Monday , 21 June 2021
Home » Search Results for: कब्ज (page 30)

Search Results for: कब्ज

गौरवर्ण सुंदर और स्वस्थ संतान उत्पत्ति के उपाय

गौरवर्ण सुंदर और स्वस्थ संतान उत्पत्ति के उपाय हर माँ की इच्छा होती हैं कि उसकी संतान गौरी सुन्दर और तंदुरुस्त हो। इसके लिए जैसे ही माँ को पता चले के गर्भ ठहर गया हैं तो ये उपाय करने चाहिए।यहा बताये सभी उपाय हमारे हजारो वर्षो पुराने आयुर्वेद के ग्रंथो का कुछ  भाग हैं ।ये उपाय अपनाकर हमारी पुरानी औरते आराम …

Read More »

स्वप्नदोष से मुक्ति के लिए श्रेष्ठ हैं आंवला।

स्वप्नदोष से मुक्ति के लिए श्रेष्ठ हैं आंवला। पुरष द्वारा नींद में वासनात्मक स्वप्न देखने अथवा कामुक चेष्टा मात्र से अनायास उसके वीर्य का निकल जाना ही स्वप्नदोष है। स्वप्नदोष का मूल कारण है गंदे और कामोत्तेजक विचार। अत: इस रोग को निर्मूल करने के लिए औषधियों से भी अधिक कामुक प्रवृत्ति पर संयम की परम आवश्यकता है। प्राचीन भारत …

Read More »

टायफाइड परिचय कारण लक्षण और घरेलू इलाज

टायफाइड परिचय कारण लक्षण और घरेलू इलाज Typhoid आंत्र ज्वर टायफाइड – टाइफाइड । परिचय। इसे लोकभाषा में मियादी बुखार के नाम से जाना जाता हैं। इसे मोतीझरा भी कहा जाता हैं। इसका दूसरा नाम एंट्रिक फीवर (आंत्र ज्वर) भी हैं। टायफाइड बुखार साल्मोनेला टायफस नामक बैक्टीरिया से पैदा होता हैं। कारण। 1. साल्मोनेला नामक सूक्षम जीव का विविध माध्यम जैसे फल सब्जियों, पीने के पानी, दूध इत्यादि …

Read More »

अंजीर एक फायदे अनेका अनेक।

अंजीर अपने खट्टे-मीठे स्वाद के लिए प्रसिद्ध अंजीर एक स्वादिष्ट, स्वास्थ्यवर्धक और बहु उपयोगी फल है। वैज्ञानिकों के अनुसार अंजीर कि इसके सूखे फल में कार्बोहाइड्रेट (शर्करा) 63 प्रतिशत, प्रोटीन 5.5 प्रतिशत, सेल्यूलोज 7.3 प्रतिशत, चिकनाई एक प्रतिशत, खनिज लवण 3 प्रतिशत, अम्ल 1.2 प्रतिशत, राख 2.3 प्रतिशत और जल 20.8 प्रतिशत होता है। इसके अलावा प्रति 100 ग्राम अंजीर …

Read More »

इसबगोल के विभिन्न बीमारियों में कुछ चमत्कारी घरेलू उपाय

इसबगोल के विभिन्न रोगो में उपयोग। ईसबगोल प्लेनटेगो आवेटा तथा प्लेंटेगो सिलियम नामक पौधे के लाल भूरे एवं काले बीजो से इसबगोल प्राप्त होता हैं। यह एक झाड़ी के रूप में उगता है, जिसकी अधिकतम ऊँचाई ढाई से तीन फुट तक होती है। इसके पत्ते महीन होते हैं तथा इसकी टहनियों पर गेहूँ की तरह बालियाँ लगने का बाद फूल आते हैं। …

Read More »

इसबगोल – अनेका अनेक बीमारियो की एक औषिधि ।

इसबगोल – अनेका अनेक बीमारियो की एक औषिधि । कब्ज, दस्त, इरिटेबल बाउल सिंड्रोम, बवासीर, गाल ब्लैडर की पत्थरी, अल्सर, एल. डी. एल. कोलेस्ट्रोल, वजन नियंत्रण में, डाईवेर्टिकुलर डिसीज़ के लिए रामबाण औषिधि हैं इसबगोल।  आइये जाने इसके फायदे।  इसबगोल एक स्वादिष्ट एवं महक रहित आयुर्वेदीय औषिधि हैं। प्लेनटेगो आवेटा तथा प्लेंटेगो सिलियम नामक पौधे के लाल भूरे एवं काले बीजो से इसबगोल प्राप्त …

Read More »

सर्दियों में जरूर खानी चाहिए ये 7 चीजें।

सर्दियों में जरूर खानी चाहिए ये 7 चीजें। ठंड के मौसम में सर्दी के असर से बचने के लिए लोग गर्म कपड़ों का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन शरीर को चाहे कितने ही गर्म कपड़ों से ढक लिया जाए ठंड से लड़ने के लिए बॉडी में अंदरूनी गर्मी होनी चाहिए। शरीर में यदि अंदर से खुद को मौसम के हिसाब से ढालने …

Read More »

मूत्र रोग, स्वपन दोष, प्रमेह आदि के लिए घरेलु नुस्खा।

मूत्र रोग, स्वपन दोष, प्रमेह आदि के लिए घरेलु नुस्खा – Swapan dosh ka ilaj किशोरावस्था से निकलते ही जैसे ही हम वयस्क होते हैं तो अनेक रोग हमको घेर लेते हैं, मसलन उनके बारे में पूर्ण ज्ञान ना हो कर हमे इनसे मानसिक तनाव मिलता रहता हैं। थोड़ी सी मानसिक शान्ति और घरेलु उपायो से इन रोगो से बचा जा सकता …

Read More »

तिल्ली Spleen बढ़ जाने पर करे ये उपाय – Enlarge Spleen Treatment In Hindi !!

Spleen ka ilaj, Spleen badhne ka ilaj शुरू में इस रोग का उपचार करना आसान होता है, परंतु बाद में कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ता है। यह रोग मनुष्य को बेचैनी एवं कष्ट प्रदान करता है। तिल्ली में वृद्धि होने से पेट के विकार, खून में कमी तथा धातुक्षय की शिकायत शुरू हो जाती है। इस रोग की उत्पत्ति …

Read More »

fatty Liver ka ilaj – liver cirrhosis ka ilaj -एक छोटा सा प्रयोग

यकृत के विकार (जिगर की खराबी) Liver Disease in hindi, Fatty liver or Liver Cirrhosis ka ilaj, अगर आपका लिवर छोटा (Liver Cirrhosis) , कठोर हैं, सूजा(Fatty Liver) हुआ हैं। तो ये प्रयोग ऐसे cases में अचूक हैं। अगर आप अनेक दवाये खा खा कर परेशान हो गए हैं तो ये साधारण दिखने  वाला प्रयोग आपके लिए अचूक हैं। एक बार इसको ज़रूर अपनाये। …

Read More »
DMCA.com Protection Status