Monday , 18 November 2019
Home » Bhagandar tratiment » भगन्दर के लिए अचूक और गुणकारी नुस्खे जो सरल और अनुपम है|

भगन्दर के लिए अचूक और गुणकारी नुस्खे जो सरल और अनुपम है|

भगन्दर के लिए अचूक और गुणकारी नुस्खे जो सरल और अनुपम है|

1 .- प्रथम –                                                                                                                                                                              विधि —- गो घृत 30 ग्राम और सफेद राल 15 ग्राम .पहले घी को किसी कडछी में डालकर आग पर रखे .                                              जब खूब गर्म हो जाये तब बारीक़ किया हुआ राल का चूर्ण डाल ले .फिर आग से उतारकर किसी                                              किसी कांसी की थाली में रखकर एक सों बार पानी से धो ले .त्तपश्यात बती को खूब तर करके                                              भगन्दर के अंदर रखा करे .कुछ दिनों के प्रयोग से रोग जड से मिट जाएगा .यह हर प्रकार  के                                                नासूर के लिए गुणकारी .

2 .- दूसरा –                                                                                                                                                                               विधि —- 25 ग्राम त्रिफला को 125 ग्राम पानी में खूब पकायें .जब 50 ग्राम शेष रहे तब मल छानकर बोतल                                         इस पानी में बिल्ली की हड्डी घिसकर बत्ती तर करके भगन्दर के अंदर रखे .भगन्दर और नासूर                                          दोनों के लिए लाभप्रद है .

3 .- तीसरा –                                                                                                                                                                              विधि —- समुंद्र झाग और पोस्त बराबर मात्रा में लेकर जला ले .फिर बारीक़ पिस करके शहद से बत्ती को तर                                      करके ऊपर यह राख छिडक कर भगन्दर के अंदर रखे .नासूर और भगन्दर दोनों इसके प्रयोग से                                              चले जाते है .

4 .- मस्सों का गिरना –                                                                                                                                                             विधि —- कोडी और मनुष्य की हड्डी दोनों को जलाकर बारीक़ कर ले .थोड़े से पानी में मिलाकर मस्सों पर लेप                                    किया करे .मस्से बहुत शीघ्र गिर जायेंगे .

5 .- हितकारी लेप –                                                                                                                                                                    विधि —- हरा माजू और लाल शक्कर दोनों को समान मात्रा में लेकर पानी में पीसकर नित्य प्रति बवासीर के                                         मस्सों पर लेप करे .मस्सों की सुजन आदि दूर होकर मुरझा जायेंगे .

6 .- सरल योग –                                                                                                                                                                       विधि —- 15 ग्राम नाग को लोहे की खरल में डालकर इतना खरल करे की सुरमे की तरह बारीक़ पिस जाये .                                           अब इसमें एक सों बार का धोया हुआ 25 ग्राम मक्खन मिलावे और अंगुली ले खूब एक रस बनाकर                                      चोडे मुंह की शीशी में रखे .दोनों समय मस्सों पर लगाया करे .पन्द्रह बीस दिनों में मस्से सुखकर                                            स्वय मुरझा जायेंगे .बड़ा अनुपम और सरल उपचार .

7 .- अन्य योग –                                                                                                                                                                       विधि —- साफ रसोत 15 ग्राम और गाय का घी 30 ग्राम .रसोत को घी में मिला कर दोनों समय मस्सों                                               पर लगाया करे .अत्यधिक हितकारी है .

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status