Saturday , 31 July 2021
Home » Search Results for: तिल (page 6)

Search Results for: तिल

पपीते के जूस में नींबू मिलाकर पीने से होंगे ये हैरान कर देने वाले फायदे !!!

परिचय (Introduction) : पपीता बहुत ही स्वादिष्ट होता है. इसके पेड़ लंबे, पतले व कोमल होते हैं. पपीते के पेड़ में कोई डालियां नहीं होती हैं. इस पर लगने वाले फल को पपीता कहते हैं. पपीता कच्चे रहने पर हरा और पक जाने पर पीले रंग का हो जाता है. पपीते के अंदर काले रंग के बीज होते हैं और बीज …

Read More »

पैर में मुडक या मोच की सूजन एवं मोच के दर्द से रहत पाने के आसन घरेलु उपचार !!

मोच एवं सूजन में तुरंत राहत देते है यह 28 घरेलु उपाय | Natural Home Remedies For Sprain and swelling कभी-कभी पैर गड्ढे में आने पर पैर में मोच आ जाती है या चलने-चलते हाथ-पैर मुड़ जाने या चोट लग जाने के कारण मोच आ जाती है। मोच आने पर उस अंग पर सूजन आ जाती है और काफी दर्द …

Read More »

कद ( HIGHT ) बढ़ाने के लिए अचूक है ये आयुर्वेदिक दवाएँ जरुर आजमायें !!

लंबाई का बढ़ना जेनेटिक होता है और कभी-कभी हारमोंस की कमी के कारण भी हाइट बढ़ना रुक जाती है कुछ ऐसे उदाहरण भी हैं जिनमें कितनी भी कोशिश कर ले फिर भी हाइट नहीं बढ़ती है लेकिन अक्सर 18 साल तक पौष्टिक आहार उचित व्यायाम और स्ट्रेट पोस्चर के द्वारा हाइट को बढ़ाया जा सकता है . HOW TO INCREASE …

Read More »

आज का पंचांग-Aaj Ka Panchang-विक्रम संवत्-शक संवत

हिन्दू पंचाग (Hindu Panchang) पाँच अंगो के मिलने से बनता है, ये पाँच अंग इस प्रकार हैं:- 1:- तिथि (Tithi) 2:- वार (Day) 3:- नक्षत्र (Nakshatra) 4:- योग (Yog) 5:- करण (Karan) पंचाग(panchang) का पठन एवं श्रवण अति शुभ माना जाता है इसीलिए भगवान श्रीराम भी पंचाग का श्रवण करते थे । *शास्त्रों के अनुसार तिथि के पठन और श्रवण …

Read More »

Heart Failure से मरते हुए व्यक्ति को जीवन दान देगा ये पौधा – Only Ayurved

Digitalis in Heart Failure in hindi, Best remedy for heart failure, digitalis ke fayde, digitalis uses in hindi, digitalis in hindi CHF (CONGESTIVE HEART FAILURE) Heart Failure का मतलब ये नहीं है कि हृदय ने काम करना बंद कर दिया हैं। जबकि इसका मतलब है की हृदय का रक्त को पंप करने का तंत्र सामान्य से कमजोर हो गया हैं, …

Read More »

अस्थिसुषिरता Osteoporosis रोग और इसे से जुड़े आहार,परहेज और घरेलु इलाज !!

ऑस्टियोपोरोसिस  ( Osteoporosis ) – कमजोर हड्डियाँ: घरेलु उपचार, इलाज़ और परहेज अस्थिसुषिरता या ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) हड्डी का एक रोग है जिससे फ़्रैक्चर का ख़तरा बढ़ जाता है। ऑस्टियोपोरोसिस   ( Osteoporosis ) में अस्थि खनिज घनत्व (BMD) कम हो जाता है, अस्थि सूक्ष्म-संरचना विघटित होती है और अस्थि में असंग्रहित प्रोटीन की राशि और विविधता परिवर्तित होती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस को DXA के मापन अनुसार अधिकतम अस्थि पिंड (औसत 20 वर्षीय …

Read More »

महंगी महंगी दवाएं खा खा कर थक चुकें हैं तो एक बार इसकी शरण में आ कर देखो।

मालकांगनी को चरक संहिता में शिरोविरेचनार्थ एवं उन्माद व् अपस्मार की चिक्तिसा में प्रयोग बताया है. सुश्रुत संहिता में ज्योतिषमिति तेल को शिरोविरेचनार्थ उन्माद व् अपस्मार के साथ में कुष्ठ की चिकित्सा में प्रयोग बताया है. मालकांगनी अर्थात ज्योतिषमिति का प्रयोग दिमाग को राकेट जैसा तेज़ करने, कमजोरी दूर करने, ताक़त बढाने, पुरुष रोगों में, कुष्ठ रोगों में,  मिर्गी जैसे कड़े रोगों …

Read More »

कमल – हर्दय, मष्तिष्क, कमजोरी, बुखार एवं बवासीर से लेकर सोंदर्य व स्त्रियों के रोगों में रामबाण औषधी

आयुर्वेद के अनुसार : कमल ( LOTUS ) शीतल और स्वाद में मीठा होता है। यह कफ, पित्त, खून की बीमारी, प्यास, जलन,फोड़ा व जहर  को खत्म करता है। हृदय के रोगों को दूर करने और त्वचा का रंग निखारने के लिए यह एक अच्छी औषधि है। जी मिचलना, दस्त, पेचिश, मूत्र रोग, त्वचा रोग, बुखार, कमजोरी, बवासीर, वमन, रक्तस्राव आदि में इसका प्रयोग लाभकारी होता है। विभिन्न भाषाओं में नाम : HERBAL USE OF LOTUS  संस्कृत-अम्बुज, पद्म, पुंडरीक। हिन्दी .कमल, सफेद कमल, लाल कमल, नीला …

Read More »

अमरबेल के दिव्य औषधिय गुण और 30 औषधीय प्रयोग !! जैसे यकृत, गठिया,छोटा कद, गंजापन…

 अमर बेल ( Amarbel ) एक पराश्रयी (दूसरों पर निर्भर) लता है, जो प्रकृति का चमत्कार ही कहा जा सकता है। बिना जड़ की यह बेल जिस वृक्ष पर फैलती है, अपना आहार उससे रस चूसने वाले सूत्र के माध्यम से प्राप्त कर लेती है। अमर बेल का रंग पीला और पत्ते बहुत ही बारीक तथा नहीं के बराबर होते हैं। …

Read More »

हाथ-पैरों की अकड़न या खिचाव और विभिन्न औषधियों से उपचार !!

बदन दर्द – बहुत बार हम अनुभव करते हैं कि हमारी मांसपेशियों में जकड़न आ गई है और शरीर को हिलाएं-डुलाएं तो हमारी मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द शुरू हो जाता है। बदन दर्द (बॉडी पाईं) की प्राब्लम को नॉर्मली लोग इग्नोर ही कर देते है क्योंकि इसको सभी नॉर्मल बीमारी मानते है।आइए जानते है बदन की अकड़न के कुछ सामान्य कारण। …

Read More »
DMCA.com Protection Status