Wednesday , 16 August 2017
Home » Health » arthritis - joint pain » cervical » सर्वाईकल स्पौण्डिलाइटिस का घरेलु सरल उपचार।  

सर्वाईकल स्पौण्डिलाइटिस का घरेलु सरल उपचार।  

सर्वाईकल स्पौण्डिलाइटिस का घरेलु सरल उपचार।

Home Remedy for Cervical Spondolytis.

गर्दन में स्थित रीढ़ की हड्डियों में लंबे समय तक कड़ापन रहने, उनके जोड़ों में घिसावट होने या उनकी नसों के दबने के कारण बेहद तकलीफ होती है। इस बीमारी को सर्वाईकल स्पौण्डिलाइटिस कहा जाता है। दूसरे नाम सर्वाइकल ऑस्टियोआर्थराइटिस, नेक आर्थराइटिस और क्रॉनिक नेक पेन के नाम से जाना जाता है। इसमें गर्दन एवं कंधों में दर्द तथा जकड़न के साथ-साथ सिर में पीड़ा तथा तनाव बना रहता है।

आधुनिक चिकित्सा में सर्वाइकल स्पौण्डिलाइटिस का इलाज फिजियोथेरेपी तथा दर्द निवारक गोलियां हैं। इनसे तात्कालिक आराम तो मिल जाता है, किंतु यह केवल अस्थायी उपचार है। योग ही इस समस्या का स्थाई समाधान है, क्योंकि यह इस बीमारी को जड़ से ठीक कर देता है। लेकिन जब रोगी को चलने-फिरने में दिक्कत आने लगे तो दवाएं, फिजियोथेरेपी तथा आराम ही करना चाहिए। ऐसी स्थिति में यौगिक क्रियाओं का अभ्यास नहीं करना चाहिए, क्योंकि यह स्थिति रोग की गंभीर स्थिति होती है। आराम आते ही इससे पूरी तरह मुक्ति के लिए किसी कुशल मार्गदर्शक की निगरानी में यौगिक क्रियाओं का अभ्यास प्रारम्भ कर देना चाहिए।

अगर किसी कारण से आप कोई व्यायाम या योग वगैरह नहीं कर सकते तो पहले आप नीचे लिखे हुए घरेलु नुस्खे इस्तेमाल कीजिये, और कुछ दिनों में जैसे जैसे आराम आता जाए तो ये व्यायाम और योगासन शुरू करने चाहिए।

सर्वाइकल स्पॉन्डलाइटिस के लक्षण

कई बार गर्दन का दर्द हल्के से लेकर ज्यादा हो सकता है। ऐसा अक्सर ऊपर या नीचे अधिक बार देखने के कारण या गाड़ी चलाने, किताबें पढ़ने के कारण यह दर्द हो सकता है।

रीढ़ की हड्डी में कोई चोट आने पर या अकस्मात् कोई वजन आ जाने पर इसका बढ़ा हुआ भयंकर रूप भी देखने को मिलता हैं।

गर्दन में दर्द और गर्दन में कड़ापन स्थिति को गम्भीर करने वाले मुख्य लक्षण है।

सिर का दर्द, मुख्य रूप से पीछे का दर्द इसका लक्षण है।

गर्दन को हिलाने पर प्राय:गर्दन में पिसने जैसी आवाज़ का आना।

हाथ, भुजा और उंगलियों में कमजोरियां या सुन्नता।

व्यक्ति को हाथ और पैरों में कमजोरी के कारण चलने में समस्या होना और अपना संतुलन खो देना।

गर्दन और कंधों पर अकड़न या अंगसंकोच होना।

रात में या खड़े होने के बाद या बैठने के बाद, खांसते, छींकते या हंसते समय और कुछ दूर चलने के बाद या जब आप गर्दन को पीछे की तरफ मोड़ते हैं तो दर्द में वृद्धि हो जाना।

सूक्ष्म व्यायाम रामबाण

1. सीधा बैठकर चेहरे को धीरे-धीरे दाएं कंधे की ओर ले जाएं। इसके बाद चेहरे को धीरे-धीरे सामने की ओर लाकर बाएं कंधे की ओर ले जाएं। इस क्रिया को प्रारम्भ में 5-7 बार करें। धीरे-धीरे बढ़ाकर इसे 15-20 बार तक करें। अब सिर को पीछे की ओर झुकाएं। सिर को आगे की ओर झुकाना इस रोग में वजिर्त है। इसके पश्चात सिर को दाएं-बाएं कंधे की ओर झुकाएं। यह क्रिया भी धीरे-धीरे 15 से 20 बार तक करें।

