Sunday , 16 December 2018
Home » Major Disease » Thyroid » थायराइड के लक्षण, कारण, परहेज व जड़ से मिटाने के लिए 10 आयुर्वेदिक सफल नुस्खे..

थायराइड के लक्षण, कारण, परहेज व जड़ से मिटाने के लिए 10 आयुर्वेदिक सफल नुस्खे..

thyroid symptom reason and treatment in hindi 

थायराइड का इलाज इन हिंदी: थायराइड गले की  ग्रंथि  है जिससे थय्रोक्सिन हार्मोन बनता है। इस हार्मोन का संतुलन जब बिगड़ने लगता है तब ये एक रोग बन जाता है। ये हार्मोंस जब कम हो जाते है तब शरीर का मेटाबॉलिज्म काफी तेज होने लगता है और शरीर की ऊर्जा भी जल्दी खत्म हो जाती है और जब ये हार्मोंस अधिक हो जाए तो मेटाबॉलिज्म रेट काफी धीरे होने लगता है, जिस वजह से शरीर में ऊर्जा कम बनती है और सुस्ती, थकान बढ़ने लगती है। ये रोग महिलाओं में अधिक होता है। इसके उपचार के लिए लोग कई प्रकार की दवा का सेवन भी करते है। अगर आप थायराइड जड़ से खत्म करने के उपाय करना चाहते है तो यहाँ लिखे घरेलू तरीके और देसी आयुर्वेदिक नुस्खे पढ़े,

थायराइड ग्रंथि के बढ़ने पर कई प्रकार की समस्याएं आ सकती है। थायराइड कोलेस्ट्रॉल, दिल, हड्डियों और मांसपेशियों पर भी असर डालती है। बच्चों में ये रोग होने पर शरीर फैलना और लंबाई बढ़नी रुकना जैसी समस्याएं आने लगती है। थायराइड दो तरह का होता है – हाइपरथायराइड और हाइपोथायराइड। हाइपरथायराइड होने पर शरीर में थायराइड हार्मोंस कम होने लगते है और हाइपोथायराइड में हार्मोंस बढ़ने लगते है।

[ ये भी पढ़िए सफ़ेद दाग का इलाज Safed daag ka ilaj ]

पुरुषों और महिलाओं में थायराइड लक्षण Thyroid Ke lakshan

थायराइड होने पर व्यक्ति का मन किसी काम में नहीं लगता और वह धीरे धीरे डिप्रेशन में आ जाता है। सोचने समझने की ताकत और याददाश्त कमजोर होने लगती है। सही समय पर अगर इस रोग को पहचान कर उपचार किया जाए तो इस बीमारी को बढ़ने से रोक सकते है।

हाइपर थायराइड के लक्षण – Hyper Thyroid ke lakshan

वजन कम होना,हार्ट बीट तेज होना,पसीना जादा आना,हाथ और पैरों में कप कपी होना आदि हैं ।

हाइपो थायराइड के लक्षण – Hypo Thyroid ke lakshan

  • वजन बढ़ना
  • क़ब्ज़ रहना
  • भूख कम लगना
  • स्किन रूखी होना
  • ठंड जादा लगना
  • आवाज़ में भारीपन आना
  • आँखो और चेहरे पर सूजन
  • सिर, गर्दन और जोड़ों में दर्द होना

कैंसर रोगियों के लिए बड़ी खबर – हर स्टेज का कैंसर हो सकता है सही – कैंसर का इलाज

Miracle Roots

थायराइड होने का कारण Thyroid ke karan

  • अधिक तनाव लेने से भी थिराइड ग्रंथि पर बुरा प्रभाव पड़ता है।
  • कई बार दवाओं (मेडिसिन) के साइड एफेक्ट से भी ये बीमारी हो जाती है।
  • भोजन में आयोडीन कम या जादा प्रयोग करने से भी थाइरोइड की समस्या हो जाती है।
  • परिवार में अगर किसी को थाइरोइड हो तो दूसरे सदस्यों को भी थाइरोइड होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • प्रेगनेंसी के समय शरीर में हारमोन में बदलाव आते है, गर्भवती महिला को थाइरोइड होने की संभावना अधिक होती है।
  • प्रोटीन पाउडर, सप्लीमेंट्स या कैप्सूल के रूप में सोया के प्रोडक्ट्स के अधिक सेवन से थायराइड होने की संभावना बढ़ती है।
  • प्रदूषण का बुरा असर हमारी हेल्थ पर पड़ता है जिस वजह से साँस के रोग हो जाते है। प्रदूषण से हवा में मौजूद जहरीले कण थाइरोइड ग्रंथि को भी नुकसान करते है।

