Thursday , 16 August 2018
Home » Child » cold-cough » छाती में बलगम और सूजन को दूर करने के 7 घरेलू उपचार

छाती में बलगम और सूजन को दूर करने के 7 घरेलू उपचार

छाती में जमाव एक बहुत ही असुविधाजनक स्थिति है, जो श्वसन तंत्र में बलगम के निर्माण के कारण होती है। बलगम का निर्माण आम सर्दी, फ्लू, अस्थमा, निमोनिया और अन्य श्वसन पथ संक्रमणों का परिणाम हो सकता है। छाती में जमाव के लक्षण छाती में दर्द, घरघराहट खांसी, गले के दर्द, निगलने में कठिनाई, चक्कर आना, अकड़ी हुई छाती और फेफड़ों में कफ शामिल हैं।

हालांकि ज्यादातर लोग छाती में जमाव से पीड़ित होने पर डॉक्टर से सलाह और दवाई लेते हैं, और कुछ घरेलू उपचारों से छाती में जमाव के लक्षणों से राहत पाने में बहुत लाभ मिलता है। हम आपको छाती में जमाव के खिलाफ उपचार करने के लिए कुछ आसान 7 उपाय बताएंगे।

फेफड़ों में इन्फेक्शन और सूजन को दूर करने 7 घरेलू उपचार

 बलगम को हटाने में मदद गर्म पानी

आपको छाती में जमाव के लिए, एक कप गर्म पानी दिन में 2 से 3 बार पीना चाहिए। गर्म पानी आपके श्वसन पथ में जमे बलगम को हटाने में मदद करेगा और कुछ राहत प्रदान करेगा।

बलगम के निर्माण को रोके प्याज के रस के साथ शहद

प्याज में सल्फर और किरेटिन होते हैं, जो बलगम के निर्माण को रोकने और छाती में जमाव और दर्द से राहत प्रदान करते हैं। इसमें जीवाणुरोधी गुण हैं जो इन्फेक्शन के प्रसार को रोकने में मदद करते हैं। प्याज का एक टुकड़ा पीसकर इसका रस निकालें। प्याज के रस का चम्मच लें, और इसमें शहद की कुछ बूंदों को मिलाएं, और इसे 2 से 3 बार एक दिन उपयोग करें।

नमक और गर्म पानी के गरारे

एक गिलास गर्म पानी लें, और इसमें एक चम्मच नमक मिलाएं। इससे 1 से 2 मिनट के लिए, 3 से 4 बार गरारे करें। नमक पानी कफ को ढीला कर देगा और आपकी खांसी को शांत करेगा। यदि आपको लगता है कि कफ आपके गले में आ रही है, तो इसे निगलने के बजाए, इसे बाहर थूकना बेहतर होता है।

यदि आप कफ निगल लेते हैं, तो कफ में बैक्टीरिया और गंदगी हो सकती है, जो आपके स्वस्थ होने की गति को धीमा कर देंगे। जब आप कफ को थूकते हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप अपने आसपास के लोगों को अपनी बीमारी के कीटाणु फैलाने से बचें।

गर्म पानी के साथ शहद और नींबू का रस

शहद एक प्राकृतिक डिकंजेस्टेन्ट है, और नींबू में मौजूद विटामिन-सी आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने में मदद करेगा। इस मिश्रण को गर्म पीने के साथ पीने से आपके गले और फेफड़ों में जीवाणु इन्फेक्शन का प्रसार रोकने में मदद मिलेगी और आपकी छाती में जमे बलगम को ढीला करने में मदद मिलेगी। एक गर्म गिलास पानी में नींबू के रस का एक छोटा चम्मच और शहद का एक छोटा चम्मच मिलाएं, और इस मिश्रण को दिन में 2-3 बार पिएं।

नीलगिरी तेल के साथ भाप

भाप में गहरी सांस लेने से आपको बंद नाक से राहत मिलेगी और आपकी छाती में जमाव को कम करने में भी मदद मिलेगी। नीलगिरी के तेल की कुछ बूंदों को गर्म पानी में मिलाएं और भाप के रूप में इस्तेमाल से आपको बेहतर परिणाम मिलेगा, क्योंकि नीलगिरी के तेल में एनाल्जेसिक गुण और जीवाणुरोधी गुण होते हैं।

गर्म पानी से स्नान करने और आपके फेफड़ों में गहराई से गर्म पानी की भाप लेना भी सहायक होता है। आप अपने वायुमार्ग को शुष्क होने से रोकने के लिए, अपने कमरे में एक ह्यूमिडिफायर का उपयोग भी कर सकते हैं।

किडनी की हर समस्या का रामबाण इलाज है kidney RE-Activator अधिक जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

दूध के साथ हल्दी, शहद, और काली मिर्च

दूध, हल्दी, शहद और काली मिर्च का मिश्रण ठंड के कारण होने वाले इन्फेक्शन और सीने की समस्याओं का इलाज कर सकता है। हल्दी में जीवाणुरोधी और सूजन विरोधी गुण होते हैं।

काली मिर्च हल्दी की जैव-उपलब्धता बढ़ाने में मदद करती है, इसलिए यह एक अच्छा संयोजन बनाते हैं। इसके लिए आप एक गिलास दूध उबाल लें, इसमें एक छोटी चम्मच हल्दी पाउडर, काली मिर्च पाउडर और शहद की चम्मच मिला लें, और इसे दिन में दो से तीन बार पिएं।

सूजन को कम करे अदरक वाली चाय

अदरक आपके श्वसन पथ में सूजन को कम करने और जमी बलगम को कम करने में मदद करता है। आप कच्चे रूप में अदरक चबा सकते हैं, या आप अदरक के कुछ टुकड़े पीस सकते हैं, और इसे 10 मिनट के लिए पानी में उबाल कर 2 से 3 बार ये उबला हुआ पानी पी सकते हैं। अच्छे परिणामों के लिए आप इसमें शहद भी मिला सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status