Saturday , 15 August 2020
Home » Health » पेट के रोग » गैस और कब्ज » क्या आपके पेट में गेस या अफरा बनता है तो आपके लिए रामबाण उपाय

क्या आपके पेट में गेस या अफरा बनता है तो आपके लिए रामबाण उपाय

क्या आपके पेट में गेस या अफरा बनता है तो आपके लिए रामबाण उपाय

परिचय –

पेट में गेस की समस्या अब आम होती जा रही है ,मुख्यतः यह खाने-पिने की अनियमितता और अधिक चिंता से

होती है .नियमित खाना खाने से व सन्तुलित भोजन द्वरा भी कुछ हड तक गेस से छुटकारा पाया जा सकता है

इसके और भी अन्य तरीके है जिससे हम पेट में गैस की समस्या से छुटकारा पा सकते है

नींबू –

एक बड़े गिलास में आधा नींबू निचोड़कर रोज सुबह पिने से गेस की समस्या समाप्त हो जाती है

मुली –

लंच या डिनर के साथ मुली पर नमक,कालीमिर्च डालकर दो महीने तक नियमित खाने से उदर वायु ,गैस दूर होती है

लोंग –

पांच लोंग पीसकर उबलते हुए आधे कप पानी में डालिए ,फिर ठंडा होने के बाद पीजिये ,इस किर्या को दिन में तीन बार

दोहराएं साडी गेस निकल जाएगी .

सेब –

एक लाल सेब ले ,उसे कांटे से चारो तरफ से गोद दे ,फिर गुदे हुए सेब में जितनी भी लोंग जाये अंदर की तरफ

घुसाकर भर दे .पन्द्रह दिनों तक सेब को जहा हवा न लगे ,वहा रख दे ,सोलहवे दिन साडी लोंग निकालकर एक

शीशी में रख दे और सेब फेंक दे ,तीन लोंग को घिसकर तीन बूंद शहद के साथ रोज दस दिन तक सुबह के समय

लीजिये ,यह बड़ी गुणकारी साबित होगी ,

सेब का रस भी प्रतिदिन पिने से पेट की गेस से छुटकारा पाया जा सकता है .

बेंगन –

पानी पिने के बाद पेट फूलता है ,तो ऐसी स्थिति में ताजे लम्बे बेंगन की सब्जी खाने से एक ही मोसम में

गेस की बीमारी ठीक हो जाएगी .

अजवायन –

6 ग्राम अजवायन में डेड ग्राम काला नमक मिलाकर फांके ,पेट की गेस से आराम मिलेगा .

पुदीना –

सुबह एक गिलास पानी में 25 ग्राम पुदीने का रस व 30 ग्राम शहद मिलाकर पिने से गेस की बीमारी में आराम मिलेगा .

दूध –

दूध उबालते समय उसमे छोटी पीपल डाल दे ,फिर दूध पिए इससे गेस बननी बंद हो जाती है .

कालीमिर्च –

10 कालीमिर्च को दरदरा कूट ले आधा नींबू निचोड़कर रख ले ,फिर इस कालीमिर्च को फांक कर ,नींबू पानी पी ले

इसको सुबह -शाम लीजिये गेस बनना बंद हो जाएगी .

सोंफ –

नींबू के रस में सोंफ भिगोकर रख दे .लंच-डिनर के बाद नींबू के रस में भीगा हुआ सोंफ खाने से पेट का भारीपन

दूर होता है ,गेस बननी बंद हो जाएगी ,ज्यादा भूख लगती है और मोशन भी साफ होता है .

गेस हर चूर्ण बनाने की विधि –

छोटी हरड आधा किलो ग्राम साफ करके छाछ में सुबह फूलने के लिए डाल दे ,अगले दिन सुबह छाछ में से निकालकर

पानी से साफ करके छाया में एक कपड़े पर डालकर सुखा दे ,जब सुख जाए तब पुनः छाछ में डाल दे ,इस तरह

3-4-6 तक भावना दे सकते है .भावना देने के बाद सुख जाने पर इन्हें महीन पिस ले एंव कपड छान कर ले

इस चूर्ण में आधा पाव अजवायन पीसकर मिला दे एंव रूचि अनुसार काला नमक मिला ले ,इस तरह यह चूर्ण तेयार

हो जाता है .

भोजन के बाद यह चूर्ण गुनगुने जल से सेवन करे .चाहे तो ठंडे पानी से भी ले सकते है ,

गेस की तकलीफ में अदितीय है .तकलीफ होने पर 5-6 मिनट में ही आराम हो जाता है

इसके सेवन से पाचन-शक्ति बढती है दस्त साफ होते है .

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status