थायराइड टेस्ट कैसे करते है – thyroid test kaise karte hai

आपको अगर थाइरोइड के लक्षण दिख रहे है तो पहले इसका टेस्ट करवाए। टी3, टी4, टीएसएच् टेस्ट करवाने से शरीर में थायराइड लेवल चेक किया जाता है।

[ ये भी पढ़िए bawasir ka ilaj बवासीर का इलाज ]

Thyroid ka ilaj – थाइरोइड का इलाज

  • हल्दी दूध: थायराइड कण्ट्रोल करने के लिए आप रोजाना दूध में हल्दी को पका कर पिए। अगर हल्दी वाला दूध न पिया जाये तो हल्दी को भून कर इसका सेवन करे।
  • लौकी का जूस: रोजाना सुबह खली पेट लौकी का जूस पिने से भी थाइरोइड खत्म करने में मदद मिलती है। जूस पिने के आधे घंटे तक कुछ खाये पिए नहीं।
  • तुलसी और एलोवेरा: दो चम्मच तुलसी के रास में आधा चम्मच एलोवेरा जूस मिला कर सेवन करना भी इस बीमारी से छुटकारा पाने का उत्तम उपाय है।
  • लाल प्याज: प्याज को बीच से काट कर दो टुकड़े कर ले और रात को सोने से पहले थायराइड ग्रंथि के आस पास मसाज करे। इसके बाद गर्दन से प्याज का रस को धोये नहीं।
  • हरा धनिया: थायराइड का घरेलू ट्रीटमेंट करने के लिए हरा धनिया पीस कर चटनी बनाये और एक गिलास पानी में एक 1 चम्मच चटनी घोल कर पिए। इस उपाय को जब भी करे ताजी चटनी बना कर ही सेवन करे। ऐसा धनिया ले जिसकी सुगंध अच्छी हो। इस देसी नुस्खे को नियमित रूप और सही तरीके से करने पर थायराइड कंट्रोल में रहेगा।
  • काली मिर्च: काली मिर्च थायराइड का उपचार में काफी फयदेमंद है। किसी भी तरीके से ले आप काली मिर्च का सेवन करे आप को फायदा करेगी।
  • बादाम और अखरोट: बादाम और अखरोट में सेलीनीयम तत्व मौजूद होता है जो  थायराइड के इलाज में फायदा करता है। इस के सेवन से गले की सूजन से भी आराम मिलता है। हाइपोथायराइड में ये उपाय जादा फायदा करता है।
  • अश्वगंधा: रात को सोते वक़्त एक चम्मच अश्वगंधा चूर्ण गाय के गुनगुने दूध के साथ सेवन करे।
  • एक्सरसाइज: रोजाना आधा घंटा एक्सरसाइज करे, इससे थाइरोइड बढ़ता नही है और कंट्रोल में रहता है।  .
  • निम्बू की पत्तियां का सेवन थाइरोइड को नियमित करता है, इसका सेवन करने से थाइरोक्सिन के अत्यधिक मात्रा में बनने पर रोक लगती है और इसकी पत्तियों की चाय भी बनाकर पी जाती है, आप इसकी चाय या रस पी सकते हैं.
  • थायराइड से छुटकारा पाने के लिए अगर आप आयुर्वेदिक दवा लेना चाहते है तो कांचनार गुग्गुलु ले। ये दवा आपको किसी भी आयुर्वेदिक स्टोर से मिल जाएगी।

