Friday , 21 September 2018
Home » how it works » cough » श्वास नली की सूजन ( Bronchitis and Chronic Bronchitis ) का घरेलू इलाज !!

श्वास नली की सूजन ( Bronchitis and Chronic Bronchitis ) का घरेलू इलाज !!

यह साधारण खांसी नहीं है | यह फेफड़ों से जुड़ी श्वास नली में सूजन Bronchitis आने से होती है | यह दो प्रकार की होती है-प्रचण्ड ब्रोंकाइटिस तथा पुरानी ब्रोंकाइटिस |

प्रचण्ड ब्रोंकाइटिस

यह वायरस या जीवाणुओं से होती है | श्वास नलिका में सूजन Bronchitis आ जाती है | बलगम अधिक मात्रा में बनने लगता है |

लक्षण

सांस लेने में कठिनाई Bronchitis होती है तथा सीटी बजने की-सी आवाज आती है | बुखार भी आ जाता है | उपचार करने पर यह 7 से 21 दिनों में ठीक हो जाती है |

पुरानी ब्रोंकाइटिस Chronic Bronchitis

पुरानी ब्रोंकाइटिस Chronic Bronchitis भयंकर बीमारी है | यह प्रायः धूम्रपान करने वालों को होती है | बार-बार संक्रमण होने से श्वास नली मोटी हो जाती है और उसमें अवरोध उत्पन्न हो जाता है | सर्दी-जुकाम में यह अत्यन्त कष्टदायक होती है |

कारण

इसका मुख्य कारण धूम्रपान है | अत्यधिक धूम्रपान करने वालों को भी यह रोग सकता है |

लक्षण

प्रात:काल खांसी का जोरदार दौरा आरम्भ होता है, बलगम आता है | दिल का दौरा पड़ने की संभावना भी हो जाती है |

उपचार Chronic Bronchitis Treatment

1. हरेक प्रकार की खांसी और ब्रोंकाइटिस Bronchitis के इलाज के लिए आवश्यक है कि धूम्रपान बिल्कुल बन्द कर दिया जाए |

2. सहजन के पत्तों का सूप बनाकर पीने से श्वास से संबंधित दमा, ब्रोंकाइटिस और तपेदिक आदि रोगों में लाभ होता है |

3. लहसुन की 3-4तुरियां दूध में उबालकर रात को सोते समय पीने से श्वास नली को आराम मिलता है |

4. अदरक के एक चम्मच रस में, मेथी का एक कप काढ़ा बनाकर और उसमें शहद मिलाकर पीने से श्वास संबंधी सभी रोगों में लाभ होता है | ब्रोंकाइटिस तथा कुकर खांसी में बलगम आसानी से निकलने लगता है |

5. लौंग के तेल की चार-पांच बूंदें शहद में मिलाकर लहसुन की एक तुरी के साथ चबाकर खाने और ऊपर से थोड़ा-सा गरम पानी पीने से ब्रोंकाइटिस में लाभ होता है | इसे रात्रि में सोने से पूर्व दिन में एक बार लेना काफी रहता है | पांच-छह लौंग पानी में उबालकर, थोड़ा शहद मिलाकर, एक-डेढ़ चम्मच की मात्रा में दिन में तीन बार लेने से बलगम आसानी से निकलता है | इससे ब्रोंकाइटिस के रोगियों को बहुत लाभ होता है |

6. तीन ग्राम तुलसी के पत्तों के रस में, छह ग्राम मिश्री और तीन-चार कालीमिर्च मिलाकर प्रयोग करने से छाती की जकड़न दूर होती है और खांसी में लाभ होता है |

chronic bronchitis treatment,chronic bronchitis causes,chronic bronchitis definition,chronic bronchitis symptoms,chronic bronchitis treatment at home,chronic bronchitis diagnosis,is chronic bronchitis contagious, chronic bronchitis,bronchitis treatment,bronchitis contagious,bronchitis antibiotics,
bronchitis definition,bronchitis causes,acute bronchitis symptoms,bronchitis pneumonia,सांस की नली सिकुड़ने,श्वास नली in english,श्वास नली में इन्फेक्शन,सांस की नली में सूजन,खाने की नली,श्वास नली में सूजन,श्वास रोग के लक्षण,सांस नली में सूजन,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status