Sunday , 16 December 2018
Home » Major Disease » Kidney » ये है भारतीय Ginseng जो किडनी Failure और Dialysis से किसी को भी बचा सकता है

ये है भारतीय Ginseng जो किडनी Failure और Dialysis से किसी को भी बचा सकता है

Kidney failure होना  Chronic kidney Diseases अंतिम चरण होता है, मुख्यता kidney फ़ैल होने का कारण Diabetes और High Blood Pressure को माना गया है. इसके इलावा कई प्रकार के Genetic Disorder और किडनी से रिलेटेड बीमारिया जैसे urinary Tract Disorder, Nephrotic syndrome आदि भी आगे जाकर Kidney Failure का मुख्य कारण बनती है. इसके अतिरिक्त Heart attack और रक्तवाहिनियो में अचानक आई सिकुडन भी किडनी फ़ैल होने का कारण बन सकती है

आज हम Only Ayurved में आपको इस प्रकार की प्राकर्तिक ओषधि के बारे में बताने जा रहे है जो न केवल किडनी की बीमारिया होने से रोकती है,बल्कि Chronic Kidney Diseases(CKD) को भी ठीक कर सकती है.

Ayurved में Ashwagandha(Withania Somnifera) या जिसको Indian Ginseng भी कहते है,Ashwagandha में पाए जाने वाले रसायन Withaferin A और Withanolide D इतने अदभुद  है कि ये Ashwagandha  को kidney की बीमारियों रोकने और किडनी को बचाने के लिए एक बहुत ही अच्छे विकल्प  के तोर पर खड़ा करते है.

Kidney ReActivator बचा सकता है आप को Kidney Transplant और Dialysis से !!!

 

How Ashwagandha work in Chronic KIdney diseases

Ashwagandha in Diabetec Nephropathy

Diabetes ना केवल किडनी को नुकसान पहुचाती है बल्कि किडनी के फ़िल्टर सिस्टम को भी खराब कर देता है .जिससे Albumin जैसे protien भी पेशाब  में आना शुरू हो जाते है अगर Diabetes का पहले ही पता लग जाये तो किडनी को खराब होने से बचाया जा सकता है अगर Ashwagandha का लगातार सेवन किया जाता है तो ये blood glucose लेवल को कम करता है इसके साथ साथ insulin senstivity को भी बढाता है जिससे रक्त में ग्लूकोस की मात्रा सामान्य हो जाती है .

Ashwagandha lower High Blood Pressure

जब blood pressure बढ़ जाता है तो किडनी की रक्तवाहिनिया धीरे धीरे नष्ट होना शुरू हो जाती है .जिससे किडनी का फिल्टर system गड़बड़ा जाता है जिससे किडनी अतिरिक्त फ्लूइड फ़िल्टर नहीं कर पाती जिससे  BP और बढ़ता जाता है शोध में पता लगा है की Ashwagandha की जड़ का पाउडर दूध के साथ लेने से बढ़ा हुआ BP कम हो जाता है .

Ashwagandha as diuretic

Ashwagandha के सेवन से पेशाब खुलकर लगता है ,जिससे किडनी की फिल्ट्रेशन की प्रकिया सही रहती है और हानिकारक पदार्थ भी शरीर से यूरिन के द्वारा बाहर निकल जाते है जिससे edema (शरीर में पानी भर जाना ) की समस्या भी नहीं रहती है .

Ashwagandha decreases blood cholesterol

Ashwagandha blood में bad cholesterol की मात्रा को कम करता है . जिससे BP सामान्य रहता है और रक्त का सर्कुलेशन बिना रुकावट के होने से किडनी की फिल्ट्रेशन रेट बढ़ जाती है .