2. सीधा बैठकर या खड़े होकर दोनों हाथों की हथेलियों को आपस में गूंथें। इसके बाद हथेलियों को सिर के पीछे मेडुला पर रखें। अब हथेलियों से सिर को तथा सिर से हथेलियों को एक-दूसरे की विपरीत दिशा में पूरे जोर से इस प्रकार दबाएं कि सिर थोड़ा भी आगे या पीछे न झुकने पाए। इसके पश्चात् हथेलियों को माथे पर रखकर इसी प्रकार का विपरीत दबाव दीजिए। ये क्रियाएं 8 से 10 बार करें। अब दाईं हथेली को दाएं गाल पर रखकर एक-दूसरे के विपरीत दबाव डालिए। यही क्रिया बाएं गाल से भी करें। इन्हें भी 8 से 10 बार करें।

3. सीधा खड़ा होकर दोनों हाथों को घड़ी की सुई की दिशा में तथा इसके बाद घड़ी की सुई की विपरीत दिशा में 10 से 15 बार गोल-गोल घुमाएं। इसके पश्चात् दोनों हाथों को कंधे की ऊंचाई तक अगल-बगल उठाकर उन्हें कोहनी से मोड़ लें। इस स्थिति में हाथों को 10 से 15 बार वृत्ताकार घुमाएं। इसके पश्चात् वापस पूर्व स्थिति में आएं।

4. अपने दोनों हाथो को अपने कंधो पर रखे, अब दोनों कोहनियो को घडी की दिशा में घूमते हुए एक गोला बनाये और कोशिश करे दोनों कोहनियाँ आपस में एक दूसरे को छुए, १० बार ऐसा करे और और १० बार घडी की विपरीत दिशा में ऐसा करे।

आसन

एक-दो सप्ताह तक उपरोक्त क्रियाओं का अभ्यास करने के बाद अपने अभ्यास में आसनों को जोड़ देना चाहिए। इसके लिए मत्स्यासन, वज्रासन, मकरासन, धनुरासन, अर्धमत्स्येन्द्रासन तथा भुजंगासन बहुत उपयोगी हैं। अगर हर्निया की शिकायत हो तो भुजंगासन ना करे।

surya namaskaar

सूर्य नमस्कार :- सूर्य नमस्कार सर्वाइकल के लिए रामबाण योग मुद्रा हैं। हर रोज़ सुबह नित्य कर्म से निर्व्रत हो कर इसको १० से १५ बार दोहराये।

प्राणायाम

रोग की गंभीर स्थिति में झटके वाले किसी भी प्राणायाम का अभ्यास नहीं करना चाहिए। इस रोग में नाड़ियों को शांत तथा स्थिर करने के लिए नाड़ीशोधन अनुलोम विलोम, उज्जायी एवं भ्रामरी प्राणायाम बहुत लाभकारी है।

anulom vilom 1

अनुलोम विलोम में एक नाक से श्वांस लेना हैं, और दूसरे से निकलना हैं, फिर दूसरे से ही श्वांस लेना हैं, और पहले से छोड़ना हैं, अब पहले से श्वांस लेना हैं, और यही प्रक्रिया दोहरानी हैं।

ujjayi

उज्जायी प्राणायाम में सीधे बैठ कर अपने कंठ को संकुचित कर के पुरे ज़ोर से श्वांस ऊपर खींचना होता हैं। और फिर धीरे धीरे छोड़ते रहे, ऐसा 10 से 15 बार करे।

bhramari

भ्रामरी :- भ्रामरी में सीधे बैठ कर, अपने दोनों अंगूठो से दोनों कानो को बंद कर ले, ऊपर की दोनों उंगलियो को माथे पर सीधे रखे, और बाकी तीनो उंगलियो को हलके हाथ से आँखों और नाक के बीच वाले स्थान पर रखे। और फिर पूरा श्वांस भर ले और ओम कहते हुए पूरा श्वांस धीरे धीरे बाहर निकाले।

ध्यान एवं योग निद्रा
रीढ़ की हड्डी की बीमारी में ध्यान और योग निद्रा का अभ्यास बहुत लाभकारी है। इस स्थिति में शरीर को पूरी क्रिया के दौरान बिल्कुल स्थिर रखते हुए अपनी सहज श्वास-प्रश्वास पर मन को एकाग्र करना चाहिए। इसका अभ्यास आरामदायक अवधि तक करें।