थाइरोइड में क्या खाएं – Thyroid me kya khaye

थाइरोइड से प्रभावित रोगी को अपनी डाइट में विटामिन ए अधिक मात्रा में लेना चाहिए। हरी सब्जियां और गाजर में विटामिन ए जादा होता है जो थायराइड को कंट्रोल करने में मदद करता है।थायराइड से प्रभावित व्यक्ति को प्रतिदिन तीन से चार लीटर पानी पीना चाहिए, ये शरीर से विशाले पदार्थ निकालने में काफी मदद करता है। इसके इलावा एक से दो गिलास फलों का जूस भी पिए। हफ्ते में एक दिन आप नारियल पानी पिए तो अच्छा है।आयोडीन थायराइड कंट्रोल करने में काफ़ी असरदार है पर जितना हो सके नेचुरल आयोडीन का सेवन करे, जेसे की टमाटर, प्याज और लहसुन।

 

थायराइड में क्या नहीं खाना चाहिए – Thyroid me kya nahi kare

सिगरेट, तम्बाकू और किसी नशीले पदार्थो के सेवन से बचे।बाज़ार में उपलब्ध सफेद नमक का थायराइड में परहेज करे, खाने में सिर्फ सेंधा या कला नमक ही प्रयोग करे।

थायराइड ट्रीटमेंट टिप्स इन हिन्दी  – Thyroid Tips in Hindi

महिलाओं में पुरुषों की तुलना में थायराइड अधिक होता है। थाइरोइड होने पर किसी प्रकार की लापरवाही न करते हुए तुरंत इलाज शुरू करे।थायराइड के रोगी को हर तीन महीने में इसकी जांच करवानी चाहिए और टेस्ट करवाने से पहले इस बात का विशेष ध्यान रहे की थायराइड टेस्ट के 12 घंटे पहले तक कुछ खाए पिए नहीं।शादीशुदा महिला अगर थाइरोइड से प्रभावित है और वो गर्भ धारण करने की सोच रहे है तो पहले डॉक्टर से सलाह ज़रूर ले और थायराइड कंट्रोल होने के बाद ही प्रेगनेंसी का सोचे।

[ ये भी पढ़िए कैंसर का इलाज Cancer ka ilaj ]

योग और प्राणायाम से थायराइड का इलाज – Yog Pranayam Se Thyroid ka ilaj

नियमित रूप से योग और प्राणायाम कर के काफ़ी हद तक थायराइड को ठीक कर सकते है। योग के इलावा आप मेडिटेशन भी कर सकते है।  थायराइड ट्रीटमेंट योगा से करने के लिए baba ramdev के बताए उज्जयी प्राणायाम योगासन कर सकते है।मत्स्यासन,विपरितकरनी,उज्जयी प्राणायाम आदि हैं ।

थायराइड जड़ से खत्म करने के उपाय होम्योपैथिक ट्रीटमेंट से  – Thyroid ka Homeopathy Treatment

थायराइड का ट्रीटमेंट होम्योपैथिक दवाओं से भी कर सकते है इसके लिए आप किसी होमियोपैथी डॉक्टर से मिले वो आप की दिनचर्या और बीमारी को विस्तार से जान कर आप को दवा देंगे। कोई भी दवा लेने से पहले उसे लेने का सही तरीका, सही मात्रा और परहेज की जानकारी जरूर ले।

एक्यूप्रेशर से थायराइड कंट्रोल कैसे करे – Acue Pressure se Thyroid ka ilaj

हमारे दोनो पैरों और हाथों पर शरीर के सभी अंगो के कुछ पॉइंट्स होते है। एक्यूप्रेशर ट्रीटमेंट में इन पॉइंट्स पर दबाव डाल कर इलाज किया जाता है, जिसके लिए कौन से अंग का बिंदु कहाँ है और उस पर कैसे दबाव डालना है इसकी जानकारी होना जरुरी है। थाइरोइड के इलाज के लिए आप को दोनो पैरों और हाथों के अंगूठे के नीचे उठे हुए भाग पर दबाव देना है। अगर आप एक्यूप्रेशर से उपचार करना चाहते है तो पहले किसी एक्सपर्ट की देख रेख में इसे करना सीखे तभी खुद करे।थायराइड एक हफ्ते या महीने में ठीक होने वाला रोग नहीं है, इसलिए जरुरी है की इसके उपचार के लिए आप पूरा परहेज और उपाय करे।

Thyro booster – Thyroid के लिए रामबाण – अब आजीवन दवा खाने की ज़रूरत नहीं

hypo thyroid, thyro booster

अब आजीवन Thyroid की गोली खाने की ज़रूरत नहीं – Only Ayurved ने लांच की दवा – Thyro Booster – Thyroid ka ilaj