Ashwagandha Fight Toxicity

दवाओ की अधिक मात्रा लेने से, वातावरण में ज्यादा टोक्सिन होने से ये हमारे शरीर में जाकर किडनी पर अतिरिक्त दबाव डालते है जिससे Nephrotoxicity होने के चांसेस बढ़ जाते है. जिससे किडनी को नुकसान होता है और हमारे शरीर का इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस गड़बड़ा जाता है Ashwagandha इस प्रकार के toxins को ख़तम करता है

Ashwagandha protect Kidney from Free Radicals

Ashwagandha एक Antioxidant के तरह काम करता है Antibiotic की ज्यादा मात्रा का सेवन करने से उनके साइड इफ़ेक्ट के रूप में toxic फ्री रेडिकल बनते है जो किडनी को बहुत नुकसान पहुचाते है ये फ्री रेडिकल्स किडनी की बीमारियों और किडनी डैमेज होने का मूल कारण है इससे कैंसर भी हो सकता है . Ashwagandha में पाए जाने वाले रसायन इन फ्री रेडिकल्स को बनने से रोकते है और इन फ्री रेडिकल्स को नष्ट भी करते है .Ashwagandha में पाए जाने वाली ये Antioxidant प्रॉपर्टीज किडनी की कोशिकाओ को नष्ट होने से बचाती है.

बिना डायलिसिस के डेढ़ महीने में क्रिएटिनिन 4.2 से 0.67 हो गया – Thanks To Only Ayurved

Ashwagandha repair damaged Nephron

एक शोध के मुताबिक Ashwagandha किडनी की क्रियात्मक इकाई नेफ्रॉन को डैमेज होने से बचाता है. एवं डैमेज नेफ्रॉन को ठीक भी कर सकता है.

Ashwagandha prevent and treat Kidney Cancer

Ashwagandha में पाया जाने वाला रसायन Withaferin A बहुत से कैंसर को रोक सकता है.ये Apoptosis (कैंसर कोशिका को नष्ट करना)

प्रकिया द्वारा कैंसर की कोशिकाओ को नष्ट करता है .

Ashwagandha protect from inflammation and pain

Ashwagandha में पाए जाने वाले प्राकर्तिक स्टेरॉयड कैंसर के दर्द और हर प्रकार की सुजन को कम करते है . किडनी की कुछ बीमारिया  जैसे Nephritis और Glomerulonephritis भी एक प्रकार की सुजन ही है. Ashwagandha इन बीमारियों को होने से रोक सकता है जो आगे जाकर किडनी फ़ैल होने का कारण बन सकती है .

 

Dose

  • जड़ का पाउडर 3 से 5 gram दिन में दो बार
  • लिक्विड में 5 से 10 ml दिन मे दो बार

आपकी बीमारी को आपका वैद्य या डॉक्टर अच्छी तरह समझता है, आप उससे राय जरूर करे. अधिक जानकरी के लिए नीचे दिए गए sources और References पढ़े

Prepared By

Balbir Singh Shekhawat (B. pharma, D. pharma)

Pharmacist at PHC Sikar Rajasthan

Sources and Refrences

  • https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/11116534
  • https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4678649/
  • http://www.nkfi.org/uploads/pdf/Naturopathic_Medicine_and_the_Kidney_Patient.pdf
  • https://www.asn-online.org/education/training/fellows/HFHS_CKD_V6.pdf
  • http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.847.4282&rep=rep1&type=pdf
  • http://www.krepublishers.com/02-Journals/S-EM/EM-06-0-000-12-Web/EM-06-2-000-12-Abst-PDF/S-EM-06-2-111-12-203-Kushwaha-S/S-EM-06-2-111-12-203-Kushwaha-S-Tt.pdf
  • text book of pharmacognosy ashutoshkar
  • text book of pharmacognosy by kokate, gokhale, purohit

Kidney ReActivator बचा सकता है आप को Kidney Transplant और Dialysis से !!!