इन बातों का भी रखें ध्यान

पीठ के बल बिना तकिया के सोयें। पेट के बल न सोयें। कड़े बिछावन पर सोना चाहिए ताकि रीढ़ की हड्डी ठीक रहे।

वजन नहीं उठाना चाहिए और न ही सिर झुकाकर काम करना चाहिए।

ठण्डे और गर्म पैक से चिकित्सा दर्द में कमी लयेगा। पानी का ठण्डा पैकेट दर्द करने वाले क्षेत्र पर रखें। और फिर पानी का गर्म पैकेट दर्द करने वाले क्षेत्र पर रखें।

आपका डॉक्टर किसी फिज़ियोथेरेपिस्ट के पास जाने की सलाह दे सकता है। यह भौतिक उपचार आपके दर्द में कमी लायेगा।

आप किसी मसाज़ चिकित्सक से भी मिला सकते हैं जो एक्यूपंक्चर और कशेरुका को सही करने का जानकार हो। कुछ ही बार इसका प्रयोग आपको आराम पहुंचायेगा।

गर्दन की नसों को मजबूत करने के लिये गर्दन का व्यायाम करें।
अपनी गाड़ी को सड़क पर मिलने वाले गड्ढ़ों पर न चलायें। यह दर्द को बढ़ा देगा।

कम्प्यूटर पर अधिक देर तक न बैठें। और बीच बीच में पैरो के पंजो पर खड़े हो कर दोनों हाथो को आपस में मिला कर ऊपर आकाश की तरह धकेले। कंधो को और गर्दन को थोड़ा हिला ले।

विटामिन बी और कैल्शियम से भरपूर आहार का सेवन करें। बादाम, पिस्ता और अखरोट में विटामिन इ और बी – 1, बी – 6, और बी – 9 के साथ प्रोटीन और मैग्नीशियम पाया जाता हैं, दूध, गाजर, स्ट्रॉबेरी, केला, पत्ता गोभी, प्याज, इनको भी अपने भोजन में स्थान दे।

कुछ अनुभूत योग काफी लाभदायक हैं जिनका चिकित्सक के मार्गदर्शन में प्रयोग किया जाना उचित है।

1. धतूरे के बीज 10 ग्राम + रेवंदचीनी 8 ग्राम + सोंठ 7 ग्राम+ गर्म तवे पर फ़ुलाई हुई सफ़ेद फिटकरी 6 ग्राम + इसी तरह फ़ुलाया हुआ सुहागा 6 ग्राम + बबूल का गोंद6 ग्राम इन सब औषधियों को बारीक पीस लें और धतूरे के पत्तों के रस से गीला करके उड़द के दाने के (125मिलीग्राम यानी एक रत्ती ) बराबर गोलियां बना लें। इस गोली को दिन में केवल एक बार गर्म पानी से दोपहर का भोजन करने के बाद ही लेना चाहिए।
ध्यान रहे खाली पेट दवा हरगिज न लें।
2. वातगजांकुश रस की 1 गोली दिन में दो बार सुबह-शाम दशमूल काढ़े केसाथ दो चम्मच लेना भी लाभकारी होता है।
3. महामाष तेल की तीन-तीन बूंदे दोनो कानों व नाक में सुबह-शाम डालना भी लाभकारी होता है
4. आभादि गुग्गुल की एक एक गोली महारास्नादि काढ़े के साथ दस से पंद्रह मिली की मात्रा में खाली पेट लेना भी लाभदायक होता है। ये तो कुछ अनुभूत योग हैं इसके अलावा पंचकर्म चिकित्सा भी सरवाईकल स्पोंडीलाईटीस के रोगियों में काफी कारगर होती है।

घरेलु नुस्खे।

चूना : –

चूना जो पान में खाते हैं, अगर आपको पत्थरी की समस्या नहीं है तो चूना एक बहुत बढ़िया औषिधि हैं सर्वाइकल के लिए, गेंहू के दाने सामान चूना पानी में, जूस में, या दही में मिला कर खाए।

विजयसार का चूर्ण :-

विजयसार का चूर्ण एक बहुत बढ़िया औषिधि हैं, किसी भी प्रकार के हड्डियों के सम्बंधित रोग के लिए। 1 चम्मच विजयसार का चूर्ण शाम को एक गिलास पानी में भिगो कर रख दे, इसको सुबह 15 घंटे के बाद कपडे से छान कर अच्छी तरह निचोड़ कर घूँट घूँट कर पिए। कैसा भी कोई दर्द हैं, 1 महीने से 3 महीने के अंदर सही होगा, इसके साथ में इस से आप को अगर मधुमेह रोग भी हैं तो उसके लिए भी ये रामबाण हैं।

लहसुन

4 लहसुन 1 गिलास दूध में उबाले, सोते समय पीजिये।

गाय के घी

रात को सोते समय दोनों नाक में 5-5 बूंदे गाय के घी की डाले।

उपरोक्त विधियां और नुस्खे अपनाने से कैसा भी सर्वाइकल हो 1 से 3 महीने में बहुत आराम आएगा।

For Read More Article on Thyroid, Click Here.

