Sunday , 23 February 2020
Home » आयुर्वेद » जड़ी बूटियाँ (page 3)

जड़ी बूटियाँ

स्त्री पुरुषों के लिए वरदान – तोड़े कमजोरी की मुंडी – इसका नाम ही है गोरखमुंडी

गोरखमुंडी

गोरखमुंडी के फायदे, Benefit of Gorakhmundi, gorakhmundi ke fayde, benefit of Sphaeranthus indicus in hindi गोरखमुंडी का इस्तेमाल आयुर्वेद मतानुसार प्लीहा, पीलिया, पित्त विकार, वातज, कंठमाला, क्षयजनित ग्रंथियां, खुजली, दाद, कुष्ठ, यौन रोग तथा गर्भाशय की वेदना दूर करने के लिए किया जाता है. गोरखमुंडी कटु, तिक्त आदि गुणों के कारण अपची, अपस्मार, गलगंड, एवं शलिपद आदि रोगों का शमन …

Read More »

गुड़मार अर्क मधुमेह, उच्च कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड स्तर, हृदय दुर्बलता की एक उत्तम औषधि !

गुड़मार (वानस्पतिक नाम : Gymnema sylvestre ) एक औषधीय पौधा है जो मध्य भारत (मध्य प्रदेश), दक्षिण भारत और श्रीलंका का देशज है॥ यह बेल (लता) के रूप में होता है। इसकी पत्ती को खा लेने पर किसी भी मीठी चीज का स्वाद लगभग एक घंटे तक के लिए समाप्त हो जाता है। इसे खाने के बाद गुड़ या चीनी की मिठास खत्म हो जाती है और वह …

Read More »

शिवलिंगी / पुत्री या पुत्रजीव प्रजनन क्षमता बढ़ाये, स्त्रि रोगो के साथ ही और नौ 9 रोगों में भी लाभदायक हैं

शिवलिंगी बीज एक आयुर्वेदिक औषधि हैं जिसका घटक सिर्फ एक बीज ही हैं और वो हैं ब्रयोनोप्सिस लेसिनियोसा का बीज जिसे समान्यतया शिवलिंगी कहा जाता हैं। शिवलिंगी बीज का प्रयोग पुरे देश में प्रजनन क्षमता बढ़ाने और स्त्रियों के रोग विकारो को दूर करने के लिए किया जाता हैं,इसका प्रयोग स्वस्थ बच्चे के जन्म के लिए भी किया जाता हैं। …

Read More »

चन्द्रप्रभा वटी – ऐसा अद्धभुत आयुर्वेदिक रसायन जो बुढ़ापा और रोगों को दूर रखे !!

मूत्र, मासिक, धातु रोग में है बहुत फायदा- chandraprbha vati ke fayde आयुर्वेद में इसे रसायन कहा गया है ! रसायन उसे कहते हैं जो बुढ़ापा और रोगों को दूर रखे ! इसके सेवन करने से 20 प्रकार का प्रमेह, मूत्रकृच्छ, मूत्राघात, पथरी रोग, मलबद्धता, अनाह (अफारा), शूल, उपदंश, गाँठ, अर्बुद, अंडकोष फूलना, पीलिया, कांवर, हलीमक, आंते बढ़ना, कमर की …

Read More »

बवासीर, मासिक विकार , वीर्य विकार, दाद , मिर्गी और नेत्र रोग में अत्यंत लाभकारी है अखरोट – walnut

अखरोट

Walnut, Walnut Benefits, Akhrot, Akhrot ke fayde, अखरोट , अखरोट के फायदे , अखरोट का परिचय : अखरोट पर्णपाती , बहुत सुन्दर और सुघंधित वृक्ष होते है, स्थानभेद से तथा अंतस्तर के रूप के अनुसार इसके दो प्रकार होते है। 1. जंगली अखरोट 2. कागजी (कृषिजन्य) अखरोट जंगली अखरोट : जंगली अखरोट 30 – 40 मी. तक ऊँचे, अपने आप …

Read More »

कीड़ा जड़ी – प्रकृति का चमत्कार फायदे अपार हृदय, यकृत तथा गुर्दे, अस्थमा जैसे बड़े रोगों में !

कीड़ा जड़ी

प्रकृति का एक अद्भुत उपहार- कीड़ा जड़ी (कार्डिसेप्स साइनेनसिस) देवभूमि हिमालय एवं वनोषधियों का सम्बन्ध आदिकाल से रहा है। प्राचीन काल में ऋषि-मुनि हिमालय में तप करने के साथ-साथ ही अनेक दिव्य औषधियों की खोज भी करते थे। महर्षि चरक ने हिमालय के केदारनाथ क्षेत्र मे अनेक जड़ी-बूटियों का औषधीय ज्ञान प्राप्त किया। रामायण काल का ही प्रसंग लें तो …

Read More »

बीमारियों का काल पोकवीड: एंटी-बायोटिक, इंफ्लेमेंटरी, रूमेटिक, स्कर्वीजनक, सिफिलिटिक और एंटी-ट्यूमर

पोकवीड pokeweed एक बारहमासी जड़ीबूटी है, एंटी-ट्यूमर के रूप में कार्य करता है, रूमेटाइड अर्थराइटिस के दर्द को दूर करें, श्वसन संक्रमण के इलाज के लिए उपयोगी। तो आइये जानते है कैसे संजीवनी की तरह काम करता है पोकवीड कैंसर का इलाज, श्वसन संक्रमण का इलाज, अर्थराइटिस, प्रतिरक्षा प्रणाली में मजबूती, महिलाओं के लिए पोकवीड में । पोकवीड एक बारहमासी जड़ीबूटी …

Read More »

आप के घर के पास ही है ये रामबाण दवा जाने इसके हैरान कर देने वाले 81 औषधीय प्रयोग – अडूसा

अडूसा

आज हम VASAKA ( अडूसा ) के पौधे की चर्चा कर रहे है. जो कि हर प्रकार की खाँसी को मिटाने की क्षमता रखता है आइये जाने कैसे …. VASAKA के पोधे को सामान्यता ADULSA( अडूसा ) , MALABAR NUT और ADHATODA के नाम से जाना जाता है. इसका botanical नाम Adhatoda vasica है जो की Acanthaceae family से सम्बंधित …

Read More »

अगर ये जंगली घास आपके घर के आस पास दिखे तो इसको फालतू समझ उखाड़ने की भूल मत करना

प्रकृति ने अपने खजाने से हमको हमेशा ही भरपूर किया है, बस हम ही उसको पहचान नहीं पाते. पहले लोगों को जड़ी बूटी का बहुत ज्ञान होता था मगर ये ज्ञान धीरे धीरे लुप्त हो गया, मगर अभी भला हो कुछ ऐसी समाज सेवी संगठनों का जिन्होंने अभी इसको दोबारा पुनर्जीवित करने का फैसला किया है. www.onlyayrved.com इसी सन्दर्भ में …

Read More »

अगर ये जंगली घास आपके घर के आस पास दिखे तो इसको फालतू समझ उखाड़ने की भूल मत करना

प्रकृति ने अपने खजाने से हमको हमेशा ही भरपूर किया है, बस हम ही उसको पहचान नहीं पाते. पहले लोगों को जड़ी बूटी का बहुत ज्ञान होता था मगर ये ज्ञान धीरे धीरे लुप्त हो गया, मगर अभी भला हो कुछ ऐसी समाज सेवी संगठनों का जिन्होंने अभी इसको दोबारा पुनर्जीवित करने का फैसला किया है. www.onlyayrved.com इसी सन्दर्भ में …

Read More »
DMCA.com Protection Status