बदलते परिवेश और बदलती जीवन शैली के रोग भी बदल रहें हैं, जो थाइरोइड पूर्व काल में गलगंड के नाम से कभी कभी दूर दराज किसी को हुआ करता था वो आज घर घर का रोग बन गया है, इस रोग से सबसे ज्यादा स्त्रियाँ प्रभवित हैं. जिस कारण उनको मोटापा, बांझपन, अनियमित मासिक, गर्भाशय में गांठे इत्यादि रोग हो रहें हैं. आप इन रोगों से बचने के लिये कुछ औषधियां और कुछ घरेलु नुस्खे अपना सकते हैं. आइये आपको बता देते हैं ये घरेलु नुस्खे और कुछ औषधियों के बारे में. जिनमे Thyro Booster एक मुख्य औषधि है. इस पर भी चर्चा करेंगे पहले जान लेते हैं इसके घरेलु नुस्खे.

Hypo Thyroid के घरेलु नुस्खे.

  • तिल का तेल 10 ml (2 चम्मच) लेकर थोडा सा कुनकुना कर लीजिये, इस तेल से oil pulling (गंडूषकर्म) करनी है, अर्थात मुंह में रख कर 10 से 15  मिनट तक इसको घुमाना है और बाद में इसको थूक देना है.
  • दूसरा प्रयोग भी तिल के तेल से ही है, तिल के तेल से गले की मालिश करनी है, यह मालिश गले के नीचे के ऊपर की और करनी है, 5  मिनट तक यह मालिश करते रहें.
  • तीसरा प्रयोग है हलके गुनगुने नमक पानी से गरारे करना.
  • चौथा प्रयोग है शरीर में मौजूद कफ को निकालना, इसके लिए आप vomitting का सहारा ले सकते हैं, यह आप उचित वैद्य की देख रेख में ही कीजिये.

इसके साथ मे कुछ आयुर्वेदिक औषधियां हैं जो इसमें दी जाती हैं.

कचनार गुग्गुल, पुनर्नवा मंडूर.

इन दोनों दवाओं के अलावा Only Ayurved आपके लिए बेहतरीन दवा लेकर आया है, जिसका इस्तेमाल आपको आजीवन चल रही थाइरोइड की दवा बंद करवा सकता है और वो भी बिना किसी साइड इफ़ेक्ट के. इस दवा का नाम है Thyro booster. तो आइये जाने आज इसके बारे में.

Thyro Booster के फायदे.

Thyro Booster Only Ayurved की एक बेहतरीन दवा है यह ना सिर्फ कम हुए Thyroid Hormone को बढ़ाती है, बल्कि इस से हुए दुष्प्रभाव जैसे मोटापा,  बांझपन, जोड़ों में दर्द, खून की कमी, हृदय रोग, बालों का टूटना, तनाव इत्यादि को भी सही करने की क्षमता रखती है. आपको इसे मात्र 15 दिन से 3 महीने तक सेवन करना है. और आपको मिलने वाले परिणाम आपको आश्चर्यचकित कर सकते हैं.

हाइपो थाइरोइड के कारण हुए मोटापे, बांझपन में रामबाण

Thyro Booster के काम करने का तरीका.

Thyro booster में ऐसी औषधियां मिलायी गयी हैं जो के Thyroid Gland को Stimulate (उत्तेजित) करती हैं, जिससे उसमे thyroid Hormone के निकलने की क्षमता बढ़ जाती है. इसके साथ में यह Thyroid hormone को Active करने में अर्थात T4 को T3 में बदलने में मदद करती है. अगर किसी रोगी को यह आयोडीन की कमी से है तो यह उसको भी पूरा कर देती है. कुल मिलाकर यह शरीर में thyroid Hormone Thyroxin को बढ़ाती है.

[ESR  Test in hindi]

Thyro Booster के घटक.

  • ब्राह्मी
  • अश्वगंधा
  • गुग्गुल
  • जटामांसी
  • पुनर्नवा
  • Bladderwrack
  • चित्रक
  • गुडूची
  • रक्त कचनार
  • त्रिकुटा
  • रास्ना

इन औषधियों के Hypo Thyroid में Direct और Indirect रोल निमिन्लिखित हैं.