49 comments

  1. Hi Dr.

    I am also suffering from cervical from last 4 month, initially i had pain in my both hand and was feeling too much weakness since 3 months, no any dr was diagnosed, from last one month one Dr told me that its because of cervical, so these days i am doing sukshm vyayam, so pain is improving and these days i am also having back, shoulder and neck pain sometime (may be by i am carrying laptop bag).

    pls tell me what i can do s that i will be perfectly fine.

  2. Dear sir,main last 4_5 month se cirvical ki problem she paresan hoon,Maine apni neck ka xray krawya,doctor ne cervical ki problem btai,unke according Maine 1 month she neck ki exercise bhi suru ki hai,neck pain or back pain m thora farak hai,what jab chalta hoon to mere sir m chaker rehta hai.ghabrahat bhi rehti hai,pls.iska nibaran btaye.. thanks.

    • dear sbse pahley aap yah soch le ki main bimar nahin hoon mujhey koi rog nahi hai .yah apney man men drad vishvas banayen phir aapka koi kuchh nahin bigad skta.****TRST ON UR SELF***

  3. Dear sir,main 3_4 month she cervical problem main hoon,doctor se neck kA xray krwaya,neck m koi problem nahi hai,what pain relief k liye exercises karno ko kaha,exercises daily karta hoon,neck pain or back pain she Thor’s relief hai,what mere sir main chakker or har pal dil ghabrata hai,chalne m dikkat hoti hai,pls,ISNA moi update btayen taki main is problem she bahar nikal saloon,apki mahaan kripa hogi.thanks

  4. सर जी हमारा उम्र 45 साल है मुझे कभी कभी बैठे बैठे या कभी कभी चलते चलते जैसा लगता है की चकर सा आ रहा है सर घूमने लग जाता है कुछ घरेलू उपचार किर्पया कर बतलाये

  5. Disk slip. Back pain . Numbness k liye koi vishes upay batayen

  6. surjeet chaudhary

    Mujhe 2 month se cervical h or sayatika bhi h koi rambar ilaz btao

  7. Mai Ayurveda ki kitaben bachpan se partey aya hoon..bahumulya jankari dene k liye dhanyawaad….

  8. मेरा ७-८ बर्ष पहले पथरी का अपरेशन हुआ था क्या मै चुने का प्रयोग कर सकता हूं ! कृप्या अवश्य उत्तर दे इमेल ([email protected])

  9. Sir namaskar
    Mai 3 saal se back pain full body se pareshaan Hu chaley his chalkar aatey hai migrain Ki problem pichley 20 saal se hai exercise bhi Karra hu aaram nahi hai Kay karu please help me

  10. Is there any treatment for ankylosing spondylitis in ayurveda? plz reply

  11. Give me treatment for snooring

  12. Good information,i am quit ok using abow exercise,pl lete know all about planter fascitis.

  13. please send this to my email

  14. please tell me treatment for spondylities , as i am suffering form spondylities in C6 level , when i am looking downwards immidieatly i get pain in my left hand and also shock like things happens in the same hand.my age is 46 yrs, can you please suggest me some remedy / medicine and even the exercise for the same, thank you very much.

  15. Sir have you coure ankylosing spondylitis

  16. admin sir,
    mai cervical pain se 3 sal se pidit hu, ek Dr ne mujhe ”ras rajeshwar ras” aayurwedik dawai diye the usse 20 din me aaram mil gaya lekin 2 mah bad fir se chalu ho gaya. mujhe koi gharelu dawai bataye. thanks,
    with regards;
    TD Verma
    9425594715

  17. Subhash CHAND sharma

    Suffering from ankloysing SPONDYLITIS

    • Sir ankolosing spondlities ka aayurbed ilaaj bataye

      • lime can help you. हर रोज़ दही में, पानी में, सब्जी में जैसे भी करके गेंहू के दाने के समान चूना डालकर खाएं. अगर पत्थरी हो तो ये चूना नही खाना. अन्यथा ये बेहद प्रभावशाली इलाज है.

