Friday , 20 September 2019
Home » migraine माइग्रेन » आधासीसी का सरल और तुरंत इलाज – ज़रूर अपना कर बताएं.

आधासीसी का सरल और तुरंत इलाज – ज़रूर अपना कर बताएं.

आधासीसी का सरल और तुरंत इलाज – ज़रूर अपना कर बताएं.

यह रोग बड़ा भयंकर है जो सिर के आधे भाग में हुआ करता है | परमात्मा इस रोग से हर एक को बचाए |

इस रोग से आँख जेसे उतम अंग की भी हानी हो जाती है | दर्द के कारण बिल्कुल चेन नही मिलता है |

कई बार ये रोग नजला और झुकाम के बिगड़ने पर भी होता है | इस रोग के उपचार में बिल्कुल भी देरी न करे |

इसके लिए निचे कुछ आयुर्वेदिक प्रसिद्ध योग (नुस्खे ) लिखे जा रहे है | ये योग अदभुत और अचूक है जो

शीघ्र प्रभाव दिखाने वाले है |

 

1.-विचित्र नस्य –

विधि —

नोसादर की 12 ग्राम की डली लेकर आग पर रखे | जब वह आधी रह जाये तो उतारकर 3 ग्राम लाल गेरू

मिलाकर बारीक़ पीसकर रखे | यथासमय पर काम में लावे | एक से दो रती तक नस्य रूप में |उसी समय

छींक आएगी और  मस्तिष्क से मवाद निकालकर दर्द मिट जायेगा | अनेक बार प्रयोग किया हुआ योग है |

2.- आधासीसी का उपचार –

विघि —

कपड़ा धोने का एक रीठा ले | इसका छिलका लेकर थोड़े पानी में खूब मले | जब पानी झागदार हो जाये

तब थोडा सा गर्म करके दोनों नासिकाओ में थोडा सा टपकाए | तुरंत आराम हो जायेगा |

 

3 .-घ्रत नस्य –

विधि —

भूरी मिर्च जो साधारणतया कालीमिर्च से उपलब्ध होती है ,एक ग्राम ले | बारीक़ पीसकर 3 ग्राम गोघृत

में अच्छी प्रकार घोंट ले और किसी शीशी में रख छोड़े | दोनों समय दो-दो बूंद के लगभग नस्य के

समान सुडक ले | बड़ी प्रभाव दिखाने वाली ओषधि है |

इस ओषधि से भी सिर का दर्द उसी समय कम होकर मिट जाता है |

 

4 .-आधासीसी की स्वादु ओषधि –

इससे कुछ दिन सेवन से बहुत पुराणी आधासीसी नष्ट हो जाती है और पुन होने की कोई आशंका नही रहती |

विधि –

खोया और गुड 50-50 ग्राम | दोनों को खूब कूटकर  रख छोड़ें | सुबह 12 ग्राम की मात्रा 6 ग्राम धनिये के

पानी के साथ दिया करे | 6 ग्राम धनिया को लेकर खूब घोटो और लगभग 250 ग्राम पानी में मिला करके

मीठा बिना मिलाये हुए दे | इससे बहुत पुराने आधासीसी रोग का सर्वनाश हो जाता है |

 

5 .-आधासीसी का विज्ञ उपचार –

विधि –

20 ग्राम उस्तेखददुस खरीदे लावे | समान तोल की इसकी चार पुडिया बना ले | प्रतिदिन सूर्य निकलने

से पहले एक पुडिया जल में घोटकर बिना मीठा मिलाये पी लिया करे | यदि 3 ग्राम धनिया और दो

कालीमिर्च मिला ली जाये तप और भी अच्छा है इसमें संदेह नही की केवल चार दिन में पुराने से पुराना

आधासीसी रोग जड से मिट जायेगा | यह अनेक बार अजमाया हुआ योग है |

 

1.-आधासीसी का अनुभूत उपचार –

विधि —

जमालगोटे के एक बीज को थोडा सा पानी डालकर किसी पत्थर के टुकड़े पर रगड़े और कनपटियो की

तडपती हुई रंगों पर थोडा-थोडा लेप कर दे | ज्यो ही दवा सूखी आराम आया | कई बार दवा से कनपटियो

पर छाले पड़ जाते है | यदि ऐसा हो तो अगले दिन सुई से छेद करके पानी निकाल दे | ईश्वर क्रपा से

जीवन के लिए इस रोग से छुटकारा मिल जायेगा |

 

2.-तूतिया का चमत्कार –

विधि —

आवश्यकतानुसार नीलाथोथा लेकर लोहे के तवे पर रखकर भुन ले | ओषधि तेयार है | आवश्यकता के

समय रोगी का गला कपड़े से घोंटे | तुरंत कनपटी पर एक रग प्रकट होगी | एक रती भुना हुआ

नीलाथोथा इस रग पर रखकर ऊपर से एक बूंद पानी डाल दे | बहुत शीघ्र एक छाला पैदा होगा | उसी

समय आराम हो जायेगा| इसमें पांच-दस मिनट का कष्ट अवश्य है,परन्तु अनुपम योग है |

बनाकर अनुभव करे और प्रकति का चमत्कार देखें |

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status