Tuesday , 23 October 2018
Home » Health » motapa » lose weight fast » पोषक-तत्वों से भरपूर इस खीर से होगा केवल “1 सप्ताह” में वजन कम, आज ही करें !!

पोषक-तत्वों से भरपूर इस खीर से होगा केवल “1 सप्ताह” में वजन कम, आज ही करें !!

मोटापा कई सारी बीमारियों की जड़ है। तो अगर आप इस जड़ को खत्म करने का प्रयास बहुत दिन से कर रहे हैं और वजन कम करने के लिए सारे उपाय अपनाकर थक चुके हैं तो आज ही अपामार्ग औषधि आजमायें। ये औषधि वजन कम करने के लिए रामबाण उपाय है।

क्या है अपमार्ग औषधि

अपामार्ग एक औषधीय वनस्पति है। इसका वैज्ञानिक नाम ‘अचिरांथिस अस्पेरा’ ( ACHYRANTHES ASPERA ) है। हिन्दी में इसे ‘चिरचिटा’, ‘लटजीरा’, ‘चिरचिरा ‘ आदि नामों से जाना जाता है। इसे सर्दी का पौधा भी कहते हैं क्योंकि ये पौधा सर्दी या सम तापमान वाली जगहों में खुली जगहों पर पाया जाता है।अधिकतर लोग इसके गुणों से अनजान होते हैं।

पोषक-तत्वों से भरपूर पौधा

इस पौधे में प्रचूर मात्रा में पोटैशियम, सोड़ा, आयरन, गंधक और साल्‍ट होता है। अपामार्ग का स्वाद तीखा और कडुवा होता है और इसकी तासीर थोड़ी गर्म होती है।

 

इसके फायदे

  • यह पाचन शक्ति को बढ़ता है।
  • यह कई रोगों के लिए बहुत फायदेमंद है।
  • पथरी, बुखार, गर्भावस्‍था के दौरान होने वाला दर्द, विष के प्रभाव को कम करने वाला, रक्‍तशोधक औषधि है।
  • सांस रोग जैसे दमा होने पर इस पौधे का सेवन करना चाहिए।
  • अपामार्ग आसानी से सभी जगह उपलब्‍ध है।

सिर्फ 1 से 3 महीने में 90 % Heart Blockage भी हो जाएगी छु मंतर – आयुर्वेद का वरदान

वजन कम करे

  • वजन कम करने के लिए सबसे पहले इसके बीजों की खीर बना लें।
  • फिर इस खीर को ब्रेकफास्ट में खाएं।
  • इससे देर तर भूख नहीं लगती और ये मेटाबॉलिज्म को तेज कर खाना ज्लदी और आसानी से पचाता है।
  • अगर आप खाना नहीं खाएं हैं और इसकी खीर खाएं हैं तो भी आपको शरीर में कमजोरी महसूस नहीं होगी। क्योंकि ये शरीर की सारी जरूरी पोषक-तत्वों की जरूरतों को पूरा कर देता है।
  • इसलिए ज्यादातर लोग वजन कम करने के लिए इस दवा का इस्तेमाल करते हैं।
  • इस खीर को एक सप्ताह तक लगातार खाएं। इससे एक सप्ताह में ही वजन कम हो जाएगा।

अन्य फायदे

  • अपामार्ग चूर्ण, काली मिर्च  को मधु के साथ मिलाकर चाटने से सांस की बीमारियों में फायदा होता है।
  • अपामार्ग, गूलर पत्र, काली मिर्च को पीसकर चावल के मांड़ के साथ खाने से से श्वेत प्रदर धीरे-धीरे समाप्‍त हो जाता है।
  • बड़ की दाड़ी, खजूर पत्र एवं अपामार्ग के क्वाथ से कुल्‍ला करने पर सभी प्रकार की दांत की समस्‍यायें समाप्‍त हो जाती हैं।
  • अपामार्ग को पीस कर स्तनों पर लेप करने से दूध अधिक उतरता है।

2 comments

  1. Hello Sir/Mam,
    My self Bhavin Patel From Gujarat and I start the business of ayurvedic product selling so what is the process and send me the price list and also send me product benefits and margin ratio.
    Thank You,
    Bhavin

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status