  • ब्राह्मी – ब्राह्मी में Cassic Acid होता है जो T4 Hormone की Synthesis में मदद करता है, यही T4 हॉर्मोन Thyroid Hormone की Active Form T3 में Convert हो जाता है और आगे शारीरक कार्य सुचारू हो जाता है.
  • अश्वगंधा – अश्वगंधा में Withaferin पाया जाता है, जो thyroid Gland की Activity में सुधार करता है, और Anti peroxidation को बढाता है, जिस से Thyroid gland में होने वाले किसी भी प्रकार के दुष्प्रभाव से बचाता है. और अश्वगंधा एक बहुत ही अच्छा adoptogen है, जो शरीर के सभी प्रकार के hormone को balance करने की क्षमता रखता है.
  • गुग्गुल – गुग्गुल में Guggulosterone पाया जाता है, जो Hypo thyroid में thyroid ग्रंथि को उत्तेजित करता है.
  • जटामांसी – जटामांसी एक Immuno modulator है. जो शरीर में प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है.
  • पुनर्नवा – पुनर्नवा का thyroid में मुख्य रोल As a diuretic है. Hypo Thyroidism में शरीर में पानी भर जाने के कारण शरीर फूल जाता है जिसको यह पेशाब के जरिये बाहर निकाल कर सूजन कम करने में मदद करता है.
  • Bladder Wrack – Bladder Wrack एक प्रकार का समुद्री शैवाल है जो के Iodine का Rich Source है, इसका सेवन शरीर में Iodine की कमी को दूर करता है. और Hypo Throidism को कण्ट्रोल करने में मदद करता है.
  • चित्रक – चित्रक शोथ, शूल, श्वसनिका शोथ, गण्डमाला (गले में होने वाली गांठे) इत्यादि में बहुत लाभदायक है.
  • गुडूची – गुडूची त्रिदोशामक होने के कारण शरीर में होने वाले किसी भी प्रकार के असंतुलन को संतुलित करती है, यह शरीर में किसी भी प्रकार के संक्रमण से बचाती है.
  • कचनार – कचनार शरीर में किसी भी प्रकार की गाँठ या हो रही extra Growth को कम करती है. यह goitre, Tumor और किसी भी प्रकार की Extra Growth के कारण हुए Hypo Thyroidism को कण्ट्रोल करने में मदद करती है.
  • त्रिकुटा – त्रिकुटा तीन औषधियों का मिश्रण को कहा जाता है, जिसमे सौंठ, कालीमिर्च, और पीपल होता है. सदियों से यह योग मोटापे और थाइरोइड में सफ़लता पूर्वक काम करता है. इसमें पायी जाने वाली औषधियां जैसे रक्त्वह संसथान को उत्तेजित करती हैं, यह शोथहर अवम रक्त शोधक भी है. और Hypo Thyroid के कारण होने वाले मोटापे को भी कम करता है.
  • रास्ना – रास्ना में Boswellic acid पाया जाता है, जो सूजन को कम करने में सहायक है.

Thyro booster का मूल्य – 480 पैकिंग 500 ml

 Thyro Booster दवा लेने की विधि.

सुबह शौच जाने के 15 मिनट बाद खाली पेट 15 ml अथवा चिकित्सक परामर्श अनुसार एक कप पानी में मिलाकर घूँट घूँट कर पीजिये. और इसके सेवन के आधे घंटे तक कुछ भी खाना पीना नहीं है. और शाम को खाने से कम से कम एक घंटा पहले इसी विधि से लीजिये.

[Read – Diet Chart For Thyroid]

Thyro Booster कहाँ से मिलेगा.