Kidney Re Activator for Kidney care, natural Treatment of Kidney, chronic kidney disease, Kidney treatment in Ayurveda, nephrotic syndrome

विश्व में पहली बार Only Ayurvyed ले कर आया है एक ऐसी दवा जो किडनी को पुनः स्वस्थ कर के आपको किडनी ट्रांसप्लांट और डायलिसिस जैसी भयंकर कष्टकारी परिस्थितियों से बचा सकती है. और यह दवा आप अपनी फिलहाल की चल रही दवाओं या काढों के साथ में ले सकते हैं और इसका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है. इस दवा का नाम है Kidney Reactivator. आइये अब आपको बताते हैं इस दवा के बारे में. Nephrotic syndrome

किडनी री एक्टिवेटर के फायदे – Benefit Of Kidney ReActivator

Kidney Reactivator – जिन भी लोगों का Dialysis चल रहा है, या जिनकी किडनी फेल होने तक की नोबत आ गई है और किसी भी प्रकार की किडनी से जुडी समस्या हो जैसे Acute Kidney Diseases, Glomerulonephritis, Nephrotic Syndrome, Chronic Kidney Disease (renel Failure), Recurrent UTI इत्यादि तो उन लोगो के लिए अत्यंत लाभकारी है ये Only Ayurved’s Kidney Reactivator. Kidney Re Activator आप की किडनी को एक नया जीवन देने में सम्पूर्ण तरीके से कारगर Ayurvedic Aroprietary Medician है. यह गोखरू, पुनर्नवा जैसी 9 विशेष औषधियों (जो के किडनी को पुनः सुचारू करने के लिए अति विशेष हैं) से निर्मित है. यदि आप इस का 1 से 3 महीने में सेवन करे एवं साथ ही बताये गए परहेज रखे तो ये फिर से आपकी किडनी को पहले की तरह स्वस्थ कर सकती है और आप एक स्वस्थ जीवन जी सकते हैं. तो आइये जानते है क्या है Kidney Reactivator को सेवन करने की सही विधि और परहेज . Nephrotic syndrome treatment in hindi

किडनी री एक्टिवेटर कैसे इस्तेमाल करें, How To use Kidney Reactivator, Kidney Reactivator सेवन करने की विधि, Usage of Only Ayurved’s Kidney Reactivator : Nephrotic syndrome treatment in hindi

Only Ayurved’s Kidney Reactivator में है गोखरू और पुनर्नवा जैसी 9 जडीबुटीयों का ऐसा अद्भुत मिश्रण जो आप की किडनी को नया जीवन दे सकता है.

  • Kidney Reactivator का इस्तेमाल करने से पहले एक बार अच्छी तरह से हिला ले / Shake well before use Kidney Reactivator
  • Kidney Reactivator को सुबह खाली पेट toilet के बाद लेना है और दूसरी बार दोपहर का खाना खाने के 1 घंटे बाद और तीसरी बार रात को सोते समय लेना है. Kidney Reactivator has to be takean empty stomach in the morning after toilet and take 1 hour after lunch for the second time and for the third time at night to sleep
  • Kidney Reactivator व्यस्क स्वस्थ व्यक्ति को 5 ml. से 10 ml. दिन में 3 बार लेना है एक कप पानी के साथ /Kidney Reactivator For Adult 5 to 10 ml. thrice a day.
  • Kidney Reactivator व्यस्क रोगी व्यक्ति को जिसका डायलिसिस चल रहा हो या किडनी ट्रांसप्लांट के लिए Suggest कर दिया हो उसे 30 ml. से 40 ml. दिन में 3 बार लेना है एक कप पानी के साथ. Kidney Reactivator For Adult Patient 30 to 40 ml. thrice a day or directed by the doctor.
  • Kidney Reactivator को खोलने के बाद आप फ्रिज में या ठंडी जगह में ही रखे जहाँ धुप और सीधी रौशनी ना आये, और नमी से बचाएं (अगर फ्रिज  में रखें तो इसको तुरंत निकाल कर मत पीजिएगा, पहले इसको 30 ml तक ढक्कन में ले लीजिये, और इसको रूम टेम्परेचर पर आने के बाद ही इसका सेवन कीजियेगा). और इसको खोलने के बाद एक महीने के अन्दर इसका सेवन कर लें. Kidney Reactivator Store in cool,dry & dark place  and protect from  light and moisture.
  • Kidney Reactivator बच्चो के पहुँच से दूर रखे. keep out of reach of children
  • Kidney Reactivator का इस्तेमाल गर्भावस्था के दौरान न करेंDo not use Kidney Reactivator during pregnancy

