Sunday , 23 September 2018
Home » Uncategorized » टॉन्सिल, गले में घाव या गला बैठने पर करे ये आसन घरेलु उपचार

टॉन्सिल, गले में घाव या गला बैठने पर करे ये आसन घरेलु उपचार

Tonsil home remedy in hindi

टॉन्सिल्स का इलाज, Tonsils ka ilaj, Tonsils ka gharelu ilaj

जब कभी हमारे गले के अंदर की गांठो में कोई परेशानी होती है तो वो अंदर से सूज कर फूलने लगती है जिस कारण गले में सूजन होती है। टोन्सिल के कारण खाने पीने में भी दिक्कत का सामना करना पड़ता है और ये दर्द बढ़ता ही जाता है। कुछ बोलने में भी दिक्कत होने लगती है। टॉन्सिल्स की समस्या बढ़ जाये और अगर हम डॉक्टर से सलाह करे तो हमे ऑपरेशन की सलाह दी जाती है, पर टॉन्सिल्स का इलाज देसी आयुर्वेदिक और घरेलू नुस्खों से भी किया जा सकता है। ये समस्या अधिकतर छोटे बच्चों में पायी जाती है। आइये जाने की कैसे इस बीमारी से बचा जा सकता है और कौन से घरेलु इलाज टॉन्सिल्स की बीमारी को दूर करने में आपकी मदद करेंगे.

[ ये भी पढ़िए मधुमेह का इलाज , Diabetes ka ilaj, madhumeh ka ilaj ]

टॉन्सिल्स किन कारणों से होता है : Causes of Tonsils in Hindi

टॉन्सिल्स के मुख्य कारणों में संक्रमण (इन्फेक्शन) सबसे बड़ा कारण है। यूं तो टॉन्सिल्स इतनी खतरनाक बीमारी नहीं है, लेकिन अगर इसके इलाज में कोताही बरती जाये तो ये समस्या आपको बहुत परेशान कर सकती है। वक़्त रहते अगर टोन्सिल का उपचार कर लिया जाये तो कुछ ही दिनों में आप इसे छुटकारा पा सकते है, नहीं तो ये बीमारी आपको लंबे समय तक परेशान कर सकती है। टोन्सिल की बीमारी के कुछ और कारण इस तरह है :-

  • जुकाम के कारण
  • पेट की समस्या जैसे गैस या कब्ज
  • ज्यादा तीखी और मसालेदार खाने से
  • पाचन तन्त्र के कमजोर होने के कारण
  • ठंडी और गर्म चीजों को एक साथ खाने से
  • ठंडी चीजे आइस क्रीम और कोल्ड ड्रिंक्स आदि के अधिक सेवन से

Tonsils की बीमारी कभी भी हो सकती है परन्तु जब मौसम बदलता है तो इसका खतरा और बढ़ जाता है।

[ ये भी पढ़िए घुटने के दर्द का इलाज, ghutne ke dard ka ialj ]

टोन्सिल के लक्षण क्या है : Tonsils Symptoms

आइये जाने की क्या है टॉन्सिल्स की बीमारी के लक्षणों की पहचान कैसे करे। इस समस्या के लक्षण इस प्रकार है

  • गले में खराश रहने लगती है।
  • गले में सूजन होने लगती है।
  • कान और गले के निचे दर्द का होना।
  • दर्द के कारण तेज बुखार होने लगता है और शरीर में कमजोरी महसूस होती है।

मौसम के बदलाव के कारण झुकाम गले का बेठना आप बात है कभी कभी टॉन्सिल भी बढ़ जाते है हम आज आप को बताने जा रहे कुछ खास घरेलु उपचार इन सब से बचने के लिए तो आइये जानते है….

गला बैठने, घाव या टॉन्सिल होने पर अपनाये ये आयुर्वेदिक एवं घरेलु लाभकारी नुस्खे

  • यदि टॉन्सिल बढ़ जाएँ तो मेहँदी के पत्ते जलाकर काढ़ा बना ले और उस से और गुनगुने काढ़े से गरारे करने पर तत्काल टॉन्सिल में लाभ होता है.
  • मेथीदाना 2 चम्मच लेकर इसको 2 गिलास पानी में आधा रहने तक धीमी आंच पर पकाएं, इस पानी से दिन में ३ से 4 बार गरारे करें. टॉन्सिल्स में बहुत आराम आएगा. ये प्रयोग ३ से 4 दिन तक करें.
  • मुली के रस में समान मात्र में पानी मिलकर गरारे करें, गले की सुजन और घाव ठीक हो जायेंगे.
  • गले में खराश होने पर सुबह सौंफ चबाएं, से बंद गला भी खुल जाता है
  • आवाज बैठ जाने पर मुली के 5 ग्राम बीज पीस कर गरम पानी से सेवन करें, इस से आवाज खुल जाएगी और गले की खराश भी खत्म हो जाएगी .
  • टॉन्सिल बढ़ जाने पर सफेद नमक, हल्दी और बायविडंग –तीनो को अलग अलग पीसकर शीशियो में भर के रख ले जब तकलीफ ह तो एक गिलास गुनगुने पानी में आधा आधा चम्मच चूर्ण दाल कर घोल बना ले और सुबह शाम गरारे करने से टॉन्सिल बिकुल ठीक हो जायेंगे.
  • टॉन्सिल्स (Tonsils) तथा गलगंड में गाजर का रस प्रतिदिन तीन चार बजे दिन में 125 ग्राम (एक छोटा गिलास) लगातार दो तीन मास तक पियें। यह कॉड लिवर आयल का अच्छा विकल्प है।
  • टॉन्सिल की सूजन में केवल गर्म पानी 200 ग्राम में आधा चम्मच नमक डालकर गरारे करने से आराम आ जाता है। दिन में दो तीन बार नमक के पानी के गरारें करें।
  • गला बैठ जाने पर अकरकरा, कुलंजन और मुलहटी के के टुकड़े मुह में दल कर रखने से बैठा गला खुल जाता है.
  • आंवले का चूरण गाय के कच्चे दूध के साथ लेने से बैठा गला खुल जाता है.
  • गन्ना भुन का चूसने से बैठा हुआ गला खुल जाता है.
  • देसी घी: देसी घी की मालिश गले में करने से टॉन्सिल्स की बीमारी में बहुत लाभ मिलता है
  • लहुसन: गर्म पानी में लहुसन को अच्छी तरह से पीसकर मिला ले। कुछ दिन इस पानी से आप गरारे करे, ऐसा करने से टॉन्सिल्स की परेशानी से छुटकारा मिलता है।

