Tuesday , 20 November 2018
Home » Health » wound » गले-सड़े व् नए पुराने घावों के लिए चमत्कारी मरहम

गले-सड़े व् नए पुराने घावों के लिए चमत्कारी मरहम

गले-सड़े व् नए पुराने घावों के लिए चमत्कारी मरहम

Home Remedy For Wound Healing

अगर आपको किसी भी तरह का घाव, चाहे वो मधुमेह या कैंसर की वजह से गला-सड़ा या पुराने से पुराना घाव हो तो नीचे दी गई विधि के अनुसार मरहम  बनाए और लगाएं इससे किसी औषधि से ठीक न होने वाले घावों पर लगाने से शीघ्र ही ठीक हो जाते है। असाध्य घाव, जो किसी अन्य दवा से ठीक ना हो रहे हो वो भी इससे ठीक हो जाता है।

मरहम बनाने के लिए आवश्यक सामग्री 

नीम के पत्ते  –  40 ग्राम.

गाय का घी  –  400 ग्राम.

मरहम बनाने की विधि

नीम के पत्ते 40 ग्राम को गाय का घी 400 ग्राम में डालकर आग पर चढ़ा दें और इतना पकाएं कि पत्ते बिलकुल काले हो जाएँ। फिर आग से उतार कर दोनों को घोट-पीसकर मरहम सा बना लें। ये मरहम घावों को नीम के पानी से धुलाई कर के दिन में दो तीन बार लगायें.

विशेष

1. घाव धोने के लिए नीम का पानी- नीम के पत्ते 100 ग्राम( दो मुट्ठी ) को 600 ग्राम पानी में पांच से पंद्रह मिनट उबालें। गुनगुना रहने पर कपड़े से छान लें। रुई को इस पानी में भिगोकर घाव धोएं, घाव जल्दी भर जायेगा।

2. उपरोक्त मरहम लगाने से पहले इस नीम के पानी से घाव धो लेना उत्तम रहेगा।

3.इस नीम के पानी को ठंडा होने पर इससे सिर धोएं तो सिर की फोड़े-फुंसियां ठीक हो जाएगी। साथ ही गंजापन भी दूर होगा।

3 comments

  1. रमेश माली

    हमारे बेटे को टीबी थी उस के बारे गले मे टीबी का निसान सुना है दो बाद बीवियां है पहल पानी आता अभी नाही दादे जैसा है सर कुछ इलाज बतलाई गलती के लिय शमा के

  2. Kids ke liye calciyam ke liye koi dawa hai kya

  3. Pair ki moch aur galt soch insan ko kabhi aage nhi badhne deti.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status