Kidney Reactivator – Regimen for kidney patient, किडनी रोगियों के लिए परहेज : Nephrotic syndrome treatment in hindi

वो रोगी जिनका डायलिसिस चल रहा है या डॉक्टर ने डायलिसिस के लिए बोल दिया है या किडनी फेल हो चुकी है , यूरिया बढ़ा हुआ है, क्रिएटिनिन बढ़ा हुआ है और डॉक्टर ने ट्रांसप्लांट के लिए बोल दिया है, वो रोगी चाय चीनी, दूध, और दही बंद कर दे अन्यथा आप करोड़ों रूपए का भी इलाज करवा लेंगे तो कभी सही नहीं हो पाएंगे. टमाटर, भिन्डी, पालक, अमरुद इत्यादि जिनमे बीज अधिक पायें जाते हों या जिनमे आयरन अधिक हो ऐसी चीजों से कम से कम 3 महीना जब तक ये दवा चले तो परहेज करें. और जिन लोगों को अत्यधिक कमजोरी के कारण डॉक्टर दूध का बोले तो उनको क्रीम निकला हुआ दूध आधा दूध आधा पानी मिला कर गर्म कर के पियें, वो भी मज़बूरी में ही अन्यथा अगर 3 महीने तक छोड़ सकें तो बहुत बढ़िया है. Nephrotic syndrome treatment in hindi

किडनी के रोगी क्या खाएं – Diet For kidney patient, Kidney Reactivator

किडनी के रोगी सुबह शाम आधा चम्मच अश्वगंधा ज़रूर खाएं, अगर बिना रासायनिक खादों के (Organic) पत्तागोभी मिले तो इसका रस ज़रूर पियें. पत्तागोभी की सब्जी, गोभी, शलगम, खीर, ककड़ी, मूली, मूली के पत्ते, मूंग की दाल साबुत, और अनाज में मिक्स अनाज खाएं, जिसमे कम से कम चार अनाज जैसे गेंहू, बाजरा, जौ, मकई, चना इत्यादि सब बराबर बराबर मिला हुआ हो. और दिन में कम से कम 1 से 2 लीटर पानी ज़रूर पियें, ध्यान रहे के अगर पानी कम पियेंगे तो शरीर अपने लिए पानी को बचा कर रखेगा और आपका मूत्र भी कम आएगा.

यह दवा अभी कुछ चुनिन्दा जगह पर ही उपलब्ध है, इसलिए जिनको भी ये दवा चाहिए वो पहले से ही संपर्क कर के अपनी दवा सुरक्षित कर लें. और जिन भी आयुर्वेद दवा केन्द्रों को ये दवा चाहिए, वो फ्रैंचाइज़ी के लिए नीचे दिए गए नम्बरों पर संपर्क करें.

[ये भी पढ़ें. – 15 दिन में किसी का डायलिसिस रुका तो किसी का ट्रांसप्लांट.]