[ ये भी पढ़िए सफ़ेद दाग का इलाज Safed daag ka ilaj ]

  • हर्बल चाय: हर्बल चाय का सेवन टॉन्सिल्स का इलाज में बेहतरीन और प्राकृतिक उपाय है। ये चाय गले में जर्म, बैक्टीरिया और भी अन्य तरह के कीटाणुओ पर असर दिखाती है और और उन्हें खत्म कर देती है। ग्रीन टी, लॉन्ग इलायची और दालचीनी की चाय पिए। ये चाय आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है।
  • चाय की पत्ती और नमक से इलाज: पानी में चाय की पत्ती को अच्छे से उबाल ले फिर उस पानी से गरारे करे। ऐसा करने से गले के दर्द में आराम मिलता है। गर्म पानी में नमक और फिटकरी के मिश्रण को मिलाकर गरारे करने से भी टॉन्सिल्स की समस्या से छुटकारा पाने में मदद मिलती है।
  • सिंघाड़े से : जैसा की हम जानते है की टॉन्सिल्स की बीमारी का मुख्य कारण है आयोडीन की कमी होना। सिंघाड़ा आयोडीन का भरपूर स्त्रोत्र है इस home remedy से टॉन्सिल्स की समस्या में बहुत फायदा होता है ।
  • हल्दी: देसी और घरेलू उपचार में टॉन्सिल्स की बीमारी में गले के दर्द और सूजन में हल्दी एक बेहतरीन उपाय है। एक चमच्च हल्दी पाउडर और गोलकी (काली मिर्च) के पाउडर के आधे चम्मच को गर्म दूध के गिलास में मिलाकर सोने से पहले इसका सेवन करे ।
  • एक कपडा ले और उसकी पोटली बनाये फिर इस पोटली को तवे पर थोड़ा गर्म करे। इसके बाद इससे गले पर सेंक करे। ऐसा करने से गले के दर्द की समस्या कम हो जाती है।
  • नींबू और शहद: दो चम्मच शहद और आधे निम्बू को गर्म पानी के गिलास में मिलाकर सेवन करने से टॉन्सिल की परेशानी में आराम मिलता है। इसका सेवन दो से तीन बार करे। इसे गले के दर्द और सूजन में बहुत राहत मिलती है ।
  • सौंठ: गर्म पानी में सौंठ को अच्छी तरह से मिलाकर पिने से tonsil की बीमारी में जल्द ही राहत मिलती है।
  • अंजीर :अंजीर को पानी में उबालकर पीस ले है फिर इसका पेस्ट बनाकर गले पर मालिश करे है। इससे भी काफी हद तक टॉन्सिल्स की परेशानी दूर होती है।

[ ये भी पढ़िए bawasir ka ilaj बवासीर का इलाज ]

टॉन्सिल्स में क्या खाने से परहेज करे

  • ठंडी चीजों के सेवन से दूर रहे।
  • कोल्ड ड्रिंक आदि का सेवन न करे।
  • दूध, दही और मलाई का उपयोग न करे।
  • चटपटे मसालेदार और तले हुए भोजन का परहेज रखे।
  • शराब और नशीली चीजों का सेवन बिलकुल बन्द कर दे।
  • सर्दी और जुकाम के रोगियो से थोड़ा दूर रहने की कोशिश करे।
  • सिगरेट आदि भी पीने से बचे इससे इन्फेक्शन का खतरा बना रहता है।
  • खाना खाते समय हाथों की सफाई का विशेष ध्यान रखे और खाना खाने के बाद भी हाथ को अच्छे से धोये।

आशा करते हैं के हमारे द्वारा दी गयी जानकारी से आप अपना घर पर प्राकृतिक तरीके से इलाज कर सकेंगे. अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगे तो शेयर ज़रूर कीजियेगा.

One comment

  1. टॉन्सिल्स का उपचार, टॉन्सिल का होम्योपैथिक इलाज, टांसिल का घरेलू इलाज, टॉन्सिल्स की समस्या, टांसिल रोग का घरेलू उपचार, टॉन्सिल का इलाज, टॉन्सिल दूर करने के उपाय, टॉन्सिल का ऑपरेशन

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status