Tuesday , 19 June 2018
Home » Major Disease » हृदय » Heart Failure » Heart Failure से मरते हुए व्यक्ति को जीवन दान देगा ये पौधा – Only Ayurved Exclusive

Heart Failure से मरते हुए व्यक्ति को जीवन दान देगा ये पौधा – Only Ayurved Exclusive

Digitalis in Heart Failure in hindi, Best remedy for heart failure, digitalis ke fayde, digitalis uses in hindi, digitalis in hindi

CHF (CONGESTIVE HEART FAILURE)

Heart Failure का मतलब ये नहीं है कि हृदय ने काम करना बंद कर दिया हैं। जबकि इसका मतलब है की हृदय का रक्त को पंप करने का तंत्र सामान्य से कमजोर हो गया हैं, जिसकी वजह से हृदय शरीर के विभिन्न भागो तक पूर्ण रूप से ऑक्सीजन और पोषक तत्व नहीं पंहुचा सकता हैं। जब हमारे हृदय को अपनी जरूरत के हिसाब से रक्‍त नहीं मिलता, तो उस स्थिति को कंजेस्टिव हार्ट फैल्‍योर या सीएचएफ CHF (CONGESTIVE HEART FAILURE) कहते हैं। इस अवस्‍था में दिल के आस-पास की नसों के जरिए खून का संचार सही प्रकार से नहीं हो पाता। कंजेस्टिव हार्ट फैल्‍योर का सबसे ज्‍यादा असर फेफड़ों, पैर और पेट पर पड़ता है। जिसके कारण किडनी शरीर में पानी और साल्ट को बचा कर रखती हैं, जब शरीर में Fluid और साल्ट ज्यादा हो जाता हैं और ये Fluid हाथ, पैरों, टखनो,फेफड़ो में जमा होना शुरू हो जाता हैं। जिस को साधारण भाषा में पानी भरना बोलते हैं. इस सम्पूर्ण परिस्थित को CHF या CONGESTIVE HEART FAILURE कहते हैं। Digitalis for heart failure in hindi.

आज Only Ayurved में हम एक ऐसी औषधि की चर्चा करने जा रहे हैं जो CHF या CONGESTIVE HEART FAILURE के ईलाज में काफी उपयोगी है। इस औषिधि के बारे में अभी तक internet पर हिंदी भाषा में किसी ने कोई चर्चा नहीं की और इंग्लिश में भी कहीं कुछ ख़ास नहीं मिलता है, आज हमारे मित्र प्रिय बलबीर सिंह जी शेखावत जो के सीकर जिले में फार्मासिस्ट के रूप में अपनी सेवाएँ दे रहें हैं बता रहें हैं इसकी विस्तृत जानकारी.

[जानिए Heart Rebooster के बारे में – यहाँ दबाएँ]

इस औषिधि का नाम है Digitalis जो कार्डियक ग्लाइकोसाइड की श्रेणी में आता है. आज जानेंगे इस औषिधि की विशेषता जो आपके हार्ट को पुनर्जीवित कर सकती है. तो आइये जाने Digitalis For heart failure in hindi.

Digitalis in HEART FAILURE

Digitalis का वैज्ञानिक नाम Digitalis Purpurea हैं जो Scrophulariaceae परिवार का सदस्य हैं।

English name- Digitalis, Fox glove, Lady’s glove, Common Foxglove, Purple foxglove

Synonyms of Digitalis  :
Tila pushpi (तिलपुष्पी) – The flower resembles like sesame.
Hritpatri (हरितपत्री) – The leaf is heart shaped.

Chemical constituents of Digitalis purpurea:

digitalis में मुख्य रूप से पाए जाने वाले कार्डियक ग्लाइकोसाइड हैं ।
Digitoxin, Tigogenin, Digitalin, Gitonin,, Gitosine, Digitoxigenin, Allonegitostin, Digipronin, Digiprolactone, Purpogenin, Purnalosides A&B, Digoxin etc Digitalis in heart failure

Mechanism of Digitalis in CONGESTIVE HEART FAILURE

Digitalis हृदय में पाए जाने वाले सोडियम-पोटाशियम ATP-ase पंप  को बाधित करता हैं। जिससे कोशिकाओं में सोडियम की मात्रा बढ़ जाती हैं जो की कैल्शियम आयन की मात्रा बढ़ा देता हैं। ये कोशिकाओं में बढ़ा हुआ कैल्शियम आयन हृदय में संकुचन को बढ़ता हैं जिससे रक्त का संचरण ठीक हो जाता हैं और edema में भी राहत मिलती हैं यानि शरीर के कई भागो जैसे हाथ, पैरों , टखनो,फेफड़ो में जमा पानी या Fluid भी कम होना शुरू हो जाता हैं। Digitalis for heart failure in hindi

Dosage of Digitalis in hindi

Digitalis की पत्तियों को मुख्य रूप से उपयोग में लिया जाता हैं पत्तियों को 60°C से कम तापमान पर सुखाया जाता हैं। Leaf powder- initial Dose अर्थात तुरंत राहत के लिए – 1 to 2 gm और इसके बाद रोगी की maintenance Dose – 100 mg (रोजाना 1 ग्राम का दसवा हिस्सा.) Digitalis in hindi

Allopathy में Digitalis

Allopathy में इसकी काफी दवाएं Digoxin के नाम से आती है, आप अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क कर के किसी विश्वसनीय कंपनी के बारे में पूछ सकते हैं.

 

Digitalis Uses in hindi

Digitalis को मुख्य रूप से निम्नलिखित हृदय रोगों में उपयोग किया जाता हैं।

  • CHF Congestive Heart Failure
  • Atrial fibrillation- ये वो परिस्थिति होती हैं जिसमे हार्ट रेट बहुत बढ़ जाती हैं।
  • Atrial flutter- इसमें हार्ट रेट बहुत ज्यादा हो जाती हैं वो परिस्थिति जब हृदय की धड़कन 250–350 heartbeats per minuteहो जाए।

Adverse effects of Hrutpatri or Digitalis

Digitalis हृदय की गति को प्रभावित करता हैं। Heart Beat कम या ज्यादा कर सकता हैं, उल्टी, दस्त लार टपकना इत्यादि इसके साइड इफेक्ट हैं। इसमें मोजूद digitoxin काफी toxic हो सकता हैं। शरीर में पोटाशियम की कमी होने पर Digitalis की Toxicity के चांसेस ज्यादा बढ़ जाते हैं इसलिए पोटाशियम की कमी Digitalis थेरेपी में कभी भी नहीं होनी चाहिए। अर्थात जिन मरीजों में पोटैशियम की कमी है वो इसका सेवन ना करे, पोटैशियम बढाने के लिए केला, नारियल पानी इत्यादि का सेवन करे. Digitalis for heart failure in hindi.

Disclaimaer

ये पोस्ट आपके ज्ञानवर्धन के लिए हैं किसी भी दवा को शुरू या बंद करने से पहले उचित वैद्य या डॉक्टर की राय जरुर ले।

नोट : Digitalis का उपयोग हमेशा किसी वैद्य या डॉक्टर की देख रेख में करना चाहिए क्योकि इसके उपयोग में काफी सावधानी बरतने की जरुरत होती हैं। Digitalis in hindi

Refrences

Text book of Pharmacognosy by kokate,purohit,gokhale thirty third edition page no 194

One comment

  1. Hi Sir, Thanks for the valuable information.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status