Tuesday , 20 August 2019
Home » योगासन (page 2)

योगासन

कपालभाती प्राणायाम (Kapalbhati Pranayam) विधि, लाभ और सावधानियाँ –

कपालभाती प्राणायाम (Kapalbhati Pranayam) विधि, लाभ और सावधानियाँ – कपालभाती प्राणायाम / Kapalbhati Pranayam मस्तिष्क के अग्र भाग को कपाल कहते हैं और भाती का अर्थ ज्योति होता है। कपालभाती प्राणायाम को हठयोग के षट्कर्म क्रियाओं के अंतर्गत लिया गया है। ये क्रियाएं हैं:-1.त्राटक 2.नेती. 3.कपालभाती 4.धौती 5.बस्ती 6.नौली। आसनों में सूर्य नमस्कार, प्राणायामों में कपालभाती और ध्यान में ‍साक्षी …

Read More »

जमीन पर बैठकर खाने के अनेक स्वास्थ लाभ –

जमीन पर बैठकर खाने के अनेक स्वास्थ लाभ – “नीचे बैठकर खाना!! ना बाबा ना, कितना आउटडेटेड और असभ्य सा तरीका है…..” जब कभी कोई आपको नीचे बैठकर खाने के लिए कहता है तो आपके दिमाग में यही शब्द घूमते होंगे कि कहीं किसी ने आपको नीचे बैठकर खाना खाते हुए देख लिया तो ये आपके लिए कितना शर्मिंदगी भरा …

Read More »

बिना दवा, बिना ईलाज के ! कैसे रहें स्वस्थ – जाने ..

बिना दवा, बिना ईलाज के ! कैसे रहें स्वस्थ – जाने .. अगर प्रकृति का इरादा आपको जीवित रखने का नहीं होता, तो आप मर गए होते। अब भी आप उन दवाओं के कारण, जो आपने ली हैं या हेल्थ चेकअप और अपने अस्पताल की सलाह के कारण जीवित नहीं हैं, बल्कि इसलिए जीवित हैं क्योंकि प्रकृति अभी आपको जीवित रखना …

Read More »

स्वस्थ जीवन की कुंजी प्राणायाम

स्वस्थ जीवन की कुंजी प्राणायाम  प्रणायाम योग का ही एक हिस्सा है जो की दो शब्दों से मिल के बना है प्राण और आयाम, इसका अर्थ है की स्वास को लम्बा करना। प्रणायाम को स्वस्थ जीवन की कुंजी भी कहा गया है क्योंकि इसके नित्य प्रयोग से हम अपने आप को स्वस्थ बनाए रख सकते है। अब जानते है की प्रणायाम …

Read More »

क्या आप जानते हैं मंत्र शक्ति और चमत्कारी बीजमंत्रों के बारे में ….

क्या आप जानते हैं मंत्र शक्ति और चमत्कारी बीजमंत्रों के बारे में …. जब हम किसी समस्या से परेशान होते है तो हमें लगता है की काश कोई ऐसा चमत्कार हो जाए की हमारी समस्या का हल निकल आये. कभी-कभी ज़िंदगी में कुछ नहीं होता सिवाय एक आशा के. समस्या से उबारने के लिए एक छोटी सी आशा की किरण ही …

Read More »

जैसा नाम वैसा काम शीतली प्राणायाम…..जानिए स्वास्थ लाभ

जैसा नाम वैसा काम शीतली प्राणायाम…..जानिए स्वास्थ लाभ जैसा नाम वैसा काम। ये कहावत शीतली प्राणायम के लिए एकदम सटीक बैठती है। शीतली प्राणायाम से गर्मी के मौसम में राहत पाई जा सकती है। शीतली प्राणायाम प्राणायाम ना केवल शीतलता प्रदान करता है बल्कि मन की शांति भी देता है| शरीर को ठंडक पहुंचाने के कारण इसे कूलिंग ब्रीथ कहा …

Read More »

Vajrasana Benefits in hindi – वज्रासन के आश्चर्यजनक फायदे

vajrasana

Vajarasan in hindi बहुत हेवी डाइट के बाद तुरंत सोने या बैठकर टीवी देखने से हमें डाइजेशन संबंधी समस्याएं हो ही जाती हैं। ऐसे में अगर आप रोज खाने के बाद टीवी देखने या तुरंत सोने के बजाय वज्रासन को अपने रुटीन में शामिल करेंगे तो यकीनन आप डाइजेशन से संबंधित समस्याओं से दूर रहेंगे। Vajrasana – वज्रासन को आप …

Read More »

सर्वांगासन योग की विधि और फायदे।

सर्वांगासन योग की विधि और फायदे। सर्वांगासन का नाम ही अपने आप में सारी कहानी बयान कर देता है, सर्वांगासन अर्थात सर्व अंग आसन, इस आसन को करने से शरीर के सभी अंगो में रक्त परिसंचरण (ब्लड सर्कुलेशन) हो जाता है, पांवों से ले कर सर तक खून गतिमान हो कर शरीर के हर अंग को नयी उर्जा प्रदान करता है, …

Read More »

भस्त्रिका प्राणायाम एक प्रभावशाली योग

भस्त्रिका प्राणायाम एक प्रभावशाली योग भस्त्रिका प्राणायाम अस्थमा, टीबी, कैंसर जैसे रोगों में उपयोगी हैं, ये वजन और पेट की चर्बी को कम करता हैं, फेफड़ो की कार्यक्षमता बढ़ा मन और प्राण को स्फूर्ति देता हैं।  भस्त्रिका जिसका अर्थ ‘ धौकनी ‘ हैं। भस्त्रिका एक संस्कृत शब्द है जिस प्रकार एक लोहार धौकनी की सहायता से तेज हवा छोडकर उष्णता निर्माण कर …

Read More »

पादपश्चिमोत्तानासन विधि और लाभ।

पादपश्चिमोत्तानासन विधि और लाभ। पादपश्चिमोत्तानासन इस आसन से नाड़ियों की विशेष शुद्धि होकर हमारी कार्यक्षमता बढ़ती है और शरीर की बीमारियाँ दूर होती हैं। बदहजमी, कब्ज जैसे पेट के सभी रोग, सर्दी-जुकाम, कफ गिरना, कमर का दर्द, हिचकी, सफेद कोढ़, पेशाब की बीमारियाँ, स्वप्नदोष, वीर्य-विकार, अपेन्डिक्स, साईटिका, नलों की सुजन, पाण्डुरोग (पीलिया), अनिद्रा, दमा, खट्टी ड्कारें, ज्ञानतंतुओं की कमजोरी, गर्भाशय के …

Read More »
DMCA.com Protection Status