Saturday , 23 September 2017
Home » Major Disease » Sugar » मधुमेह का आयुर्वेदिक इलाज बिनौलो के द्वारा Diabetes ayurvedik treatment cotton seeds

मधुमेह का आयुर्वेदिक इलाज बिनौलो के द्वारा Diabetes ayurvedik treatment cotton seeds

मधुमेह का आयुर्वेदिक इलाज बिनौलो के द्वारा Diabetes ayurvedik treatment cotton seeds

मधुमेह या चीनी की बीमारी एक खतरनाक रोग है। रक्त ग्लूकोज ( blood sugar level ) स्तर बढा़ हूँआ मिलता है, यह रोग मरीजों के (रक्त मे गंदा कोलेस्ट्रॉल,) के अवयव के बढने के कारण होता है। इन मरीजों में आँखों, गुर्दों, स्नायु, मस्तिष्क, हृदय के क्षतिग्रस्त होने से इनके गंभीर, जटिल, घातक रोग का खतरा बढ़ जाता है।भारत में 5 करोड़ 70 लाख से ज्यादा लोगों को डाइबटीज है और 3 करोड़ से ज्यादा को हो जाएगी अगले कुछ सालों में (सरकार ऐसा कह रही है ) , हर 2 मिनट में एक आदमी डाइबटीज से मर जाता हैं !

तो ऐसी स्थिति मे हम क्या करें ?

onlyayurved कि एक छोटी सी सलाह है कि आप insulin पर ज्यादा निर्भर ना रहें ! क्यूंकि ये insulin डाईब्टीज से भी ज्यादा खराब है side effect इसके बहुत हैं !! तो आप ये आयुर्वेद की दवा का फार्मूला लिखिये !
और जरूर इस्तेमाल करें

पहले आपको बता देते है बिनौलो के बारे में कुछ जानकारी 

बिनौले कपास का बिज होते हैं जिनका उपयोग हम अक्सर भैंस, गाय अथवा अन्य किसी दूध देने वाले जानवर को खिलाने में करते है।इसके सेवन से दुधारू जानवर के दूध में फैट बढ़  जाता है और साथ में दूध कि मात्रा भी बढ़ जाती है ।

आइये अब आपको बता रहे है बिनौलो के द्वारा मधुमेह यानि शुगर या diabetes का परमानेंट इलाज

सामग्री :-

बिनोलें  :-   5 तोला

मिश्री  :-  3 तोला

पानी :-  250 ग्राम

दवा बनाने कि विधि :-

बिनौलों को रात में पानी में भिगो दीजिये ।पूरी रात इन्हें भीगने दीजिये । सुबह बिनौलों को पानी में ही मसलकर छान लीजिये और छने  हुवे पानी को किसी लोहे कि कढाई में डालकर आग पर चढ़ा दें ।अब इसमें 3 तोला  मिश्रीला दें । जब  सब मिलकर शहद जैसी चासनी हो जाए तब उतारकर ठण्डा  कर लीजिये ।अब इसे इस तरह रोज सुबह खली पेट सेवन कीजिये कि यह दवा 21 दिन तक चले । 21  दिन तक सेवन करने से मधुमेह मिट जाता है ।

सावधानियाँ :-

चीनी का प्रयोग कभी ना करें और जो sugar free गोलियां का तो सोचे भी नहीं
गुड़ खाये , फल खाये ! एक धागे वाली मिश्री आती है उसका प्रयोग कर सकते है भगवान की बनाई गई को भी मीठी चीजे खा सकते हैं !!
रात का खाना सर्यास्त के पूर्व करना होगा !! मतलब सूर्य अस्त के बाद भोजन ना करें

ऐसी चीजे ज्यादा खाए जिसमे फाइबर हो रेशे ज्यादा हो, High Fiber Low Fat Diet घी तेल वाली डायेट कम हो और फाइबर वाली ज्यादा हो रेशेदार चीजे ज्यादा खाए। सब्जिया में बहुत रेशे है वो खाए, डाल जो छिलके वाली हो वो खाए, मोटा अनाज ज्यादा खाए, फल ऐसी खाए जिनमे रेशा बहुत है ।

आपने पूरा लेख पढ़ा इसके लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद

इस जानकारी को अपने facebook पर शेयर करके लोगो को जरुर बताए ।

मधुमेह से सम्बंधित अन्य लेख पढ़ने के लिए यहा क्लिक करे 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Share
DMCA.com Protection Status