बिहार

पटना – 7677551854, 7480099296

छत्तीसगढ़

बिलासपुर – 9584891808, 9926758959, 9300333438

रायपुर – 9644133772

दुर्ग भिलाई – 9691305217

झारखण्ड

मनिका – लातेहार – 9801290105

पश्चिम बंगाल – West Bengal

कोलकाता –  7003386968

असम

सिलचर – 9954000321

महाराष्ट्र

मालेगांव (नासिक) – डॉ. फरीद शेख 9860785490

धुले – 9860704470

नासिक – 9270928077

पुणे – 9209211786

अकोला – 7020579564

वर्धा – 9579997503

नागपुर – 8830998853

शोलापुर – 8308604642

कल्याण – 8454050864

टिटवाला – 9821315415

मलाड – 9967293444

घाटकोपर – 07738350032

बोरीवली – 9004316923

भंडारा – 9422174853

औरंगाबाद – 8208266068

विरार – 9892967369

अमरावती – 9765332255

कर्नाटक – Karnataka

धारवाड़ (Dharwad) – 9844984103

बैंगलोर (Bangalore) – 7019098485

तामिलनाडू

चेन्नई – 9884164854

तेलंगाना

हैदराबाद – 08374457775

गुजरात

अहमदाबाद – 7874559407

अहमदाबाद घाटलोडिया – 9974019763

पालनपुर ( डॉ. हिदायत मेमन )  –  9428371583

द्वारिका – 9033790000

चिकली – 9427869061

अमरेली – 9427888387

अंकलेश्वर – भरूच – 8460090090

बड़ोदा – 9725245318

सूरत –  8866181846

भुज / मुंद्रा  – 9974576143

मध्यप्रदेश

भोपाल – 7987552689

इटारसी – 6260342004

इंदौर – 9713500239

विदिशा – 9131055585

जबलपुर – 9039868554

ग्वालियर – 9229239248

कटनी – 9074901083

उत्तर प्रदेश

मेरठ – 8449471767

हाथरस ( U. P. ) –  9997397043, 7017840020

मथुरा ( वैध रविकांत जी ) – 9259883028

अलीगढ – 9027021056

आगरा – 8923234014

कासगंज – 7409463111

फ़िरोज़ाबाद – 8445222786

मैनपुरी – 8449601801

फ़र्रुख़ाबाद – 9839196374

रायबरेली – 9236038215

वाराणसी – 9125349199

इलाहाबाद ( डॉ.  सी. पी. सिंह ) – 9520303303

गोरखपुर – 9792960999

सिद्धार्थ नगर – 9936404080

महाराजगंज – 9455426806

लखनऊ – 8417856005

दिल्ली –  NCR

सराय कालें खां –  9015439622, 9871490307

सुभाष नगर – 9911006202

गाज़ियाबाद – 9719077555

Greater Noida – 9310299100

गुडगाँव – 9310330050

फ़रीदाबाद – 9315154682

हरियाणा

हिसार – 9518884444

हसनपुर पलवल – 9050272757

पानीपत – 9812126662

बाढ़डा ( चरखी दादरी ) – 9813210584

फ़रीदाबाद – 9315154682

चंडीगढ़ – 9877330702

डबवाली – 9416218182

पंजाब

मोगा – 9988009713

बठिंडा – 9779566697

डबवाली – 9416218182

कोट कपूरा – 9872320227

मलोट – 9878100518

मलेर कोटला – 9872439723

लुधियाणा – 9803772304

जालंधर – 9814832828

अमृतसर – 8872295800

होशियारपुर उड़मुड टांडा – 9803208718

गुरदासपुर – 9815483791

मोहाली – 09216411342

मुकेरियां – 9815296322

चंडीगढ़ – 9877330702

राजस्थान

जयपुर – 8290706173, 8005648255

दौसा – 7737497140

जोधपुर – 8005724956

बीकानेर – 7062169968

अजमेर – 7976779225

सिरोही – 9875238595

उदयपुर – 9875238595

टोंक – 9509392472

अजीतगढ़ – 8005648255

फतेहपुर शेखावाटी – 9636648998

उदयपुर वाटी (झुंझुनू)  डॉ राकेश कुमार – 9351606755

संगरिया – 7597714736

हिमाचल प्रदेश

नालागढ़ – 9816022153

कुल्लू – 8219500630

चिन्तपुरणी – 9816414561

अगर आप Only Ayurved के साथ मिलकर ये काम करना चाहते हैं तो संपर्क कीजिये

उत्तर प्रदेश 7017840020

महाराष्ट्र – 9860758490

मुंबई – 8454050864

गुजरात – 8866141846

बिहार – 7677551854

हरियाणा – 9315154682

पंजाब – 9779566697

मध्य प्रदेश – 7987552689

छत्तीसगढ़ – 9300333438

अन्य राज्यों के लिए संपर्क करें. 7014016190

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status