Wednesday , 14 November 2018
Home » Health » fever » सभी प्रकार के बुखार के लिए गिलोय मुनक्का और सौंफ।

सभी प्रकार के बुखार के लिए गिलोय मुनक्का और सौंफ।

सभी प्रकार के बुखार के लिए गिलोय मुनक्का और सौंफ।

Home remedy for fever in hindi.

बुखार एक सामान्य शरीरक प्रक्रिया है, जिस से शरीर अपने अंदर जमे हुए अपशिष्ट पदार्थों को अपने तरीके से बाहर निकालने की कोशिश करता है, मगर कभी कभी ये बहुत अधिक समय तक बना रहता है तो खतरनाक हो सकता है, चाहे कितना भी पुराना या किसी भी प्रकार का हो ये तीन प्रयोग हर प्रकार के बुखार में रामबाण हैं। इन में से किसी भी प्रयोग को अपनाने से बुखार बिलकुल सही हो जायेगा। आइये जाने इन प्रयोगों के बारे में।

बुखार के लिए गिलोय (गुडुच)।

दो तोला (लगभग 20 ग्राम) कूटी हुयी गुडुच (गिलोय) को रात्रि को थोड़े पानी में भिगो कर सुबह मसल छानकर पीने से सब प्रकार के बुखार चाहे कितना भी पुराना हो सब में लाभ होता है।

बुखार में मुनक्कों का प्रयोग।

30 से 40 मुनक्कों को लगभग 250 ग्राम पानी में रात को भिगो दें। सुबह उसे खूब उबालकर उसके बीज निकालकर खा जाएँ और वही पानी पी जाएँ। इससे शारीर में बल और स्फूर्ति का संचार होगा। रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ेगी और ज्वर का उन्मूलन हो जायेगा।

बुखार में सौंफ का प्रयोग।

रात्रि में 25 ग्राम सौंफ पानी में भिगोकर रखें। सुबह उसी पानी में सौंफ को उबाल लें। उबल जाने पर सौंफ को खूब मसलकर उसका पानी छान लें। इस पानी में 4 मूंग के भार के बराबर फुलाई हुयी लाल फिटकरी का चूर्ण डालकर सुबह खाली पेट 40 दिन तक पीने से पुराने से पुराना, किसी भी प्रकार का बुखार हो मिटता है। इस प्रयोग से 20 वर्ष पुरानी कब्जियत भी दूर होती है।

ऐसे में शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने की बहुत आवश्यकता होती है, इसके लिए प्राकृति ने हमको 3 विशेष चीजें दी हैं जो आयुर्वेद के साथ एलॉपथी जगत में भी विशिष्ट स्थान रखती हैं. इनमे हैं गिलोय, तुलसी और पपीते के पत्ते. ये तीनों चीजें ही हमको स्वास्थ्य का भरपूर खजाना देते हैं. इन्ही सब गुणों को देखते हुए Only Ayurved ने इन तीनो को मिलाकर अमृत रस निकाला है, जिसको सिर्फ 3 से 5 दिन पीने से आपका किसी भी प्रकार का वायरल फीवर, स्वाइन फ्लू, डेंगू, मलेरिया इत्यादि में आराम हो सकता है. इसको आप दिन में 30 – 30 ml 3 बार गर्म या गुनगुने पानी के साथ लीजिये. और अनाज इत्यादि से परहेज करवाएं. सिर्फ फलाहार पर रहें. और चाय तो बिलकुल बंद कर दीजिये. Amrit Ras, Swine flu ka ilaj, dengue ka ilaj

इस के आलावा यह अमृत रस  रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में एवं स्वाइन फ्लू, डेंगू, Viral Fever,  typhoid, डायबिटीज , सुजन, गठिया, आर्थराइटिस, सोरैसिस, एक्जिमा, मुहासे, इत्यादि के लिए बेहद लाभकारी है एवं यह प्राकृतिक रक्त शोधक भी है .

गिलोय पपीता और तुलसी से बना Amrit Ras, Swine Flu ka ilaj

इन सभी चीजो को देखते हुए Only Ayurved ने इन तीनो चीजो का स्वरस निकला है, जिसमे गिलोय पपीता और तुलसी का स्वरस है यह अमृत रस छोटे मोटे बुखार से ले कर के किसी भी प्रकार के फ्लू से लड़ने में बेहद सक्षम है भयंकर रोगों में इस का सेवन 30 Ml. सुबह शाम एक गिलास पानी में और स्वस्थ व्यक्ति जो कबी बीमार नहीं होना चाहता वो इस का एक चम्मच सुबह शाम सेवन करें.

इस के आलावा यह अमृत रस  रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में एवं स्वाइन फ्लू, डेंगू, Viral Fever,  typhoid, डायबिटीज , सुजन, गठिया, आर्थराइटिस, सोरैसिस, एक्जिमा, मुहासे, इत्यादि के लिए बेहद लाभकारी है एवं यह प्राकृतिक रक्त शोधक भी है. Amrit Ras, Swine Flu ka ilaj, dengue ka ilaj

Amrit Ras कहाँ से मिलेगा. Swine Flu ka ilaj, dengue ka ilaj

अमृत रस की Franchisee लेने के लिए आप Only Ayurved के CEO चेतन सिंह जी से संपर्क कर सकते हैं 7014016190 और अगर आप ये प्रोडक्ट लेना चाहते हैं तो आप निमिन्लिखित जगहों पर संपर्क कर सकते हैं.

जयपुर – 8290706173

जोधपुर – 8432863869

सिरोही – 9875238595

टोंक – 9509392472

अजीतगढ़ ( सीकर ) – 8005648255

चिकली नवसारी (गुजरात)- 9427869061

पानीपत – 9812126662

मोगा – 9041389897 –  9988009713-

बठिंडा – 9779566697

मलेर कोटला – 9872439723

मालेगांव (महाराष्ट्र) – 9860785490

दिल्ली – सराय कालें खां – 9015439622, 9971406805, 9871490307

Amrit Ras, अमृत रस, Amrit Ras By Only Ayurved, Amrit ras ke fayde, Swine flu ka ilaj, dengue ka ilaj

 

2 comments

  1. please suggest suitable treatment for removal of stone in urinal pipe

  2. Bar bar typhoid ho rha hai koi iska permanent upay bataye ye har sal repeat hota hai garmi me davai lo thik par phir ho jata hai

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status