आपके नजदीकी Only Ayurved Dealer list और उनकी Location

बिहार

पटना – 7677551854, 7480099296

छपरा – 9473221039

छत्तीसगढ़

बिलासपुर – 9584891808, 9926758959, 9300333438

रायपुर – 9644133772

दुर्ग भिलाई – 9691305217

झारखण्ड

मनिका – लातेहार – 9801290105

पश्चिम बंगाल – West Bengal

कोलकाता –  7003386968

असम

सिलचर – 9954000321

महाराष्ट्र

मालेगांव (नासिक) – डॉ. फरीद शेख 9860785490

धुले – 9860704470

नासिक – 9270928077

पुणे – 9209211786

अकोला – 7020579564

वर्धा – 9579997503

नागपुर – 8830998853

शोलापुर – 8308604642

कल्याण – 8454050864

टिटवाला – 9821315415

मलाड – 9967293444

घाटकोपर – 07738350032

बोरीवली – 9004316923

भंडारा – 9422174853

औरंगाबाद – 8208266068

विरार – 9892967369

अमरावती – 9765332255

कर्नाटक – Karnataka

धारवाड़ (Dharwad) – 9844984103

बैंगलोर (Bangalore) – 7019098485

तामिलनाडू

चेन्नई – 9884164854

तेलंगाना

हैदराबाद – 08374457775

गुजरात

अहमदाबाद – 9974019763

अहमदाबाद घाटलोडिया – 9974019763

पालनपुर ( डॉ. हिदायत मेमन )  –  9428371583

द्वारिका – 9033790000

चिकली – 9427869061

अमरेली – 9427888387

अंकलेश्वर – भरूच – 8460090090

बड़ोदा – 9725245318

सूरत –  8866181846, 9879157588

भुज / मुंद्रा  – 9974576143

मध्यप्रदेश

भोपाल – 7987552689

इटारसी – 6260342004

इंदौर – 9713500239

विदिशा – 9131055585

जबलपुर – 9039868554

ग्वालियर – 9229239248

कटनी – 9074901083

उत्तर प्रदेश

मेरठ – 8449471767

हाथरस ( U. P. ) –  9997397043, 7017840020

मथुरा ( वैध रविकांत जी ) – 9259883028

अलीगढ – 9027021056

आगरा – 8923234014

कासगंज – 7409463111

फ़िरोज़ाबाद – 8445222786 वैध रविन्द्र सिंह

मैनपुरी – 8449601801

फ़र्रुख़ाबाद – 9839196374

रायबरेली – 9236038215

वाराणसी – 9125349199

इलाहाबाद ( डॉ.  सी. पी. सिंह ) – 9520303303

गोरखपुर – 9792960999

सिद्धार्थ नगर – 9936404080

महाराजगंज – 9455426806

लखनऊ – 8417856005

इटावा – 9557463131 डॉ. कौशलेन्द्र सिंह

दिल्ली –  NCR

सराय कालें खां –  9015439622, 9871490307

सुभाष नगर – 9911006202

गाज़ियाबाद – 9719077555

Greater Noida – 9310299100

गुडगाँव – 9310330050

फ़रीदाबाद – 9315154682

हरियाणा

हिसार – 9518884444

हसनपुर पलवल – 9050272757

पानीपत – 9812126662

बाढ़डा ( चरखी दादरी ) – 9813210584

फ़रीदाबाद – 9315154682

चंडीगढ़ – 9877330702

डबवाली – 9416218182

पंजाब

मोगा – 9988009713

बठिंडा – 9779566697

डबवाली – 9416218182

कोट कपूरा – 9872320227

मलोट – 9878100518

मलेर कोटला – 9872439723

लुधियाणा – 9803772304

रोपड़ – 9478391123, 8528386098

जालंधर – 9814832828

अमृतसर – 8872295800

होशियारपुर उड़मुड टांडा – 9803208718

गुरदासपुर – 9815483791

मोहाली – 09216411342

मुकेरियां – 9815296322

चंडीगढ़ – 9877330702

राजस्थान

जयपुर – 8290706173, 8005648255

दौसा – 7737497140

जोधपुर – 8005724956

बीकानेर – 7062169968

अजमेर – 7976779225

सिरोही – 9875238595

उदयपुर – 9875238595

टोंक – 9509392472

अजीतगढ़ – 8005648255

फतेहपुर शेखावाटी – 9636648998

उदयपुर वाटी (झुंझुनू)  डॉ राकेश कुमार – 9351606755

संगरिया – 7597714736

हिमाचल प्रदेश

नालागढ़ – 9816022153

कुल्लू – 8219500630

चिन्तपुरणी – 9816414561

अगर आप Only Ayurved के साथ मिलकर ये काम करना चाहते हैं तो संपर्क कीजिये

उत्तर प्रदेश 7017840020

महाराष्ट्र – 9860758490

मुंबई – 8454050864

गुजरात – 8866141846

बिहार – 7677551854

हरियाणा – 9315154682

पंजाब – 9779566697

मध्य प्रदेश – 7987552689

छत्तीसगढ़ – 9300333438

अन्य राज्यों के लिए संपर्क करें. 7014016190

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status