Friday , 19 April 2024
Home » Drinks » गर्मियों में छाछ के विभिन्न रोगों में प्रयोग।

गर्मियों में छाछ के विभिन्न रोगों में प्रयोग।

 

गर्मियों में छाछ के विभिन्न रोगों में प्रयोग।

गर्मियों मे प्रतिदिन छाछ का सेवन बहुत लाभदायक है। छाछ पीने के ढेरों लाभ हैं। गर्मियों मे रोजाना छाछ का सेवन अमृत के समान है। बाजार में बिकने वाले महंगे शीतल पेयों से छाछ लाख गुना अच्छी है। छाछ को आप विभिन्न रोगों के लिए अलग अलग तरीकों से इसका उपयोग कर सकते हैं। 

एसिडिटी

गर्मी के कारण अगर दस्त हो रही हो तो बरगद की जटा को पीसकर और छानकर छाछ में मिलाकर पीएं। छाछ में मिश्री, काली मिर्च और सेंधा नमक मिलाकर रोजाना पीने से एसिडिटी जड़ से साफ हो जाती है।

रोग प्रतिरोधकता बढाए

इसमें हेल्‍दी बैक्‍टीरिया और कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं साथ ही लैक्‍टोस शरीर में आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है, जिससे आप तुरंत ऊर्जावान हो जाते हैं।

पीलिया में

पीलिया रोग में भी एक कप छाछ में 10 ग्राम हल्दी मिलाकर दिन में तीन-चार बार लेने से फायदा होता है।

कमरदर्द, जोड़ों का दर्द व गठिया में

कमरदर्द, जोड़ों का दर्द व गठिया आदि में भी छाछ का प्रयोग विशेषज्ञ की सलाह से कर सकते हैं।

कब्ज

अगर कब्ज की शिकायत बनी रहती हो तो अजवाइन मिलाकर छाछ पीएं। पेट की सफाई के लिए गर्मियों में पुदीना मिलाकर लस्सी बनाकर पीएं।

खाना न पचने की शिकायत

जिन लोगों को खाना ठीक से न पचने की शिकायत होती है। उन्हें रोजाना छाछ  में भुने जीरे का चूर्ण, काली मिर्च का चूर्ण और सेंधा नमक का चूर्ण समान मात्रा में मिलाकर धीरे-धीरे पीना चाहिए। इससे पाचक अग्रि तेज हो जाएगी।

विटामिन

छाछ  (बटर मिल्‍क) में विटामिन सी, ए, ई, के और बी पाये जाते हैं जो कि शरीर के पोषण की जरुरत को पूरा करता है।

लाये चेहरे पे चमक।

छाछ को गर्मियों में भोजन के बाद नियमित पीने से चेहरा चमकने लगता है। खाने के साथ छाछ पीने से जोड़ों के दर्द से भी राहत मिलती है। छाछ कैल्शियम से भरपूर होती है।

मिनरल्स

छाछ  स्वस्थ पोषक तत्वों जैसे लोहा, जस्ता, फास्फोरस और पोटेशियम से भरा होता है, जो कि शरीर के लिये बहुत ही जरुरी मिनरल माना जाता है।यदि आप डाइट पर हैं तो रोज़ एक गिलास मट्ठा पीना ना भूलें। यह लो कैलोरी और फैट में कम होता है।

[ये भी ज़रूर पढ़ें – जो पिए लस्सी वो जिए अस्सी ]

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

DMCA.com Protection Status