Tuesday , 10 December 2019
Home » pet ke liye » कब्ज (पेट साफ )के लिए अनुभव किये हुए नुस्खे -शीघ्र परिणाम वाले

कब्ज (पेट साफ )के लिए अनुभव किये हुए नुस्खे -शीघ्र परिणाम वाले

कब्ज (पेट साफ )के लिए अनुभव किये हुए नुस्खे -शीघ्र परिणाम वाले

कहते है की शरीर में रोग का आगमन पेट की खराबी से ही होता है अगर आपका पेट स्वस्थ रहेगा तो आपको

बीमारी नही छु सकती ,लेकिन आजकल भागदोड़ भरी जिन्दंगी में हम अपने शरीर और पेट का ख्याल नही

रखते है और खाने-पिने में गलत चीजों का सेवन करते है जिससे पेट के बीमारी की  समस्या हो जाती है जिसमे

मुख्य रूप से कब्ज का होना घातक होता है जब तक मनुष्य का पेट अच्छी तरह साफ नही होगा किसी न किसी

बीमारी से ग्रषित होता है

कब्ज होने के कुछ लक्षण – 1.जीभ के अगले हिस्से m दांयी व बायीं और लाल -लाल छोटे-छोटे दाने दिखलाई पड़ते है

2. जीभ पर कुछ भीतर की और समतल रूप में काले-काले निशान दिखलाई पड़ते है ये निशान पेट में खराबी व

कब्ज होने की पहचान है .

1.- कब्ज तोड़ —

दवा —- बड़ी हरड का बक्कल ,सेंधा नमक ,सोंठ ,सोंफ ,सनाय पती सभी को बराबर मात्रा में लेकर कूटपिस कर

चूर्ण बना ले और इस चूर्ण की 3 ग्राम की मात्रा में गरम पानी के साथ रात को सोते समय ले

सुबह खुलकर एक दस्त आ जायेगा .

2.-हमेशा कब्ज की शिकायत बनी रहे –

दवा —- कब्ज की शिकायत वाला व्यक्ति रात को खाने के बाद पपीते का सेवन लगातार करे .ऐसा करने से सुबह

दस्त साफ होता है .

3. – पेट साफ करना ,पेट दर्द ,अफारा ,बदहजमी ,खट्टी डकारे ,उल्टियो पर कारगर नुस्खा –

दवा —- तुलसी के सूखे पत्ते 20 ग्राम ,अजवायन 20 ग्राम ,सेंधा नमक 10 ग्राम ,सबको पीसकर मिलाकर रखे

इस चूर्ण की 3 ग्राम की मात्रा में रात को गुनगुने पानी के साथ ले ,सुबह पेट साफ होगा और पेट दर्द ,आफरा ,बदहजमी

आदि बंद होगी .

4.-दवा —- काला दाना 25 ग्राम गुलाब के फुल 25 ग्राम ,स्नाय पत्ती 50 ग्राम ,सोंफ 5 ग्राम पहले काला दाना को

कढाई में भुन ले और सबको कूट पीसकर मिला ले और 5-9 ग्राम मात्रा में गुनगुने पानी से ले इससे पेट अच्छी तरह

साफ होगा .इसके सेवन के दुसरे दिन भोजन हल्का सेवन करे .

5.-दवा —- छोटी हरड 200 ग्राम घी में भुनी हुई ,सनाय पत्ती 100 ग्राम ,सोंफ 25 ग्राम ,कुटकी 50 ग्राम ,

अजवायन 50 ग्राम ,देशी खांड 600 ग्राम सभी को कूट पीसकर रखे ले और एक छोटा चम्मच चूर्ण रात को खाने

के o घंटे बाद ताजा पानी से ले .इससे 1-2 दस्त आयेंगे और आंव भी आएगी .

6.- बहुत ज्यादा कब्ज होने पर –

दवा —- छोटी हरड घी में भुनी हुई ,अजवायन और काला नमक तीनो को 100-100 ग्राम लेकर कूट -पिस कर

चूर्ण बना ले और एक चम्मच खाने के बाद गुनगुने पानी के साथ ले .

