर्नाटक – Karnataka

धारवाड़ (Dharwad) – 9844984103

बैंगलोर (Bangalore) – 7019098485

गुजरात

अहमदाबाद – 7874559407

द्वारिका – 9033790000

चिकली – 9427869061

अमरेली – 9427888387

अंकलेश्वर – भरूच – 8460090090

बड़ोदा – 9725245318

सूरत –  8866181846, 9879157588

भुज / मुंद्रा  – 9974576143

मध्यप्रदेश

भोपाल – 7987552689

इटारसी – 6260342004

ग्वालियर – 9009056000

उत्तर प्रदेश

मेरठ – 9871490307, 8449471767

हाथरस ( U. P. ) –  9997397043, 7017840020

मथुरा – 9259883028

अलीगढ – 9027021056

आगरा – 9358355545

कासगंज – 7409463111

फ़िरोज़ाबाद – 8445222786

मैनपुरी – 8449601801

इलाहाबाद – Dr. C.P. Singh – 9520303303

गोरखपुर – 9936404080

दिल्ली –  NCR

सराय कालें खां –  9015439622, 9871490307

सुभाष नगर – 9911006202

गाज़ियाबाद – 9719077555

Greater Noida – 9310299100

गुडगाँव – 9310330050

हरियाणा

हसनपुर पलवल – 9050272757

पानीपत – 9812126662

बाढ़डा ( चरखी दादरी ) – 9813210584

फ़रीदाबाद – 9315154682

चंडीगढ़ – 9877330702

पंजाब

मोगा – 9988009713

बठिंडा – 9779566697

कोट कपूरा – 9872320227

मलोट – 9877159004

मलेर कोटला – 9872439723

लुधियाणा – 9803772304

जालंधर – 9814832828

अमृतसर – 8872295800

होशियारपुर उड़मुड टांडा – 9803208718

गुरदासपुर – 9815483791

मोहाली – 09216411342

मुकेरियां – 9815296322

चंडीगढ़ – 9877330702

राजस्थान

जयपुर – 8290706173, 8005648255

जोधपुर – 8005724956

अजमेर – 7976779225

सिरोही – 9875238595

टोंक – 9509392472

अजीतगढ़ – 8005648255

संगरिया – 7597714736

हिमाचल प्रदेश

नालागढ़ – 9816022153

चिन्तपुरणी – 9816414561

डिस्ट्रीब्यूटर बनने के लिए आप निमिन्लिखित जगहों पर संपर्क कर सकते हैं.

राजस्थान – 8005648255

उत्तर प्रदेश – 7017840020

पंजाब – 9779566697

दिल्ली – 9871490307

गुजरात – 9033790000, 8866181846

महाराष्ट्र – 9860785490, मुंबई – 8454050864

छत्तीसगढ़ – 9584891808

मध्य प्रदेश  – 7987552689

हिमाचल प्रदेश – 9816022153

हरयाणा – 9315154682

इसके इलावा आप 7014016190 पर संपर्क कर सकते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status