  18. Pls tell me treatment of c6 level spondalise

  19. sanjay kumar upadhyay

    Namaskar sir, mai 3 saal se back pain se pareshan hun aur side Ke Nash me dard rahta Hai. Please give me treatment.

  20. sir vijaysar ka churan kaha se milega

  21. सागर सोलकी

    गर्दन दर्द तेल चाहिये। मगाने का पता किया है

  22. I have same problem I guess , how do I know exactly I have same problem is there any test where I can find my exact problem pls suggest.my neck from right side and so time my right shoulder also have pain, but neck always in pain even I slept properly.
    I eat Chunna everyday now , but I heard Chunna makes your eyes sight week. Is that right?

  23. Sir namaskar. Mere ko 8 sal s. Gardan m dard rehta h. Gardan ko left m modta hu to gardan tadhi ho jati h. Dard b hota h. Sabhi bolta h Teri gardan to. Bhadia. Jasi ho gayi h. Kya karu. Help me

  24. Hi, Good info. Please send this info to my mail id soon.

  25. Maire sir me dard hota reheat hai koi upchar bataye

  26. I am having neck pain since last one year it is too bad no medicine or therapy is working please tell me what to do

  27. Guasa ttherapy also is an effective treatment for cirvical migraine neck pain scitica discs problems or any type of back bone pain or muscular pain as it restart your blood circulation and oxygen circulation in your body

  28. My name is santanu from west bengol. My problem is right ankle pain and back pain. I am not wolking so plz help me

  29. Sir
    Namskar . Mai sqnjeev kumar patna
    Sir mere pith me aaj 2006 se l4,l5 me bahu jada dard rahta hai alopaith me v dikhaya lekin koi raht nahi hai jab v koi bhari saman uthata hu to dard bad jata hai lambi duri tak chalne par bhi dard hota hai abhi mai kamd khata hu dard nahi hai lekin choran ke bad fir ho na jay koi upay hai plese bataye mera d.o.b.hai=31/12/1978

  30. I am deepak last 2 years back pain L4 L5 please help and solve it

  31. sir my name is prince..sir meri mom (55year) k ghutno m bht pain hai doctor ko dikhya to khty hai k grees khtm ho gyi aa aur km say km 5.7 saal aur chlay gay sir koi ayurvaid treeka batayea plzz k grees v bann nay lg jaye aur pain v naa hoo plzz sir

    • sir mere wife ko sarvical ho gaya hai WO raat ko Soto nahi hai doctor we bye dawi le par koi phark nahi padha pks aap he koi aurved upchaar btaye

      • सर आप उनको गेंहू के दाने के समान चूना दीजिये, चूने को पानी में, छाछ में, लस्सी में, दही में, सब्जी में, पानी में, किसी भी वास्तु में मिला कर दे सकते हैं. और अगर उनको पत्थरी हो तो ये मत कीजियेगा. ये प्रयोग बहुत ही उपयोगी है. ज़रूर करें.

  32. Spondylitis

  33. Hi
    I m 50 yrs old female,I am very sensitive to cold weather. My hands and feets became numb and fingers of both hand and feet changes their colour from normal to blue even same is with my face, on touching my body it feels like touching ice.
    can u pl help me advising some home remedies as I avoid using allopathic medicine

    • नमस्कार मधु जी, आप एलो वेरा पीना शुरू कीजिये. आपको बहुत फायदा होगा. एलो वेरा फाइबर युक्त पीजिएगा.

  34. Vinay Kumar
    Sir namakar
    Sir ji 4 years se mujhe chakar aatye h chalne ya bethne me dikat hoti h kabhi lagta h ki gir jaunga pehle cholesterol tha phir bek heed mera sunn hojata h or ab khana paani bhi hajam nahi hota sugar bhi thik h mri CT scan bhi karaya sab normal h plls sir help me

    • आप सब से पहले अपने शरीर को Alkaline कीजिये, उसके लिए हर रोज़ सुबह लौकी का जूस पिया कीजिये, लौकी न मिले तो कद्दू का जूस, अगर वो भी ना मिले तो पत्तागोभी का जूस पिया कीजिये. एक महीने तक पियें फिर अपने रोग के बारे में बताएं.

  35. Namskar sir”
    Cervical ke karn me kandhe or chest ( chhathi) me dard rahta h chet me bhut jyada kya karan h bataye sir

  36. I am a patient survive spondylitis please save this remedy in my facebook.

  37. Sir how to increase height after 25 year .is there any hope for increments of height?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status