7 .- कब्ज के लिए रामबाण नुस्खा –

दवा —- गेंहुम 500 ग्राम ,अलसी बीज 500 ग्राम ,सोंफ 150 ग्राम ,सोंठ 150 ग्राम

अब सोंठ को छोडकर बाकि की चीजे अलग -अलग कढाई में अधभुना करके पिस छान ले और इसमें सोंठ के

चूर्ण को मिलाकर रख ले और यह चूर्ण 5 चम्मच को प्रति दिन सुबह खाली पेट चाय के साथ या गरम पानी के साथ

ले जिसके शुगर ना हो तो वो लोग इस चूर्ण में 300 से 400 ग्राम गुड मिलाकर पंजीरी की तरह रोज सुबह ले

इसके लेने के डेड घंटे बाद कुछ नही ले .

8.- कब्ज दूर करने के लिए –

अमलतास का गुदा 25 ग्राम ,सोंफ 5 ग्राम ,गुलाब के सूखे फुल 15 ग्राम ये सभी एक समय की दवा है यह दवा 200

ग्राम पानी में सुबह भिगो दे और रात को क्वाथ बनाकर पी जाये सुबह खुलकर दस्त आएगा .

9.-पुराणी से पुराणी कब्ज के लिए –

दवा —- अमलतास की फली लगभग 3-4 इंच लेकर इसे साबुत ही मोटा -मोटा छिलके समेत कूटकर 200 ग्राम

अणि में सुबह भिगोकर रख दे ,और रात को इसका क्वाथ बनाये .8-10 उबाल लगाने के बाद इसको मसलकर छान

ले अब छाने हुए पानी में 200 ग्राम दूध मिलाकर उबाले ,जब दूध शेष रह जाये उसे  छान ले इस गुनगुने क्वाथ के साथ

एक चम्मच इसबगोल की भूसी पानी से निगल कर ऊपर से क्वाथ पी जाये .इससे पेट अच्छा साफ होगा .

10 .-कई वर्षो पुराणी कब्ज का नाश –

दवा —- अमलतास का गुदा 10 ग्राम को 200 ग्राम पानी में उबाले 100 ग्राम शेष रहने पर उसके साथ पंचसकार

चूर्ण आधा से एक चम्मच रात को खाने के 2 घंटे बाद दे .

11. -सख्त कब्ज का नुस्खा –

दवा —- मुली का रस 60 ml से १२० ml में चुटकी भर नमक मिलाकर सुबह शाम खाली पेट पिला दे बहुत जल्दी ही

कब्ज का नाश होता है .

12 .-पुराणी कब्ज व आंव निकलने हेतु –

दवा —- कुटकी 50 ग्राम .अजवायन 50 ग्राम ,सनाय पत्ती 100 ग्राम कूट पीसकर छान ले और 2-3 ग्राम की

मात्रा में सुबह 12 बजे और रात को 9 बजे गरम पानी से दे .इससे लाल -काली व पीले रंग की आंव निकलती है

और पेट साफ होता है .

13 .- पुराणी कब्ज व आंव निकलने हेतु –

दवा —- रास्ना ,अमलतास ,देवदारु ,पुननर्वा ,एरंड मूल ,गिलोय बराबर -बराबर लेकर मोटा -मोटा कूटकर रख

ले और 25 ग्राम चूर्ण 200 ग्राम पानी में उबाले 50 ग्राम शेष रहने पर इसमें सोंठ 1 ग्राम एरंड तेल 20 ग्राम मिलाकर

सुबह खाली पेट पिला दे .अन्तो में भरी आंव निकल जाएगी .

14 .-पेट साफ करने के लिए –

दवा —- पंचसकार चूर्ण आधा चम्मच ,और सेंध नमक 1 ग्राम रात को खाने के दो घंटे बाद दे इससे पेट साफ होता है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status